05 सितंबर: एक क्लिक में पढ़ें दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 05 Sep 2018 04:52:50 PM
Today's top 10 news

2019 लोकसभा चुनाव:टीएमसी, बीजेपी सोशल मीडिया पर सक्रियता बढ़ाएंगे

2019 Lok Sabha elections: TMC, BJP will increase activism on social media

कोलकाता। अगले साल प्रस्तावित लोकसभा चुनावों के मद्देनजर पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और विपक्षी बीजेपी ने आईटी सेल का पुनर्गठन कर सोशल मीडिया पर मौजूदगी बढ़ाने का फैसला किया है।

दोनों पार्टियां गत कुछ वर्षों से एक दूसरे पर निशाना साधती रही है और अब इस जंग को सोशल मीडिया तक ले जाने की योजना है। पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीटें हैं जिनमें से टीएमसी के पास 34 और बीजेपी के पास केवल 2 सीटें है।

बीजेपी के प्रमुख अमित शाह का लक्ष्य 22 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करना है और पार्टी को उम्मीद है कि सोशल मीडिया इसमें अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। टीएमसी गत कुछ माह से पार्टी की युवा इकाई के अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के नेतृत्व में पार्टी की डिजिटल सेल को मजबूत करने में लगी है।

टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरक ओ ब्रायन और अभिषेक बनर्जी ट्विटर और फ़ेसबुक जैसे सोशल मीडिया के मंचों पर सक्रिय है और डिजिटल क्षेत्र में भाजपा का सामना कर रहे है। पार्टी की नजरूल मंच पर 10 सितम्बर को एक डिजिटल कॉनक्लेव आयोजित करने की तैयारी है जहां अभिषेक बनर्जी आईटी सेल के सदस्यों, मंत्रियों और युवा कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

टीएमसी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इस कॉनक्लेव के दौरान मंत्रियों को लोगों के साथ सीधे जुड़ने के लिए ट्विटर और फ़ेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों पर और अधिक सक्रिय होने के निर्देश दिए जाएंगे। बीजेपी के ज्यादातर मंत्री सोशल मीडिया पर सक्रिय है लेकिन उनकी तुलना में हमारे कुछ ही मंत्री और पार्टी नेता सोशल मीडिया पर सक्रिय है। यह संख्या बढ़ानी होगी।

पार्टी ने राज्य के 42 लोकसभा क्षेत्रों में लोगों तक पहुंच बनाने के लिए 40 हजार से अधिक युवाओं को सोशल मीडिया के इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षित करने का निर्णय लिया गया है। पार्टी का लक्ष्य 1० हजार व्हाट्सएप ग्रुप बनाना है जिसमें प्रत्येक में 256 सदस्य होंगे जो राज्य सरकार के विकास कार्यों और केन्द्र की बीजेपी सरकार की ''जन विरोधी’’ नीतियों के बारे में लोगों को जागरूक करेंगे।

टीएमसी के मीडिया प्रकोष्ठ के संयुक्त संयोजक दीप्तांशु चौधरी ने 'पीटीआई-भाषा’ को बताया कि पार्टी न केवल ट्विटर, फ़ेसबुक और व्हाट्सएप का इस्तेमाल करने वालों की संख्या बढ़ाने पर नजर रख रही है बल्कि मैसेंजर, माइक्रोब्लागिग साइट, ई-मेल और इंस्टाग्राम जैसे मंचों पर भी संख्या बढ़ाना चाहती है।

टीएमसी द्बारा सोशल मीडिया पर सक्रियता बढ़ाने के प्रयास किए जाने के साथ ही पश्चिम बंगाल भाजपा इकाई भी इसमें पीछे नहीं रहना चाहती है। बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने इस वर्ष जून में अपनी यात्रा के दौरान क्षेत्रों में जाने के साथ ही सोशल मीडिया के जरिये लोगों तक अपनी पहुंच बनाने के लिए एक रणनीति तैयार की थी।

शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि वे राज्य में टीएमसी सरकार का मुकाबला करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल एक उपकरण की तरह करे और मोदी सरकार की जन समर्थक नीतियों का प्रचार करें।

बीजेपी की आईटी, वेबसाइट और सोशल मीडिया प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रभारी अमित मालवीय ने 'पीटीआई’ से कहा कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की ''तुष्टिकरण की नीतियों’’ और ''भारी कुशासन’’ के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए सोशल मीडिया का प्रभावशाली ढंग से यूज करेगी।

उन्होंने कहा कि पार्टी की योजना है कि सोशल मीडिया मंचों पर टीएमसी सरकार की विफलताओं और भाजपा की जन समर्थक नीतियों को प्रचारित किया जाए। राज्य भाजपा के महासचिव सायंतन बसु ने कहा कि पार्टी राज्य के प्रत्येक बूथ में फ़ेसबुक पृष्ठों और व्हाट्सएप समूहों को बनाने की प्रक्रिया में है। उन्होंने 'पीटीआई’ से कहा कि फेसबुक पृष्ठ और व्हाट्सएप समूहों को बनाने का काम पहले ही शुरू हो चुका है। हमें उम्मीद है कि यह काम जल्द ही समाप्त हो जाएगा।

राहुल की अमेठी में मुस्लिमों ने प्रधानमंत्री आवास लेने से किया इंकार

Rahul's refusal to accept PM's residence in Amethi

अमेठी। प्रधानमंत्री आवास योजना को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र में झटका लगा है। जिले में जायस कस्बे के सैदाना में करीब 12 मुस्लिम परिवारों ने वित्तीय मदद के एक मुश्त भुगतान की शर्त पर प्रधानमंत्री आवास लेने से मना कर दिया है। लाभार्थियों का कहना है कि आवास के निर्माण के लिए मिलने वाली रकम का भुगतान एक मुश्त होने पर ही वे योजना का लाभ लेने को तैयार है। उनका यह भी आरोप है कि शौचालय निर्माण के लिए मिलने वाली सरकारी मदद का उन्हे अब तक एक रूपया भी नहीं दिया गया। 

लाभार्थी मोजिज मेंहदी ने कहा कहा हम आवास लेना चाहते हैं। इसके लिए 50 हजार रुपए मिला है, लेकिन उसको खर्च नहीं कर सकते हैं। अगर उसमें से 10 हजार रुपए भी खर्च कर देंगे तो हमारे बच्चे भूखे मर जाएंगे। हम कल कमरा बनवा दें, बस पूरी किश्त एक साथ मिले। साल भर पहले शौचालय बनवाया लेकिन आज तक उसका भुगतान नही हुआ। 

एक अन्य लाभार्थी खुशनुमा नकवी ने बताया मेरे पास कोई आमदनी नहीं है इसलिए आवास नहीं बना पा रहें हैं। हमारे यहां एक दीवार और एक कमरे की जरूरत है, अगर बन जाएगा तो ठीक है नहीं तो कोई बात नहीं है। हमें कोई उधार पैसे देगा भी नहीं और हम किससे उधार लेंगे। हम उधार से घबराते हैं, कर्जदार घर आकर घेरेंगे तो हम कैसे रुपए ले लें। वह कहती हैं कि पति ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और डीएम को पत्र लिखा है ताकि हमें पैसा एक साथ मिल जाए। 

इस बारे में स्थानीय सभासद पति सैयद सादिक मेंहदी पे कहा कि ये बात तो फार्म में ही दर्ज है। बीस फीसदी की पहली किस्त 50 हजार की मिलेगी, फाउंडेशन तैयार होने के बाद दूसरी किस्त डेढ़ लाख की मिलेगी। और फिर स्लेप के लिए तीसरी किस्त का 50 हजार रूपए दिया जाना तय है। शौचालय निर्माण का आज तक भुगतान न होने के संदर्भ में उन्होंंने कहा कि हां साल भर हो गए हैं भुगतान नही हुआ। इसकी वजह ये है कि लाभार्थी मुस्लिम हैं, और चेयरमैन केवल सोनकर समाज का ही भुगतान करेगें।

इस बाबत जायस नगर पालिका के चेयरमैन महेश सोनकर ने कहा हमें जानकारी हुई तो हम लाभार्थी के घर गए उन्हें समझाया। लेकिन वो सभी एक मुश्त ढाई लाख रूपए मिलने के बाद ही निर्माण की बात कह रहे। जबकि हम इन लोगों के पास दो बार गए। शौचालय निर्माण में आज तक भुगतान नही होने की बात को उन्होंंने नकार दिया है। 

'नेहरू के दंत चिकित्सक के बेटे हैं पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति अलवी’

Nehru son of dentist is Pakistan new President Alvi

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अलवी का भारत के साथ एक दिलचस्प संबंध है। सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने बताया है कि अलवी के पिता भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के दंत चिकित्सक थे।

अलवी (69) पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी सहयोगी हैं और पीटीआई के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं। उन्हें मंगलवार को पाकिस्तान का राष्ट्रपति चुना गया। पूर्व दंत चिकित्सक अलवी ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार ऐतजाज अहसन और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के उम्मीदवार मौलाना फजल उर रहमान को त्रिकोणीय मुकाबले में मात दी और देश के 13 वें राष्ट्रपति चुने गए।

नेहरू के दंत चिकित्सक का बेटा होने के अलावा अलवी का भारत से और भी संबंध है। वह एक और ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनका परिवार विभाजन के बाद भारत से पाकिस्तान गया था। उनके पूर्ववती ममनून हुसैन का परिवार आगरा से यहां आया था जबकि परवेज मुशर्रफ के माता-पिता नयी दिल्ली से यहां आए थे।

सत्तारूढ़ पीटीआई की वेबसाइट पर नए राष्ट्रपति की लघु जीवनी मौजूद है जिसमें बताया गया है कि अलवी के पिता डॉ. हबीब उर रहमान इलाही अलवी विभाजन से पहले तक नेहरू के दंत चिकित्सक थे।

वेबसाइट के अनुसार  डॉ. इलाही अलवी जवाहरलाल नेहरू के दंत चिकित्सक थे और परिवार के पास डॉ. अलवी को लिखे नेहरू के पत्र हैं। डॉ. आरिफ उर रहमान अलवी का जन्म कराची में वर्ष 1949 में हुआ था जहां उनके पिता विभाजन के बाद बसे थे।

ट्रम्प की इस माह के अंत में ईरान पर सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की योजना : हेली

Planning to convene a meeting of Security Council on Iran at the end of this month of Trump: Heli

संयुक्त राष्ट्र। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की इस महीने के अंत में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की योजना है। इसमें ईरान के अंतरराष्ट्रीय कानूनों का कथित तौर पर उल्लंघन करने पर चर्चा होगी। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निकी हेली ने यह जानकारी दी। हेली सितंबर माह के लिए सुरक्षा परिषद की अध्यक्ष बनीं। उन्होंने मंगलवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि ट्रम्प 26 सितंबर को ईरान के मुद्दे पर 15 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाना चाहते हैं।

अमेरिका ने मई में ईरान के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौते से खुद को अलग कर लिया था। उसका कहना था कि यह समझौता ईरान पर अपने परमाणु हथियारों और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को रोकने के लिए पर्याप्त दबाव डालने में नाकाम रहा। वाशिंगटन ने 7 अगस्त को ईरान पर कठोर और एकतरफा प्रतिबंध लगाकर और उसके तेल निर्यात को रोकने के लिए 5 नवंबर की समय सीमा तय करके तेहरान पर एकबार फिर से अंतरराष्ट्रीय दबाव बनाने की कोशिश की है।

हेली ने कहा कि ’’वह (ट्रम्प) ईरान के अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन करने और समूचे पश्चिम एशिया में ईरान जो सामान्य अस्थिरता के बीज बो रहा है उसका निराकरण करने के लिए बैठक बुलाना चाहते हैं। हेली ने सुरक्षा परिषद के इस महीने के काम के कार्यक्रम के बारे में संवाददाताओं को बताया। ईरान के संबंध में बैठक के बारे में उन्होंने कहा कि तेहरान को यह संदेश है कि आतंकवाद का समर्थन करने, बैलिस्टिक मिसाइलों का प्रक्षेपण करने या हथियार बेचने के उसके कृत्यों को दुनिया देख रही है।

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी स्थायी प्रतिनिधि ने कहा कि परिषद की अमेरिकी अध्यक्षता का एक और आकर्षण शांति मिशन को अधिक प्रभावी, कुशल और उत्तरदायी बनाने के प्रयासों को अद्यतन करना होगा। उन्होंने कहा कि 12 सितंबर को शांति मिशन पर बहस के माध्यम से अमेरिका का ध्यान यौन शोषण और दुर्व्यवहार को खत्म करने सहित शांति मिशन के प्रदर्शन में सुधार करने पर होगा।

राठौड़ बोले, ओलंपिक खेलों की उलटी गिनती शुरू

Rathore says, the countdown to the Olympic Games begins

नई दिल्ली। खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने मंगलवार को कहा कि एशियाई खेलों में इंडिया के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बाद देश के खिलाड़ियों के लिए 2020 के ओलंपिक खेलों की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। एशियाई खेलों में भारत के प्रदर्शन से उत्साहित राठौर ने पदक विजेताओं को बधाईं देते हूए कहा कि उनका असली सफर अब शुरू होगा।

राठौड़ ने पदक विजेताओं को नकद पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए आयोजित किए गए कार्यक्रम में कहा कि आप ने अपनी उपलब्धि से पूरे देश को गौरवान्वित किया हैं। आप ने जो जज्बा दिखाया है, हम उसे सलाम करते है लेकिन आपका सफर अभी पूरा नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि ओलंपिक (2020 तोक्यो) की उलटी गिनती शुरू हो गई है। आप इससे (एशियाई खेलों में पदक) संतुष्ठ नहीं हो सकते है। आपको हमेशा आगे के बारे में सोचना होगा।खेल मंत्री ने कहा कि पदक विजेता अब दूत बन गए है और उनका काम समाज तक सकारात्मक संदेश पहुंचाना होगा।

राठौड़ ने कहा कि आप अपने खेल के, अपने राज्य के और देश के युवाओं के दूत बन गए है। इसलिए आपका संदेश हमेशा सकारात्मक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर किसी को परेशानियां होती है, हर किसी को चुनौतियों से निपटना होता है लेकिन आपका लक्ष्य कभी हार नहीं मानने का होना चाहिए। कभी हारा हुआ महसूस ना करें।

यह ही वह चीज है जो आपको चैंपियन बनाती है। राठौड़ ने कहा कि एशियाई खेलों में सफलता टीमवर्क का नतीजा है। उन्होंने कहा कि इन खेलों में सफलता सरकार, आईओए, महासंघों, खिलाड़ियों और कोचों की टीम वर्क का नतीजा है। ये पदक पूरे देश के हैं। 

एशिया कप के लिए पाकिस्तान टीम की हुई घोषणा, इस दिग्गज खिलाड़ी को किया बाहर

Pakistan team announcement for Asia Cup

लाहौर। पाकिस्तान ने अगले सप्ताह दुबई और अबु धाबी में खेले जाने वाले एशिया कप के लिए मंगलवार को 16 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी है जिसमें हरफनमौला खिलाड़ियों मोहम्मद हाफीज और इमाद वसिम को जगह नहीं मिली हैं। 

मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक ने बताया कि बायें हाथ के सलामी बल्लेबाज शान मसूद को पहली बार एकदिवसीय टीम में चुना गया है। उसने दो घरेलू एकदिवसीय टूर्नामेंटों में 1200 से ज्यादा रन बनाये हैं। 28 साल के इस खिलाड़ी ने 12 टेस्ट मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया है। सरफराज अहमद की कप्तानी में टीम 16 सितंबर को क्वालीफायर के खिलाफ अपने अभियान की शुरूआत करेगी। इसके तीन दिन बाद उनका मुकाबला चिर प्रतिद्वंद्वी भारत से होगा। 

इंजमाम ने कहा, कि हमने खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट लिया और इस पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा। फिटनेस की कमी के कारण हाफीज और इमाद को टीम में जगह नहीं मिली है। आपको बता दें कि इससे पहले अफगानिस्तान और देश अपने टीमें घोषणा कर चुके है। जिसमें कई दिग्गज खिलाड़ियों को टीम जगह नहीं मिली है। 

पाकिस्तान टीम एशिया कप के लिए : सरफराज अहमद (कप्तान), फखर जमां, इमाम-उल-हक, शान मसूद, बाबर आजम, शोएब मलिक, असिफ अली, हारिस सोहेल, शादाब खान, मोहम्मद नवाज, फहीम अशरफ, हसन अली, मोहम्मद आमीर, जुनैद खान, उस्मान खान शिनवारी और शाहीन शाह अफरीदी। 

सेंसेक्स में 140 अंक और निफ्टी 43 अंकों की गिरावट के साथ बंद

Sensex down 140 points and Nifty closes 43 points down

मुम्बई। डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा के रिकॉर्ड निचले स्तर तक का गोता लगाने और दुनिया भर के बाजारों से मिली गिरावट की खबरों से हतोत्साहित निवेशकों की बिकवाली लगातार छठे दिन बुधवार को भी घरेलू शेयर बाजार पर हावी रही। बिकवाली के दबाव में बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 139.61 अंक फिसलकर 38,018.31 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 43.35 अंक टूटकर 11,476.95 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स मामूली बढ़त के साथ 38,192.95 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 38,250.61 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। कारोबार के दौरान यह 38 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से लुढक़कर 37,764.42 अंक के दिवस के निचले स्तर तक गया। वैश्विक व्यापार युद्ध की चिंताओं ने विदेशी बाजारों के साथ घरेलू निवेशकों की धारणा भी कमजोर कर दी। अन्य एशियाई देशों के मुद्राओं के तर्ज पर भारतीय मुद्रा की गिरावट भी बाजार पर हावी रही।

कारोबार के दौरान रुपया 71.96 रुपए प्रति डॉलर के निचले स्तर तक लुढक़ा। सेंसेक्स अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.37 प्रतिशत की गिरावट में 38,018.31 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियां हरे निशान में और शेष 15 लाल निशान में रहीं। निफ्टी का ग्राफ सेंसेक्स के विपरीत रहा। यह गिरावट के साथ 11,514.85 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 11,542.65 अंक के दिवस के उच्चतम और 11,393.85 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.38 प्रतिशत की गिरावट में 11,476.95 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 25 कंपनियां तेजी में और 25 गिरावट में रहीं। दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा मंझोली और छोटी कंपनियों में अधिक बिकवाली हुई। बीएसई का मिडकैप 0.61 प्रतिशत यानी 99.89 अंक लुढक़कर 16,267.40 अंक पर और स्मॉलकैप 0.52 प्रतिशत यानी 87.30 अंक की गिरावट में 16,727.76 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,930 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 170 कंपनियों के शेयर अपरिवर्तित रहे जबकि 1,791 कंपनियों में गिरावट और 1,040 कंपनियों में तेजी रही।

2 माह के उच्चतम स्तर पर पहुंचा सोना, चांदी 250 रुपए लुढकी 

Gold, silver fetch Rs 250 to hit highest level of 2 months

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर दोनों कीमती धातुओं में मिश्रित रुख रहने के बीच स्थानीय स्तर पर खुदर जेवराती मांग में सुधार से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना बुधवार को 200 रुपए चमककर 2 माह के उच्चतम स्तर 31,400 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया।

हालांकि, इस दौरान औद्योगिक मांग कमजोर पड़ने से चाँदी 250 रुपए फिसलकर 37,600 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। विश्लेषकों ने बताया कि त्योहारी सीजन से पहले स्थानीय बाजार में खुदरा जेवराती माँग ठीक है। वैश्विक स्तर पर पीली धातु की कीमत पर दो विपरीत कारकों का असर है।

एक तरफ दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर के मजबूत होने से पीली धातु पर दबाव बना हुआ है तो दूसरी तरफ वैश्विक व्यापार युद्ध की चिता से निवेशकों की दिलचस्पी सुरक्षित निवेश में बनी हुई है। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में लंदन का सोना हाजिर 1.95 डॉलर चमककर 1,193.50 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया।

दिसंबर का अमेरिकी सोना वायदा हालांकि 0.5 डॉलर की गिरावट में 1,198.6० डॉलर प्रति औंस बोला गया। इस दौरान चाँदी 14.13 डॉलर प्रति औंस टिकी रही। स्थानीय जेवराती मांग आने से सोना 200 रुपए की बढत में 7 जुलाई के बाद के उच्चतम स्तर 31,400 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया।

सोना बिटुर भी इतना ही चढकर 31,250 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। आठ ग्राम वाली गिन्नी हालांकि 24,500 रुपए पर टिकी रही। चाँदी हाजिर 250 रुपए फिसलकर 37,650 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई।

चाँदी वायदा में 470 रुपए की तेज गिरावट देखी गई और यह 36,300 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। सिक्का लिवाली और बिकवाली क्रमश: 72,000 रुपए और 73,000 रुपए प्रति सैंकड़ा पर पड़े रहे।

रीमिक्स गानों पर लता ने जताई नाराजगी, इस पाकिस्तानी सिंगर पर फूटा गुस्सा

Lata expressed resentment on remix songs

मुंबई। आजकल रिमिक्स गानों का ट्रेंड काफी जोर पकड़ रहा है। खास तौर पर पुराने गानों को नए अंदाज में पेश किया जा रहा है। ये गानें आजकल की युवा पीढ़ी को काफी पसंद आ रहे हैं। लेकिन इन गानों से स्वर कोकिला नाराज हो रही है। जी हां बॉलीवुड की जानी मानी पाश्र्वगायिका और स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने रीमिक्स गानों के प्रति अपनी नाराजगी जताई है। बॉलीवुड में काफी समय से हिंदी सिनेमा के सदाबहार पुराने गीतों को रीमिक्स के रूप में पेश किया जाता रहा है।

लता मंगेशकर हमेशा पुराने गीतों के रीमेक को लेकर विरोध में रही हैं। इस बार लता मंगेशकर का गुस्सा पाकिस्तानी सिंगर आतिफ असलम पर फूटा है। जैकी भगनानी और कृतिका कामरा स्टारर फिल्म मित्रों में मीना कुमारी की फिल्म पाकीजा का गाना चलते चलते को रीमेक करके पेश किया जा रहा है। पाकीजा फिल्म के इस गीत को आवाज स्वर कोकिला लगा मंगेशकर ने दी थी।

जब लता से इस बारे में पूछा गया कि आतिफ असलम की आवाज में गीत कैसा लगा तो वे नाराज हो गई। लता मंगेश्कर ने कहा कि उन्होंने न तो यह गाना सुना है और न ही वे सुनना चाहती हैं। इन दिनों फिल्मों में पुराने गीतों के रीमेक्स को लेकर वे दु:खी हो जाती हैं। उन्होंने कहा , आजकल जो गाने रीमिक्स किए जा रहे हैं उनमें सादगी कहा है, कलाकारी कहा है। यह किससे पूछकर रीमिक्स बनाए जाते हैं। ओरिजिनल गाना जो बना था वो कंपोजर और गीतकारों की कलाकारी है और किसी को इसे बदलने का अधिकार नहीं है।

भंसाली के साथ फिर काम करेंगे सलमान

Salman will work with Bhansali again

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान एक बार फिर से संजय लीला भंसाली की फिल्म में काम करने जा रहे हैं। सलमान खान ने भंसाली के साथ‘हम दिल दे चुके सनम खामोशी और सांवरिया जैसी फिल्मों में काम किया है।

भंसाली एक बार फिर सलमान को लेकर फिल्म बनाने जा रहे हैं। फिल्म का नाम‘इंशा अल्लाह’होगा। सलमान से जब पूछा गया कि क्या वह भंसाली की फिल्म का हिस्सा बन रहे हैं, तो सलमान ने कहा कि हां वह संजय लीला भंसाली के साथ काम कर रहे हैं लेकिन ये सच है कि अभी तक भंसाली ने मुझे स्क्रिप्ट नहीं सुनाई है। 

सलमान ने कहा कि उन्होंने दो हफ्ते पहले भंसाली को फोन किया था लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। मैं उनकी फिल्म में काम कर रहा हूं। चर्चा है कि भंसाली की इस फिल्म में सलमान खान के साथ दीपिका पादुकोण को कास्ट किया जा सकता है। भंसाली अगले साल इस फिल्म की शूभटग शुरू कर देंगे।



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.