19 अगस्त: एक क्लिक में पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Sunday, 19 Aug 2018 05:13:49 PM
today's top ten news

गंगा में विलीन हुए पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी, अस्थियां विसर्जित करते हुए भावुक हुई बेटी

Former Prime Minister Vajpayee's bones immersed in the Ganges

हरिद्वार। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां उन्हें अंतिम विदाई देने उमड़े भारी जनसैलाब के 'अटल बिहारी अमर रहें' और 'वंदे मातरम' के गगनभेदी नारों के बीच उनके परिजनों द्वारा आज यहां गंगा नदी में विसर्जित कर दी गयीं। 

दिवंगत नेता की अस्थियों का कलश लेकर उनकी पुत्री नमिता, दामाद रंजन भट्टाचार्य और नातिन निहारिका यहां हर की पैड़ी पर स्थित ब्रह्मकुंड पहुंचे जहां उन्होंने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच विधिवत उनकी अस्थियों को गंगा नदी में प्रवाहित किया। अस्थि कलश विसर्जन संस्कार तीर्थपुरोहित पंडित अखिलेश शास्त्री और उनके सहयोगियों ने संपन्न कराया। अस्थि विसर्जन के बाद नमिता हाथ जोड़कर नम आंखों से काफी देर तक गंगा की लहरों को देखती रहीं और उन्हें रंजन भट्टाचार्य ने संभाला। 

इस दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट तथा हरिद्वार से भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद रहे। अपने प्रिय नेता वाजपेयी के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम का साक्षी बनने और उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए हर की पैड़ी पर खास लोगों के साथ ही आम लोगों का भी सैलाब उमड़ पड़ा। 

इससे पहले, वाजपेयी के अस्थि अवशेष फूलों से सजे सेना के वाहन में रखकर भल्ला कालेज मैदान से हर की पैड़ी तक लाये गये। इस वाहन पर एक ओर भाजपा अध्यक्ष शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, हरिद्वार से भाजपा सांसद रमेश पोखरियाल निशंक थे और दूसरी तरफ वाजपेयी के परिजन और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह थे। 

प्रदेश के रावत मंत्रिमंडल के सदस्य और भाजपा के अन्य बड़े नेता एक अन्य वाहन में सवार हुए। देवपुरा, रेलवे रोड, शिव मूर्ति, अपर रोड होती हुई हर की पैड़ी पहुंची करीब दो- ढाई किलोमीटर की यात्रा में सड़क के दोनों तरफ हजारों की संख्या में मौजूद लोग अपने प्रिय नेता के अस्थि कलश पर लगातार पुष्पवर्षा करते रहे। सड़क के किनारे स्थित मकानों की छतों और इमारतों पर भी लोग अस्थिकलश यात्रा को देखने के लिए घंटों चिलचिलाती धूप में खड़े रहे। रास्ते भर 'अटल बिहारी अमर रहें' 'जब तक सूरज चांद रहेगा, अटलजी का नाम रहेगा' के नारे गूंजते रहे।

दिवंगत नेता के अस्थि विसर्जन से पहले हर की पैड़ी पर बने एक विशेष मंच पर उनके अस्थि कलश पर उनके परिजनों के अलावा भाजपा अध्यक्ष शाह, केंद्रीय गृह मंत्री सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फूल चढ़ाकर उन्हें अपनी अंतिम श्रद्धांजलि दी। इससे पहले, पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण और परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश के संत चिदानंद मुनि ने भल्ला कालेज मैदान में अस्थि कलश पर पुष्प चढ़ाकर अपनी श्रद्धांजलि दी। 

हांलांकि, दिवंगत नेता की अस्थि कलश यात्रा शुरू करने के स्थान को लेकर प्रदेश के दो कद्दावर मंत्रियो- पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और नगर विकास मंत्री मदन कौशिक- के बीच कुछ खींचतान हुई। सतपाल महाराज जहां अपने प्रेमनगर आश्रम से यात्रा की शुरूआत करना चाहते थे वहीं कौशिक शांतिकुंज से इसे शुरू करने पर जोर दे रहे थे। बहरहाल, बीच का रास्ता निकालते हुए पार्टी ने भल्ला कालेज मैदान से यात्रा शुरू करने का निर्णय लिया।

पाकिस्तान यात्रा को लेकर सिद्धू का भाजपा पर जुवाबी हमला

Sidhu counter attack on BJP for journey to Pakistan

नर्ई दिल्ली। क्रिकेटर से राजनेता बने एवं पंजाब में कांग्रेस सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की टिप्पणियों को लेकर जवाबी हमला बोला है। नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि वह खान साहब को पिछले 35 वर्षों से जानते हैं और उनकी दोस्ती के निमंत्रण पर उनके शपथग्रहण समारोह में शामिल हुए। उन्होंने कहा, जो लोग मेरी निंदा करते हैं वो लंबी जिंदगी जियें। जरुरी नहीं है मैं भी ऐसा ही बोलूं।

उन्होंने कहा कि, हम रोज ही खेल के मैदान पर बातचीत करते रहे हैं। हमने एक दूसरे के साथ मिलकर कमेंटरी भी की है। यह एक दोस्ती का तकाजा था और इसे संकीर्ण नजरिये से नहीं देखा जाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि भाजपा ने पाकिस्तान के नव निर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान तथा पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने की आलोचना की है।

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने शनिवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि यह कोई साधारण बात नहीं है। नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस के जानेमाने नेता हैं और वह पंजाब सरकार में मंत्री हैं।

उन्होंने कहा कि वह जानना चाहते हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान जाने के लिए क्या कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अनुमति ली थी और अगर ली थी तो कब ली थी। यदि ऐसी अनुमति नहीं ली गई थी तो कांग्रेस नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ क्या कार्रवाई करेगी। उन्होंने सवाल उठाया कि अनेक भारतीयों की मौत के लिए जिम्मेदार जनरल बाजवा को गले लगाना क्या न्यायोचित है।

दुनियाभर के 20 लाख से ज्यादा मुसलमानों ने सालाना हज यात्रा शुरू की

More than 20 million Muslims worldwide started Hajj pilgrimage

​​​​​​​मक्का। भारत समेत दुनिया भर के 20 लाख से ज्यादा मुसलमानों ने सऊदी अरब के मक्का में मुकद्दस काबा के तवाफ के साथ आज सालाना हज यात्रा शुरू की। काबा अल्लाह के घर और वहदत (एक खुदा) का एक रूपक है। इसी लिए मुसलमान काबा की ओर मुंह करके दिन में पांचों वक्त की नमाज अदा करते हैं। सऊदी अरब में हज के दौरान दुनिया भर से मुसलमान आते हैं। जिदंगी में एक बार हज करना माली और जिस्मानी तौर पर सक्षम मुसलमान के लिए जरूरी है।

हज मुसलमानों को अल्लाह से नजदीकतर होने का अहसास कराता है। इस बार का हज ऐसे वक्त में शुरू हो रहा है जब मुस्लिम जगत पश्चिम एशिया में भहसा के खतरे, चरमपंथ और म्यांमा में रोहिंग्या मुसलमानों के संकट समेत कई चुनौतियों का सामना कर रहा है। मिस्र से आए हज यात्री एस्साम-एद्दीन अफीफी ने कहा, '' अल्लाह का बहुत बहुत करम है कि हम इस जगह पर हैं। हम अल्लाह से दुआ करते हैं कि पश्चिम से पूर्व तक के इस्लामी राष्ट्रों के हालात बेहतर बनाए।"

उन्होंने कहा, '' हम दुआ करते हैं कि इस्लामी मुल्क अपने दुश्मनों पर फतह हासिल करें।" मुसलमानों का मानना है कि हज करना, पैगंबर मोहम्मद और साथ ही पैगंबर इब्राहीम और पैगंबर इस्माईल (बाइबल में अब्राहम और इश्माइल) का अनुसरण है। मुसलमानों का विश्वास है कि अल्लाह ने पैगंबर इब्राहीम को अपने बेटे इस्माईल की कुर्बानी का हुक्म दिया था लेकिन जब वह उनकी कुर्बानी देने जा रहे थे तब उनका हाथ रोक दिया था।

इस बारे में ईसाइयों और यहूदियों का मानना है कि पैगंबर इब्राहीम को अपने दूसरे बेटे पैगंबर इसहाक की कुर्बानी देने का हुक्म दिया था। मक्का जाने से पहले बहुत से हज यात्री मदीना जाते हैं कि जहां पर इस्लाम के आखिरी पैगंबर मोहम्मद का रौजा-ए-मुबारक (कब्र) है।

उन्होंने मदीना में ही पहली मस्जिद बनाई थी। मक्का में इबादत करने के बाद हज यात्री कल अराफात की पहाड़ी पर जाएंगे जहां पैगंबर मोहम्मद ने अपना आखिरी खुतबा (प्रवचन) दिया था। इसके बाद हाजी मुजदलिफा नाम के इलाके में जाएंगे और शैतान को प्रतीकात्मक तौर पर पत्थर मारने के लिए रास्ते में से कंकडिय़ां इकट्ठा करेंगे। हज के समापन पर पुरुष हाजी अपना सर मुंडवाएंगे जबकि महिला हाजी अपने थोड़े से बाल कटवाएंगी। दुनियाभर में मुसलमान हज के समापन पर ईद-उल-अजहा या जुहा या बकरीद का त्योहार मानते हैं।

ईद-उल-अजहा को अल्लाह के लिए पैगंबर इब्राहीम की बेटे की कुर्बानी देने की इच्छा के याद में मनाया जाता है। इस दिन मुसलमान भेड़, बकरे और अन्य मवेशियों की कुर्बानी देते हैं और गोश्त को गरीबों में बांटते हैं। सऊदी अरब के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता मंसूर अल तुर्की ने कल पत्रकारों को बताया कि सऊदी अरब समेत दुनिया भर के 20 लाख से ज्यादा मुस्लिम इस साल हज में हिस्सा ले रहे हैं।

पाकिस्तान की नई सरकार के साथ काम करने को इच्छुक अमेरिका

America wants to work with Pakistan's new government

​​​​​​​न्यूयॉर्क। अमेरिका ने इमरान खान के पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री बनने का स्वागत करते हुए देश एवं क्षेत्र में शांति एवं समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान की नई असैन्य सरकार के साथ काम करने की इच्छा जताई है। इस्लामाबाद में कल एक साधारण समारोह में 65 वर्षीय इमरान खान ने पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली।

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने एक बयान में कहा कि पाकिस्तान के नव निर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान के पद संभालने का हम स्वागत करते हैं और इसे स्वीकार करते हैं। बयान में कहा गया है कि करीब 70 सालों से अमेरिका और पाकिस्तान का रिशता महत्त्वपूर्ण रहा है। पाकिस्तान और अमेरिका के संबंधों में उस वक्त खटास आ गई थी जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर अमेरिका को सिवाए झूठ और धोखे के- कुछ नहीं देने और आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के आरोप लगाए थे।

अमेरिका की कांग्रेस (संसद) ने पाकिस्तान को दी जाने वाली रक्षा सहायता राशि में कटौती कर उसे 15 करोड़ कर देने के लिए एक विधेयक भी पारित किया था जो प्रत्येक साल मिलने वाली एक अरब डॉलर से ज्यादा की राशि के ऐतिहासिक स्तर से काफी नीचे थी। बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान में और क्षेत्र में शांति एवं समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका, पाकिस्तान की नई असैन्य सरकार के साथ काम करने को लेकर इच्छुक है।

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने खान को पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने की बधाई दी। दुजारिक ने कहा कि महासचिव और संयुक्त राष्ट्र व्यवस्था पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री खान के साथ काम करने को लेकर इच्छुक है।

देश की अर्थव्यवस्था सही हाथों में नहीं : चिदम्बरम

Chidambaram said India's economy is not in the right hands

​​​​​​​नई दिल्ली। कांग्रेस ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था ‘सही’ हाथों में नहीं है और यही वजह है कि दुनिया के बेहतरीन अर्थशास्त्री बीच में ही सरकार का साथ छोड़ चुके हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की दोनों सरकारों और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की पुरानी एवं मौजूदा सरकारों के कार्यकाल में आर्थिक विकास दर (जीडीपी) के आंकड़ों का उल्लेख करते हुए कहा कि मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था और प्रबंधन सही हाथों में नहीं है।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में अर्थव्यवस्था और प्रबंधन दोनों ही सही हाथों में था। उन्होंने कहा कि देश में प्रतिष्ठित अर्थशास्त्रियों की कोई कमी नहीं है, लेकिन यह सरकार उन्हें ढूंढ नहीं पाई। उन्होंने कहा कि विदेशों से कई बेहतरीन अर्थशास्त्री भारत आ चुके हैं और थोड़े-थोड़े कार्यकाल के बाद किसी न किसी कारण वापस लौट चुके हैं।

चिदम्बरम ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार में नोटबंदी और त्रुटिपूर्ण वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू किए जाने से लोग ‘कर आतंकवाद’ का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कर आतंकवाद को परिभाषित करते हुए कहा कि जीएसटी की खामियों को कारण एक व्यक्ति को महीने में तीन-तीन और साल में 37 आयकर विवरणी भरनी पड़ रही है। यदि उस व्यक्ति का कारोबार देश के विभिन्न हिस्सों में हो तो आयकर विवरणी की यह संख्या सैकड़ों में होगी। उन्होंने सवाल किया कि यह कर आतंकवाद नहीं तो और क्या है? उन्होंने कहा कि जीडीपी श्रृंखला पर आधारित आंकड़ा ‘आखिरकार’ आ गया है। यह साबित करता है कि संप्रग शासन के दौरान (औसतन 8.1 प्रतिशत) की वृद्धि दर मोदी सरकार के कार्यकाल की औसत वृद्धि दर (7.3 प्रतिशत) से अधिक रही।

उन्होंने कहा कि जीडीपी की पुरानी गणना पद्धति ने साबित किया है कि आर्थिक वृद्धि के सबसे सर्वश्रेष्ठ वर्ष संप्रग सरकार के (2004-14) थे। केंद्रीय सांख्यिकी मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों का जिक्र करते हुए चिदंबरम ने कहा कि, जीडीपी गणना की पुरानी पद्धति ने साबित किया है कि आर्थिक वृद्धि दर के सर्वश्रेष्ठ साल संप्रग सरकार के थे। एक सवाल के जवाब में पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि देश में तीन वित्त मंत्री हैं- डिफैक्टो (वास्तविक), डिजुरे (कानूनी) एवं इनविजिबल (अदृश्य)। उनका इशारा क्रमश: अरुण जेटली, पीयूष गोयल और खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर था।

दूरसंचार विभाग ने स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की ओर से जारी बैंक गारंटी को किया ब्लैकलिस्ट

Department of Telecommunication issued by Standard Chartered Bank Blacklisted Bank Guarantee

​​​​​​​नई दिल्ली। दूरसंचार विभाग ने स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की ओर से जारी बैंक गारंटी को काली सूची में डाल दिया है। यह बैंक एयरसेल समूह के लिए जारी कुछ बैंक गारंटी पर विभाग को भुगतान करने में नाकाम रहा। विभाग ने सभी दूरसंचार ऑपरेटरों और संबंधित अधिकारियों को प्रेषित कड़े ज्ञापन में कहा है कि वे स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की ओर से जारी बैंक गारंटी , या बैंक गारंटी के नवीकरण को स्वीकार नहीं करें। 

नोट में कहा गया है कि स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक एयरसेल समूह की कंपनियों की ओर से जारी बैंक गारंटी को भुनाने में विफल रहा था। स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक का यह रुख भारत सरकार के साथ भरोसे और अनुबंध का गंभीर उल्लंघन है। इसी के मद्देनजर सभी को निर्देश दिया जाता है कि वह स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की ओर से जारी नई बैंक गारंटी को स्वीकार नहीं करें। न ही बैंक की ओर से किसी गारंटी के नवीकरण को स्वीकार किया जाए। 

इस बारे में संपर्क करने पर स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक के प्रवक्ता ने कहा कि दूरसंचार विवाद निपटान एवं अपीलीय न्यायाधिकरण ( टीडीसैट ) द्बारा जारी आदेश के अनुसार दूरसंचार विभाग द्बारा गारंटी भुनाने की कार्रवाई के मामले में कुछ बैंक गारंटी का भुगतान नहीं कर सके। इस मामले में ऐसी बैंक गारंटी से जुड़ी राशि की जानकारी हासिल नहीं हुई है। इस बारे में एयरसेल से तत्काल प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी। 

मिशेल जॉनसन ने क्रिकेट से संन्यास लिया

Mitchell Johnson retires from cricket

​​​​​​​सिडनी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को तीन साल पहले अलविदा कहने वाले आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने कहा कि वह क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहे हैं क्योंकि उनके शरीर ने गेंदबाजी में साथ देना बंद कर दिया है। छत्तीस वर्ष के इस खिलाड़ी ने पिछले महीने ट्वेंटी20 बिग बैश लीग की टीम पर्थ स्कोरचर्स छोड़ दी थी लेकिन उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग या अन्य घरेलू टी20 टूर्नामेंट में खेलने की बात से इनकार नहीं किया था।

जॉनसन ने पर्थ नाओ न्यूज वेबसाइट में लिखा, ''अब सब खत्म हो गया है। मैंने अपनी अंतिम गेंद फेंक दी। अपना अंतिम विकेट ले लिया। आज मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा करता हूं।" उन्होंने कहा, ''मैंने पूरी दुनिया में विभिन्न टी20 टूर्नामेंट में खेलना जारी रखने की उम्मीद बनायी हुई थी, शायद अगले साल के मध्य तक। लेकिन मेरे शरीर ने अब जवाब देना शुरू कर दिया है।"

जॉनसन ने कहा कि उन्हें इस साल के आईपीएल के दौरान पीठ में समस्या महसूस की थी और 'शायद यह संकेत था कि यह आगे बढऩे का समय था।' उन्होंने कहा, ''अगर मैं शत प्रतिशत नहीं खेल सकता तो मैं टीम को अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे सकता। और मेरे लिये यह हमेशा टीम की बात होती है।"

जॉनसन ने आस्ट्रेलिया के 73 टेस्ट खेलकर 313 विकेट हासिल किये थे। उन्होंने 153 वनडे में 239 विकेट तथा 30 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 38 विकेट चटकाये हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वह पर्थ सकोरचर्स से जुड़े थे। वह आईपीएल में मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइटराइडर्स और किंग्स इलेवन पंजाब के लिये खेल चुके हैं।- 

आमिर खान के हाथ लगा जैकपॉट, इस हॉलीवुड फिल्म के रीमेक में आएंगे नजर!

Aamir Khan will come in the remake of this Hollywood movie

​​​​​​​मुंबई। बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान इन दिनों यशराज बैनर तले बन रही फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान में काम कर रहे हैं। चर्चा है कि इस फिल्म के प्रदर्शन के बाद आमिर एक हॉलीवुड प्रोजेक्ट का हिस्सा होंगे। जी हां खबरों की मानें तो आमिर खान हॉलीवुड फिल्म के रीमेक में काम करते नजर आ सकते हैं।

जानकारी के मुताबिक यह फिल्म पेरामाउंट पिच्चर्स के बैनर तले बनी एक हॉलीवुड फिल्म का रीमेक होगी। आमिर इस फिल्म का रीमेक बनाने को लेकर उत्सुक हैं। इसकी घोषणा सब कुछ फाइनलाइज करने के बाद की जाएगी। अभी फिलहाल फिल्म के राइट्स लेने की प्रक्रिया जारी है।

आमिर की आने वाली फिल्मों पर नजर डाले तो उनकी झोली में फिलहाल एक ओर फिल्म हैं। चर्चा है कि आमिर आध्यात्मिक गुरु ओशो पर बन रही एक फिल्म में भी काम कर रहे हैं। फिल्म का काम फिलहाल रुका हुआ है।

आमिर ने टीम को स्क्रिप्ट में कुछ बदलाव करने को कहा है जिसपर काम चल रहा है। स्क्रिप्ट में कई जगहों पर आमिर संतुष्ट नहीं हैं। आमिर की आने वाली फिल्म पर नजर डाले तो फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान नॉवेल 'कन्फेशन्स ऑफ ए ठग' पर निर्धारित है। फिल्म में आमिर के अलावा अमिताभ बच्चन और कैटरीना कैफ भी मुख्य रोल में हैं। फिल्म की रिलीज पर नजर डाे तो यह फिल्म सात नवंबर, 2018 को रिलीज की जाएगी।

प्रियंका चोपड़ा की सगाई में शामिल हुए अंबानी, भंसाली समेत बॉलीवुड की ये हस्तियां

Bollywood celebrities including Ambani, Bhansali, who have joined Priyanka's engagement

​​​​​​​मुंबई। अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा और अमेरिकी गायक निक जोनास के परिवार के सदस्य और करीबी दोस्तों ने उनकी सगाई समारोह के बाद आयोजित एक पार्टी में भाग लिया। जुहू में प्रियंका के आवास पर कल इस जोड़ी की सगाई हुई। पांच पंडितों ने सुबह 10.30 बजे सगाई संबंधी पूजा आरंभ की और यह आयोजन करीब चार घंटे तक चला।

इस निजी आयोजन में भाग लेने वालों में प्रियंका की बहन परिणीति चोपड़ा, आलिया भट्ट, विशाल भारद्वाज, सिद्धार्थ राय कपूर, सिद्धार्थ मल्होत्रा, अर्पिता खान, मुश्ताक शेख और श्रृति बहल शामिल थे।

इसके अलावा मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता ने भी समारोह में शिरकत की। प्रियंका ने समारोह की कुछ तस्वीरें के साथ सोशल मीडिया पर अपनी सगाई के खबर की पुष्टि की है। हालांकि उन्होंने अभी तक अपनी शादी की तारीख का खुलासा नहीं किया है। निक और उनके माता-पिता एवं भाई सहित उनके परिवार के सदस्य गुरुवार की रात में ही शहर पहुंच गये थे।

बताते चलें कि प्रियंका के जुहू स्थित घर पर कल सुबह रोके की रस्म अदा की गई, जहां दोनों पारंपरिक पहनावे में नजर आए। इससे पहले एक पंडित को उनके घर में जाते हुए भी देखा गया था, जिनके पीछे एक व्यक्ति मिठाई के डिब्बे ले जाता भी दिखा। निक (25) गुरुवार को अपने माता-पिता के साथ मुंबई पहुंचे थे। छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर खुद प्रियंका (36) उनको लेने पहुंची थीं।

बच्चे को पार्क में अकेला देख 25 साल के युवक ने उसके साथ किया ये, पढक़र आपको भी आ जाएगी शर्म

25-year-old man has done wrong with a child in Murray of Madhya Pradesh

​​​​​​​मुरैना। मध्यप्रदेश में एक बच्चे के साथ कुकर्म करने का मामला सामने आया है। यहां एक बच्चे को कथित रूव से अपनी हवस का शिकार बनाते हुए उसके साथ कुकर्म किया। मामला मुरैना जिले के स्टेशन रोड पुलिस थाना इलाके का बताया जा रहा है। इस संबंध में बच्चे के परिजनों ने स्थानीय थाने में मामला दर्ज कराया है। उधर मामला पुलिस के सामने आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और आरोपी की तलाश कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार जिले के स्टेशन रोड पुलिस थाना इलाके में एक व्यक्ति द्वारा एक बच्चे को कथित रूप से कुकर्म का शिकार बनाया है। मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार मामले को लेकर स्टेशन रोड थाना पुलिस ने बताया है कि राजेश माहौर (25) ने शनिवार शाम मुरैना शहर के एक उद्यान में एक बालक को अकेला पाकर उसके साथ कथित रूप से कुकर्म किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पुलिस ने बताया है कि पीडि़त बालक घटना के बाद अपने घर पहुंचा और पूरे घटनाक्रम के बारे में अपने माता-पिता को बताया। मामले की जानकारी लगने के बाद पीडि़त बच्चे के परिजन उसके साथ थाने पहुंचे और मामले की शिकायत पर आरोपी माहौर के खिलाफ स्टेशन रोड पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने बताया कि मामला सामने आने के बाद पीडि़त बच्चे की मेडिकल जांच कराई गई है। वहीं पीडि़त बच्चे के परिजनों की शिकायत के बाद आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि घटना के बाद से आरोपी फरार है जिसकी पुलिस तलाश में जुटी हुई है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.