14 फरवरीः एक क्लिक में पढ़े 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Feb 2018 04:46:44 PM
today top ten news
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the lend of Sun, Send and adventures

कांग्रेस ने मोदी से मांगा उन्हीं के सवालों का जवाब

Congress asks Modi to answer his questions

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आतंकवाद तथा घुसपैठ की घटनाओं को रोकने के लिए सरकार पर ठोस कदम नहीं उठाने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आज वही पांच सवाल किये जिनका मोदी ने पांच साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री से जवाब मांगा था।

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां पार्टी की नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि मोदी ने पांच वर्ष पहले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह पर आतंकवाद की घटनाओं को रोकने में असफल रहने का आरोप लगाते हुए उनसे पांच सवाल किये थे लेकिन मोदी के सत्ता में आने के बाद स्थित कई गुना खराब हो गयी है लेकिन वह चुप्पी साधे हुए हैं।

प्रवक्ता ने एक जन सभा में मोदी द्वारा पांच साल पहले दिये गये एक भाषण का वीडियो पत्रकारों को दिखाया और ठीक वही सवाल दोहराते हुए उनसे पूछा हमें जवाब दीजिये कि ये जो आतंकवादी है, उनके पास जो बारूद और शस्त्र हैं वो कहाँ से आते हैं? वो तो विदेश की धरती से आते हैं? और सीमायें संपूर्ण रूप से आपके कब्जे में हैं? सीमा सुरक्षा बल आपके कब्जे में है।

मोदी की शैली में ही प्रवक्ता ने अगला सवाल दोहराया हम आपसे दूसरा सवाल पूछना चाहते हैं, आतंकवादियों के पास धन आता है, कहां से आता है, पैसे के पूरे लेन देन का कारोबार भारत सरकार के कब्जे में है। रिजर्व बैंक के अंतर्गत है, बैंकों के माध्यम से होता है, क्या प्रधानमंत्री आप इतनी निगरानी नहीं रख सकते कि यह जो धन विदेश से आकर आतंकवादियों के पास जाता है, आपके हाथ में हैं, आप उसको क्यों नहीं रोकते हैं।

तीसरा सवाल भी उन्हीं की भाषा में पूछते हुए सिंघवी ने कहा विदेशों से जो घुसपैठिये आते हैं, जो आतंकवादियों के रूप में आते है, आतंकवादी घटना करते हैं और भाग जाते हैं, प्रधानमंत्रीजी आप हमें बताइये, सीमायें आपके हाथ में हैं, तटीय सुरक्षा आपके हाथ में है, सीमा सुरक्षा बल, सेना सब आपके हाथ में है, नौसेना आपके हाथ में है,ये विदेश से घुसपैठिये कैसे देश में घुस जाते है?

केजरीवाल सरकार हर मोर्चे पर ‘फ्लॉप ‘: माकन

Kejriwal government flop on every front: Maken

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी(आप) की सरकार को हर मोर्चे पर फ्लॉप करार देते हुए कहा कि झूठे वादे करके सत्ता में आएं अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली का बेड़ा गर्क कर दिया है। केजरीवाल सरकार के तीन साल पूरा होने के मौके पर दिल्ली कांग्रेस ने तीन साल दिल्ली बेहाल नाम की पुस्तिक जारी की और आप नहीं खाप है हर मोर्चे पर फ्लॉप है स्लोगन के साथ विभिन्न क्षेत्रों में सरकार की असफलता का खुलासा किया।

दिल्ली कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में बुधवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने केजरीवाल सरकार की तीन साल की खामियां गिनाई। इस मौके पर शीला सरकार में मंत्री रहे अशोक कुमार वालिया,हारुन युसूफ, किरण वालिया, मंगतराम सिंघल और रमाकांत गोस्वामी के अलावा पूर्व सांसद सज्जन कुमार,महाबल मिश्रा और पूर्व महापौर फरहाद सूरी समेत अन्य नेता बडी संख्या में मौजूद थे।

माकन और दीक्षित ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने तीन साल में एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया और दिल्ली का विकास पूरी तरह ठप्प हो गया। दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था हो या स्वास्थ्य व्यवस्था सब कुछ पूरी तरह चरमरा गया है। सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था का बुरा हाल है और केजरीवाल सरकार केवल विग्यापनों के जरिए अपना पुलावी गुणगान करने में अरबों रुपया पानी की तरह बहा रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री के साथ अपने मतभेद भुलाकर लंबे समय बाद एक मंच पर आए माकन ने दीक्षित के 15 वर्ष के कार्यकाल के दौरान दिल्ली में विकास कार्यों के कसीदे पढ़े। उन्होंने कहा कि दीक्षित ने दिल्ली को आधुनिक शहर बनाने के लिए 15 वर्षों के दौरान जो विकास कार्य किए थे, वह लगभग ध्वस्त होने की अवस्था में हैं।

दीक्षित ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह केवल बोलती है काम नहीं करती। उन्होंने कहा कि सरकार केवल विज्ञापनों पर अरबों रुपया खर्च कर अपना बखान करने में जुटी हुई है और उनके कार्यकाल में दिल्ली में जो बुनियादी ढांचा विकसित किया गया था वह तहस नहस होने की स्थिति में पहुंचा चुका है।

शाह के दौरे से हरियाणा में भय का माहौलः जयहिंद

An atmosphere of fear in Haryana by Shah's visit Jaihind

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (आप) की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष नवीन जयहिंद ने आज आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह के दौरे से हरियाणा में भय का माहौल बना हुआ है। 

जयहिंद ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार बार-बार इंटरनेट सेवाएं बंद कर, धारा 144 को लगा कर, अर्धसैनिक बलों को बुलाकर डर और तनाव पैदा कर रही है। 

उन्होंने कहा कि शाह की गुरुवार, 15 फरवरी को जींद में रैली को लेकर मनोहर लाल खट्टर सरकार ने हरियाणा में आपातकाल जैसे हालात पैदा कर दिए है, सभी इमरजेंसी स्वास्थ्य सेवाएं, डॉक्टरों को, एम्बुलेंसों को जींद बुलाया जा रहा है जो कि सरासर गलत है। 

जयहिंद ने आरोप लगाया कि प्रदेश में पहले ही स्वास्थ्य सेवाएं सघन चिकिस्ता कक्ष यानी आईसीयू में हैं इसलिए डॉक्टरों के लिए ये सरकार का तुगलकी फरमान है। आप नेता ने तंज कसते हुए कहा कि शाह हरियाणा के बेरोजगारों को भी एक साल में पचास हजार रुपये का व्यवसाय 200 करोड़ रुपये का करने के टिप्स देकर जाएं। 

जयहिंद ने कहा कि शाह को प्रदेश के 20 लाख बेरोजगारों, लगातार शहीद हो रहे जवानों के परिवारों, गेस्ट टीचरों को, आशा वर्करों, मजदूरों, व्यापारियों, किसानो और बहू-बेटियों को जवाब देकर जाना चाहिए कि सरकार उनके लिए क्या कर रही है।

दिल्ली वालों ने तीन साल पहले चुनी ईमानदार सरकारः केजरीवाल

Delhi people selected three years ago honest government Kejriwal

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के तीन साल पूरे होने पर कहा कि दिल्लीवासियों ने तीन साल पहले एक ईमानदार सरकार चुनी और इस दौरान भ्रष्टाचार में कमी आयी है।

केजरीवाल ने आज ट्वीट कर कहा तीन साल पहले दिल्ली के लोगों ने एक ईमानदार सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा कि इन तीन वर्षों में कई बाधाएं आईं, लेकिन हमने आपके (लोगों) अधिकारों के लिए लड़ाईयां लड़ी और मेरी सबसे बड़ी ताकत हैं आप।

उन्होंने कहा कि पिछले तीन साल में भ्रष्टाचार में कमी आयी है क्योंकि दिल्ली के लोगों ने एक इमानदार सरकार चुनी थी। मुख्यमंत्री ने कहा अब एक एक पैसा जनता के विकास पर खर्च हो रहा है बिजली, पानी, स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक, सड़कें, फ्लाइओवर..।

पाक के हमले के दौरान नेहरू ने जम्मू-कश्मीर में RSS से मांगी थी मदद: उमा

kashmir-pakistan-attack-nehru-sought-help-rss-uma-bharti

भोपाल। केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने दावा किया कि आजादी के कुछ ही समय बाद जब पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर पर हमला किया था तब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी।

उन्होंने सेना को लेकर आरएसएस प्रमुख द्वारा की गयी विवादित टिप्पणी के बीच यह दावा किया। उमा ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए भागवत की टिप्पणी पर सीधा सीधा कुछ कहने से इनकार कर दिया।

हालांकि उन्होंने कहा कि आजादी के बाद कश्मीर के राजा महाराजा हरि सिंह संधि पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे थे और शेख अब्दुल्ला ने हस्ताक्षर करने के लिए उनपर दबाव डाला। उन्होंने कहा कि नेहरू दुविधा में थे और फिर पाकिस्तान ने एकाएक हमला कर दिया और उसके सैनिक उधमपुर की तरफ बढने लगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, उस समय नेहरूजी ने गुरू गोवलकर (तत्कालीन आरएसएस प्रमुख एम एस गोवलकर) आरएसएस के स्वयंसेवकों की मदद मांगी। आरएसएस स्वयंसेवक मदद के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे।

US का बड़ा खुलासा, पाक बना रहा नए परमाणु हथियार, हो सकता है हमला

pak-developing-new-types-of-nuclear-weapons-US

वाशिंगटन। अमेरिकी खुफिया प्रमुख ने आगाह किया है कि पाकिस्तान छोटी दूरी के हथियारों सहित नये तरह के परमाणु हथियारों का विकास कर रहा है।

नेशनल इंटेलीजेंस के निदेशक डैन कोट्स ने शनिवार को जम्मू में सुंजवां सैन्य शिविर पर हुए पाकिस्तानी आतंकियों के एक समूह के हमले के कुछ दिन बाद यह टिप्पणी की।

कोट्स ने खुफिया मामलों से जुड़ी सीनेट की प्रवर समिति द्वारा विश्वव्यापी खतरों के विषय पर आयोजित की गयी सुनवाई के दौरान सांसदों से कहा कि पाकिस्तान छोटी दूरी के रणनीतिक हथियारों सहित नये तरह के परमाणु हथियारों का विकास कर रहा है।

उन्होंने अगाह किया कि पाकिस्तान ने परमाणु हथियारों का निर्माण एवं छोटी दूरी के रणनीतिक हथियारों सहित नये तरह के परमाणु हथियारों, समुद्र आधारित क्रूज मिसाइलों, हवा में छोड़े जाने वाले क्रूज मिसाइल और लंबी दूरी के बैलिस्टिक मिसाइल का विकास करना जारी रखा है।

प्रधानमंत्री नेतन्याहू पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप, नहीं देंगे इस्तीफा 

Israeli Prime Minister refuses to resign

यरुशलम। इजराइली पुलिस ने प्रधानमंत्री बेंजामीन नेतन्याहू के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार और विश्वासघात के दो मामलों में अभियोग चलाने का प्रस्ताव दिया है, लेकिन भ्रष्टाचार के आरोपों से घीरे प्रधानमंत्री ने अपने पद से इस्तीफा देने से इंकार कर दिया है।

पुलिस ने 14 महीने की लंबी जांच के बाद मंगलवार को घोषणा की थी कि 68 वर्षीय नेतन्याहू के खिलाफ अभियोग की सिफारिश करने के लिए उनके पास प्रयाप्त सबूत है।

यरुशलम पोस्ट की खबर के मुताबिक प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार के दो मामलों में मुकदमे का सामना कर रहे हैं। प्रधानमंत्री पर तरफदारी के लिए उपहार देने का आरोप है। इस मामले को केस 1000 के नाम से जाना जा रहा है। वहीं पिछले दरवाजे से अपने पक्ष में खबरें सुनिश्चित कराने के लिए लोकप्रिय समाचार पत्र येदियोत अहारोनोट के प्रकाशक आरोनोन मोजेज के साथ सांठगांठ का आरोप है। इस मामले को केस 2000 कहा जा रहा है।

वह साल 2009 में इजराइली के प्रधानमंत्री चुने गए थे। नेतन्याही इस पद पर साल 1996 से 1999 के बीच रहे थे। पुलिस ने नेतन्याहू पर करीब 300,000 अमेरिकी डॉलर का उपहार पिछले 10 साल में स्वीकार करने का आरोप लगाया है। नेतन्याहू ने पुलिस के अपने सबूतों का खुलासा करने से पहले उन्होंने देश को संबोधत करते हुए यह स्पष्ट किया है कि वह अपने पद से इस्तीफा नहीं देंगे।

रोहित ने कहा, यह विदेशों में सबसे बड़ी वनडे जीत है

Rohit said this is the biggest one-day win overseas

पोर्ट एलिजाबेथ। भारतीय उप कप्तान रोहित शर्मा को लगता है कि टीम ने मौजूदा सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को पस्त कर विदेशों में सबसे बड़ी वनडे सीरीज अपने अपने नाम की। भारत ने बीती रात पांचवां वनडे 73 रन से जीतकर छह मैचों की सीरीज में 4-1 से अजेय बढ़त बना ली है। अंतिम मैच सेंचुरियन में 16 फरवरी को खेला जायेगा।

रोहित ने कल 115 रन की शानदार शतकीय पारी खेली, उन्होंने कहा, ''निश्चित रूप से, मुझे लगता है कि यह विदेशों में वनडे मे हमारी सबसे बड़ी जीत है। यह अच्छी जीत है क्योंकि यह द्विपक्षीय सीरीज थी। इससे पहले हमने आस्ट्रेलिया में 2007-08 में सीबी त्रिकोणीय सीरीज जीती थी। हालांकि वो श्रृंखला भी काफी कठिन थी।"

उन्होंने कहा, ''मेरे लिये, दोनों की तुलना करना काफी मुश्किल है। मुझे लगता है कि यह सीरीज हमारे लिये काफी मायने रखती है। हम जिस तरह से पहले मैच से खेले थे, उसे देखकर साफ पता चलता है कि हमने सीरीज में दबदबा बनाया और नतीजा भी सबके सामने है।" रोहित ने कहा कि मुश्किल परिस्थितियों के बावजूद टीम ने पूरी तरह दबदबा बनाया जिससे यह जीत काफी विशेष बन गयी है। उन्होंने कहा, ''यह जीत सबमें बिलकुल ऊपर रहेगी।

25 वर्षों के बाद हमने दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीती है। क्रिकेट खेलने के लिये यह बिलकुल भी आसान जगह नहीं है, निश्चित रूप से सीरीज जीतने के लिये तो यह बिलकुल आसान जगह नहीं है। मुझे लगता है कि इसके लिये काफी श्रेय खिलाडिय़ों को जाता है। " रोहित ने कहा, ''जिस भी खिलाड़ी को मौका मिला, उसने हाथ उठाकर चुनौती अपने कंधों पर ली। अगर आप पूरी वनडे सीरीज को देखो तो इसमें हमारा प्रदर्शन दबदबे वाला था।

इससे बतौर टीम विदेशों में जाने के लिये और वहां सीरीज जीतने के लिये हमारा आत्मविश्वास बढ़ेगा ही।" उन्हें साथ ही यह भी लगता है कि टेस्ट सीरीज भी एकतरफा मुकाबला नहीं थी जिसमें भारतीय टीम 1-2 से हार गयी थी। उन्होंने कहा, ''मेरा मानना है कि टेस्ट सीरीज बहुत ही करीबी थी। यह किसी भी तरफ जा सकती थी। जो भी हो, हमें अपने प्रदर्शन पर गर्व है और आज जो हमने हासिल किया, उस पर हमें गर्व है।

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 144 अंक टूटा

Bombay Stock Exchange Sensex 144 points broken

मुंबई। अंतिम घंटे में चले बिकवाली के सिलसिले से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स बुधवार को 144 अंक टूटकर 34,156 अंक पर आ गया। रिजर्व बैंक के दबाव वाली संपत्तियों की पहचान के नए नियमों से बैंकिंग शेयरों में बिकवाली दबाव रहा।

इसके अलावा पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने खुलासा किया कि उसने करीब 1.171 अरब डॉलर या 11,334.4 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी के लेनदेन पकड़े हैं और इस मामले को विधि प्रवर्तन एजेंसियों को जांच के लिए भेज दिया गया है।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज 34,436.98 अंक पर मजबूत रुख के साथ खुला। सकारात्मक घरेलू और वैश्विक संकेतों से यह 34,473.43 अंक के उच्चस्तर तक गया। हालांकि, मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से यह 34,028.68 अंक तक नीचे आया। अंत में यह 144.52 अंक या 0.42 प्रतिशत के नुकसान से 34,155.95 अंक पर बंद हुआ।

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 38.85 अंक या 3.37 प्रतिशत के नुकसान से 10,500.90 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 10,590.55 से 10,456.65 अंक के दायरे मे रहा।

इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने सोमवार को शुद्ध रूप से 814.11 करोड़ रुपए के शेयर बेचे, वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,342.70 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे।

'जब वी मेट' के सीक्वल में काम नहीं करेंगे शाहिद कपूर

Shahid Kapoor will not work in sequel of Jab We Met

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता शाहिद कपूर का कहना है कि वह जब वी मेट के सीक्वल में काम नहीं कर रहे हैं। बॉलीवुड में चर्चा थी कि इम्तियाज अली और शाहिद कपूर फिल्म 'जब वी मेट' के बाद दोबारा साथ काम करने वाले हैं। चर्चा हो रही थी कि यह 'जब वी मेट' का सीक्वेल होगी, जिसमें करीना कपूर खान और शाहिद कपूर होंगे। शाहिद ने इन खबरों को गलत बताया है।

शाहिद ने कहा कि इस फिल्म का 'जब वी मेट' के साथ कोई ताल्लुक नहीं है और इस फिल्म में मैं उदास नहीं दिख रहा। हम एक और अच्छी फिल्म बनाएंगे। हम पास्ट में क्यों जिएं। 'जब वी मेट' बन चुकी है। इसलिए हमारी अगली फिल्म इसका सीक्वल नहीं होगी। शाहिद ने कहा कि अभिनेता के तौर पर अलग-अलग रोल करना उनका लक्ष्य है। यह अच्छा या बुरा करने को लेकर नहीं है, यह हमेशा अलग होने को लेकर है।

शाहिद इन दिनों श्री नारायण सिंह की फिल्म 'बत्ती गुल मीटर चालू' की शूटिंग में व्यस्त हैं। इस फिल्म के बाद ही वे इम्तियाज की फिल्म पर काम करेंगे। फिल्म'बत्ती गुल मीटर चालू' में वे एक छोटे शहर के वकील की भूमिका निभा रहे हैं, जो आम लोगों के कम बिजली के बिल के हक के लिए लड़ता है। फिल्म में उनके साथ श्रद्धा कपूर और यामी गौतम भी शामिल हैं।

 

 

 

 

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the lend of Sun, Send and adventures


 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.