10 मार्चः एक क्लिक में पढ़े 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Saturday, 10 Mar 2018 05:09:57 PM
today top ten news

कांग्रेस का सत्ता में लौटना मुंगेरी लाल का सपनाः गडकरी

Nitin Gadkari is target on Sonia Gandhi

मुंबई। केंद्रीय राष्ट्रीय राजमार्ग और जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के 2019 में फिर से केन्द्र में सत्ता में लौटने के बयान को मुंगेरी लाल के हसीन सपने बताते हुये कहा है कि कांग्रेस एक एक करके राज्यों के चुनाव में परास्त हो रही है फिर उसके सत्ता में वापसी का सवाल कहां उठता है। 

गडकरी ने आज एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में कहा कांग्रेस की 2019 में सत्ता में लौटने की बात वास्तिवकता से बहुत दूर है। जो पार्टी विधानसभा चुनावों में एक के बाद एक पराजित हो रही है उसके सत्ता में लौटने का सवाल कहां पैदा होता है। 

सोनिया गांधी ने कल सम्मेलन को संबोधित करते हुए नरेन्द्र मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि उनके अच्छे दिन के नारे का हश्र 2004 के इंडिया शाइनिंग जैसा होगा और हम 2019 में फिर से सत्ता में वापसी करेंगे। इसके जवाब में गडकरी ने पूरे विश्वास के साथ कहा देश की जनता एक बार फिर मोदी के लिए वोट करेगी। उन्होंने गांधी के 2019 के आम चुनाव में वापसी के कथन को मुंगेरी लाल के हसीन सपने करार दिया।

त्रिपुरा में हिंसा मामलों में मोदी हस्तक्षेप करें: येचुरी

Modi intervenes in Tripura violence cases: Yechury

अगरतला। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने त्रिपुरा में चुनाव नतीजे की घोषणा के बाद से ही जारी हिंसा के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ इशारा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह किया है कि वह माकपा के निर्दोष कार्यकर्ताओं के खिलाफ ज्यादतियों और पार्टी कार्यालयों को नुकसान पहुंचाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए हस्तक्षेप करें।

येचुरी राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा की स्थिति का जायजा लेने के लिए शुक्रवार रात यहां पहुंचे। उन्होंने आज पश्चिम त्रिपुरा के जिरानिया और मोहनपुर के कुछ क्षेत्रों का दौरा करके हालात की समीक्षा की।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा और आईपीएफटी के चुनाव में विजयी रहने बाद 200 से अधिक पार्टी कार्यालयों को आग के हवाले किया गया और 3000 से अधिक कार्यकर्ताओं पर हमले किए गए। माकपा के कई नेता धमकी के कारण घर छोड़ कर भागने पर मजबूर हो गए।

माकपा महासचिव ने कहा कि मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मुख्यमंत्री के शपथ समारोह में शामिल होने आए, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसी ने भी चुनाव बाद की हिंसा के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अकर्मण्यता के कारण राज्य का एक बड़ा हिस्सा केसरिया आतंक के साए में जी रहा है। लोगों ने बेहतर शासन और विकास के लिए भाजपा और आईपीएफटी को वोट दिए हैं, लेकिन गत सप्ताह से ही दोनों दलों ने अपना क्रूर चेहरा दिखाना शुरू कर दिया।

उल्लेखनीय है कि भारतीय जनता पार्टी नीत गठबंधन ने त्रिपुरा में माकपा के 25 साल पुराने किले को ध्वस्त करते हुए नई सरकार बनाई है। साठ सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को 35 और माकपा को 16 सीटें मिली हैं जबकि कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिल पाई है।

इस बीच माकपा के प्रदेश सचिव बिजन धर ने आरोप लगाया कि मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह बिप्लब देव के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद जब वापस चले गए तो शुकवार रात विशालगढ़, जिरानिया और अमरपुर में कथित रूप से भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके समर्थकों ने माकपा के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हमला किया और पार्टी के कार्यालयों को आग के हवाले कर दिया।

भारत और फ्रांस का रक्षा क्षेत्र में सहयोग स्वर्णिम कदमः मोदी

14-agreements-signed-between-india-france

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रक्षा क्षेत्र में भारत और फ्रांस के सहयोग को स्वर्णिम कदम बताते हुए आज कहा कि अभी भारत को फ्रांस के सबसे विश्वस्त रक्षा भागीदारों में गिना जाता है। 

मोदी ने भारत की चार दिन की यात्रा पर आये फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ यहां शिष्टमंडल स्तर की वार्ता के बाद अपने वक्तव्य में कहा कि दोनों देशों की सेनाओं के बीच साजो सामान सहयोग समझौते को वह इतिहास के स्वर्णिम कदम के रूप में देखते हैं। रक्षा, सुरक्षा, अंतरिक्ष और उच्च प्रौद्योगिकी में भारत और फ्रांस के द्विपक्षीय सहयोग का इतिहास बहुत लम्बा है।

उन्होंने कहा कि दोनों देशों ने आज शिक्षा और आव्रजन के क्षेत्र में भी समझौता किया है। उन्होंने कहा कि ये दोनों समझौते हमारे देशवासियों के, हमारे युवाओं के बीच करीबी संबंधों की रूपरेखा तैयार करेंगे।

राफेल सौदे में देश को सच बताए सरकार : कांग्रेस 

Rafael Declaration Informs Truth In Country: Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस ने फ्रांस से खरीदे जाने वाले राफेल लड़ाकू विमानों की कीमत न बताने के लिए गोपनीयता के करार की आड लेने को सरकार की बहानेबाजी करार देते हुए शनिवार को कहा कि देश सचाई जानना चाहता है इसलिए इस सौदे की असलियत सामने लाई जानी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता टॉम वड्डकन ने यहां मीडिया से कहा कि इस संबंध में उनकी पार्टी लगातार सवाल कर रही है लेकिन मोदी सरकार किसी का भी जवाब नहीं दे रही है।

इस सौदे की सचाई किस वजह से छिपाई जा रही है इसका उसे खुलासा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सौदे में घोटाला किया गया है इसलिए सरकार कीमत छिपा रही है लेकिन 2019 के चुनाव में जनता उससे यही सवाल पूछेगी और उसे जवाब देना ही पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पहले रक्षा मंत्री ने कहा कि था कि रक्षा सचिव विमानों की कीमत बताएंगे लेकिन बाद में सरकार मुकर गई और सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए विमानों की कीमत बताने से पीछे हट गई।

उन्होंने कहा कि सरकार भले ही इन विमानों की कीमत नहीं बता रही है लेकिन विमान बनाने वाली कंपनी ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है कि उसने यही विमान कतर और मिस्र से भी खरीदे हैं। रिपोर्ट में विमानों की कीमत का जिक्र है और दोनों देशों की तुलना में भारत से एक विमान की कीमत 350 करोड़ रुपए से अधिक ली गई है।

प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार मेक इन इंडिया की बात करती है लेकिन राफेल सौदे में उसने इन विमानों को देश में ही बनाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल को प्रौद्योगिकी हस्तांतरण संबंधी समझौते को खत्म कर दिया। सरकार ने इसके बजाय यह जिम्मेदारी एक निजी कंपनी को दी है जिसका विमानन क्षेत्र में कोई अनुभव नहीं है।

राजपा के किरोड़ी हुए भाजपा के

kirodi-lal-meena-joined-bjp

जयपुर। नवंबर में राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने है और उससे पहले पार्टियों ने अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। भाजपा के लिए आज एक बड़ी खबर ये निकल के सामने आई है की राजपा संयोजक किरोड़ी लाल मीणा एक बार फिर से भाजपा में शामिल हो गए है। उनके साथ उनके भाई जगमोहन मिणा भी शामिल हो गए है।

किरोड़ी लाल के साथ उनकी पत्नी गोलमा देवी, विधायक नवीन पिलानिया भी सीएम से मिलने पहुंचे है।माना तो यह भी जा रहा है किरोड़ी लाल मीणा या फिर उनके भाई जगमोहन मीणा में से किसी भी एक को राज्यसभा से टिकट दिया जा सकता है। 

किरोड़ी पिछली वसुंधरा सरकार में खाद्य आपूर्ति मंत्री रह चुके हैं। इसके बाद 2008 में आई गहलोत सरकार में किरोड़ी सीधे तो शामिल नहीं हुए, लेकिन उनकी पत्नी गोलमा मंत्री बन गईं। इसके बाद से भाजपा और किरोड़ी के संबंधों में खटास आ गई थी।

प्रदेश में 200 विधानसभा सीटों में से राजपा के चार विधायक हैं। इसमें किरोड़ी लाल लालसोट से उनकी पत्नी गोलमा देवी राजगढ़ लक्ष्मणगढ़ए गीता वर्मा सिकराय से और आमेर से नवीन पिलानिया है।

भारत और फ्रांस करेंगे एक-दूसरे के सैन्य ठिकानों का इस्तेमाल

India and France will use each other's military bases

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस ने एक-दूसरे के सैन्य ठिकानों के इस्तेमाल एवं सैन्य साजो- सामान के आदान-प्रदान तथा गोपनीय सूचनाओं की सुरक्षा सहित 14 क्षेत्रों में समझौतों पर हस्ताक्षर किये हैं। 

भारत की यात्रा पर आये फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों तथा प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच शिष्टमंडल स्तर की वार्ता के बाद दोनों देशों ने द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए शिक्षा , मादक पदार्थों की रोकथाम, पर्यावरण, रेलवे, अंतरिक्ष, शहरी विकास और कुछ अन्य क्षेत्रों में भी समझौतों पर हस्ताक्षर किये। दोनों नेताओं की मौजूदगी में इन समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। 

सबसे महत्वपूर्ण करार रक्षा क्षेत्र में किया गया है जिसके तहत दोनों देशों की सशस्त्र सेनाएं एक दूसरे के सैन्य ठिकानों का इस्तेमाल तथा सैन्य साजो-सामान का आदान प्रदान कर सकेंगी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किये। दोनों देशों की सेनाएं, साजो सामान की आपूर्ति, युद्ध अभ्यास, प्रशिक्षण, मानवीय सहायता और आपदा कार्यों में भी सहयोग करेंगे। अमेरिका के बाद फ्रांस दूसरा देश है जिसके साथ भारत ने इस तरह का समझौता किया है।

उत्तर कोरिया की ओर से ठोस कार्रवाई के बाद ही होगी ट्रंप और किम की बातचीत

North Korea will only take action after trump and Kim talks

वाशिंगटन। अमेरिका ने शनिवार को कहा कि उत्तर कोरिया की ओर से ठोस कार्रवाई के बाद ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग-उन के बीच बातचीत होगी। ट्रंप ने वादा पूरा किए जाने पर उत्तर कोरिया के साथ एक समझौते किए जाने की भी पुष्टि करते हुए कहा कि यह दुनिया के लिए बहुत अच्छा होगा।

एक दिन पहले ट्रंप ने किम का आमंत्रण स्वीकार कर वैश्विक समुदाय को हैरान कर दिया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि उत्तर कोरिया की ओर से किए गए वादे के तहत ठोस कार्रवाई के बिना यह वार्ता नहीं होगी। साथ ही कहा कि फिलहाल बैठक के लिए समय और तारीख तय नहीं है। ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा कि उत्तर कोरिया के साथ समझौता होने और इसके पूरा होने पर यह दुनिया के लिए बहुत अच्छा होगा।

समय और स्थान पर फैसला किया जाएगा। साथ ही सैंडर्स ने दोहराया कि ट्रंप प्रशासन प्योंगयोंग पर अधिकतम दबाव बनाने का अभियान जारी रखेगा। उत्तर कोरियाई घटनाक्रम से अवगत कराने के लिए ट्रंप ने कल रात से लेकर आज सुबह तक अपने चीनी समकक्ष शी चिनफिंग सहित दुनिया के विभिन्न नेताओं से फोन पर बातचीत की। व्हाइट हाउस ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने चिनफिंग से बात की और उत्तर कोरिया के साथ समझौते के लिए घटनाक्रम के बारे में उन्हें बताया।

व्हाइट हाउस ने बताया, दोनों नेताओं ने अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच वार्ता की संभावनाओं का स्वागत किया और परमाणु हथियारों के खात्मे की दिशा में ठोस, भरोसेमंद कदम उठाए जाने तक प्योंगयोंग पर दबाव और पाबंदी बनाए रखने की प्रतिबद्धता जताई। फोन पर बातचीत में ट्रंप ने उम्मीद जताई कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन अपने देश के बेहतर भविष्य के लिए बेहतर रास्ता अख्तियार करेंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे से भी बातचीत की। दोनों नेता ठोस उपाय किए जाने तक उत्तर कोरिया पर दबाव बनाए रखने पर भी सहमत हुए। एएफपी की खबर के अनुसार फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने अमेरिका और उत्तर कोरिया के नेताओं के बीच ऐतिहासिक बातचीत की संभावना को लेकर ट्रंप से बातचीत की और उनसे‘‘ ठोस वार्ता’’ की अपील की। मैंक्रों के कार्यालय ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियार से मुक्त बनाने की दिशा में उत्तर कोरिया के साथ ठोस सख्त वार्ता के लिए एकजुटता दिखानी चाहिए।

दिग्गज क्रिकेटरों ने की बीसीसीआई से यह मांग

This demand from the legendary cricketers to BCCI

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी और पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से भारतीय दृष्टिबाधित क्रिकेट संघ (सीएबीआई) को अपने तत्वावधान में लेने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि इससे देश में दृष्टिबाधित क्रिकेट को काफी बढ़ावा मिलेगा। बेदी और किरमानी यहां ब्लाइंड क्रिकेट कॉनक्लेव 2018 में मौजूद थे जहां इस साल जनवरी में वल्र्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ी भी मौजूद थे। आंख खोने के बाद भी वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले।

बेदी ने यहां टाइगर पटौदी का उदाहरण देते हुए कहा कि कार दुर्घटना में एक आंख खोने के बाद भी वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले। उन्होंने कहा कि टाइगर ने टेस्ट में पदार्पण करने से पहले ही एक आंख की रोशनी खो दी थी। उन्हें यह पसंद नहीं था कि कोई उनसे हमदर्दी जताएं। उन्होंने कभी इसे शारीरिक अक्षमता नहीं माना और भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक बने।

71 वर्षीय बेदी ने कहा कि वह (पटौदी) नवाब थे, लेकिन कभी नवाब की तरह व्यवहार नहीं किया। आप सभी (दृष्टिबाधित क्रिकेटर) लाखों लोगों के प्रेरणास्रोत हैं। मुझे उम्मीद है कि बीसीसीआई सीएबीआई को अपने तत्वावधान में लेगी और हर तरह की मदद मुहैया कराएगी। आप सब ने हमें दिखाया है कि आंखों में रोशनी नहीं होने के बाद भी आपके पास दूरदृष्टि हैं।

इस मौके पर मदनलाल ने कहा कि आपके विश्व कप जीत के सामने हमारा विश्व कप कुछ भी नहीं था। आप सभी मेरे हीरो हैं।

एक जून से पूरी तरह लागू होगा ई-वे बिल

e-way bill will be fully implemented from June 1

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत माल ढुलाई के लिए जरूरी ई-वे बिल 01 जून से पूरी तरह लागू हो जायेगा। 

जीएसटी परिषद की आज यहाँ हुई बैठक के बाद बताया गया कि परिषद ने राज्यों के बीच माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल की व्यवस्था एक अप्रैल से लागू करने का फैसला किया है जबकि राज्य के भीतर माल परिवहन के लिए इसे एक जून 2018 या उससे पहले लागू करना जरूरी है। राज्य के भीतर ई-वे बिल की व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से लागू की जायेगी। 

इसके साथ ही परिषद ने 50 किलोमीटर की दूरी तक माल ले जाने पर ई-वे बिल से छूट देने का फैसला किया है। पहले यह दूरी 10 किलोमीटर तय की गयी थी। 

पहले ई-वे बिल 01 फरवरी से लागू किया गया था, लेकिन उसी दिन इसका पोर्टल क्रैश हो जाने के कारण इसे टाल दिया गया था। अब नये सिरे से पोर्टल को तैयार किया गया है तथा उसकी क्षमता बढ़ाकर 50 लाख ई-वे बिल रोजना की गयी है। 

जीएसटी के तहत पचास हजार रुपये या इससे अधिक मूल्य के सामान की ढुलाई के लिए ई-वे बिल की जरूरत होती है। जो उत्पाद जीएसटी में छूट प्राप्त या शून्य प्रतिशत के स्लैब में हैं उनकी कीमत मूल्य के आँकलन में नहीं जोड़ी जायेगी। 

सड़क मार्ग से माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल पहले जेनरेट करना पड़ेगा जबकि रेल, वायु या जल मार्ग से ढुलाई के लिए यात्रा शुरू होने के बाद भी बिल जेनरेट किया जा सकेगा।

फिल्म 'जीरों' में इस हिरो के अपोजिट नजर आएगी कैटरीना कैफ

Katrina Kaif will be seen in the film zero

नई दिल्ली। बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ सिल्वर स्क्रीन पर अभय देओल के साथ रोमांस करती नजर आ सकती हैं। बॉलीवुड निर्देशक आनंद एल राय इन दिनों फिल्म 'जीरो' बना रहे हैं। फिल्म में शाहरुख खान, कैटरीना कैफ और अनुष्का शर्मा की मुख्य भूमिका है। लंबे समय बाद 'जब तक है जान' की तिकड़ी बड़े पर्दे पर दिखाई देगी।

कहा जा रहा है कि कैटरीना इस फिल्म में शाहरुख के साथ रोमांस नहीं करेंगी। फिल्म में कैटरीना के अपोजिट अभय देओल होंगे। कैटरीना फिल्म में एल्कोहलिक बनी हैं। एल्कोहलिक होने की वजह से उनकी जिंदगी में कई मुश्किलें आती हैं। वहीं, अनुष्का एक स्ट्रगलिंग साइंटिस्ट बनी हैं। शाहरुख वर्टिकली चैलेंज्ड शख्स के रोल में दिखेंगे। इस तरह से फिल्म में तीनों ही एक्टर्स का रोल चैलेंजिंग है।

कैटरीना ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा, शुरुआत में, मैं फिल्म में अपना ही रोल अदा करने वाली थी। फिल्म का नाम कैटरीना मेरी जान था। इसमें पहले दूसरे एक्टर्स थे और शाहरुख सर इसका हिस्सा नहीं थे। आनंद एल राय की इस फिल्म में शाहरुख पहली बार एक वर्टिकली चैलेंज्ड शख्स के किरदार में हैं।

कैटरीना ने कहा कि शाहरुख सर इंडस्ट्री के बेस्ट एक्टर्स में से एक हैं। उनकी एनर्जी और पैशन कमाल का है। सेट पर उनके साथ होना शानदार होता है। आनंद सर बहुत अच्छे हैं। वो एक्टर के तौर पर आपकी बहुत मदद करते हैं। आपको उनसे बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

 

 

 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.