हिंदू विवाह कानून के तहत एक ट्रांससेक्सुअल महिला भी दुल्हन : उच्च न्यायालय

Samachar Jagat | Tuesday, 23 Apr 2019 05:58:42 PM
Transwoman Also A Bride Under Hindu Marriage Act: Madras High Court

मदुरै। मद्रास उच्च न्यायालय की एक पीठ ने यहां एक महत्त्वपूर्ण निर्णय में कहा कि हिंदू विवाह कानून के मुताबिक एक ट्रांससेक्सुअल (पारलिंगी) भी दुल्हन है और यह परिभाषा नहीं कि केवल एक महिला के संदर्भ में ही हो। न्यायमूर्ति जी आर स्वीमानाथन ने एक पुरुष एवं एक ट्रांसवीमैन की तरफ से दायर याचिका पर यह फैसला दिया।

Rawat Public School

गौतम गंभीर ने नामांकन से पहले किया रोड शो, कहा- देश और समाज की सेवा करना चाहते है

याचिकाकर्ताओं ने अदालत का रुख तब किया जब अधिकारियों ने गत वर्ष अक्टूबर में तूतीकोरिन में हुई उनकी शादी को पंजीकृत करने से इनकार कर दिया था। याचिका पर सोमवार को सुनवाई करते हुए उन्होंने पंजीकरण विभाग के अधिकारियों को याचिकाकर्ताओं की शादी पंजीकृत करने का निर्देश दिया।

लोकसभा चुनाव: यादव परिवार ने साथ मिलकर डाला वोट, शिवपाल ने किया किनारा

न्यायमूर्ति स्वामीनाथन ने ट्रांसजेंडर (किन्नर) लोगों की दशा पर चिंता जताते हुए कहा कि उनको कलंक मान लिया जाता है तथा उन्हें अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ता है। उन्होंने तमिलनाडु सरकार को अंतर लैंगिक शिशुओं एवं बच्चों पर लिग पुनर्निर्धारण सर्जरी करने को प्रतिबंधित करने के निर्देश दिए। 
महाभारत एवं रामायण जैसे ग्रंथों के साथ-साथ उच्चतम न्यायालय के फैसलों का हवाला देते हुए न्यायाधीश ने कहा कि दुल्हन शब्द का स्थिर या अपरिवर्तनीय अर्थ नहीं हो सकता और इसमें ट्रांसवीमैन को शामिल करना होगा।

मतदान के दिन अपने ट्वीट पर फंसे राहुल गांधी, आचार संहिता का उल्लंघन करने का लगा आरोप

रणवीर सिंह को नहीं बल्कि पहले इस एक्टर को ऑफर हुई थी कपिल देव की बायोपिक

फिल्म 'भारत' के ट्रेलर से इसलिए गायब हुई तब्बू, यह है बड़ी वजह



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.