केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुजरात में राज्य सभा उपचुनाव के लिए भरा नामांकन, जीत तय

Samachar Jagat | Tuesday, 25 Jun 2019 02:03:03 PM
Union Minister of External Affairs S. Jaishankar filled nomination for Rajya Sabha by-election in Gujarat

गांधीनगर। सत्तारूढ बीजेपी के प्रत्याशी के तौर पर केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर और जुगल ठाकोर ने दो मंत्रियों अमित शाह तथा स्मृति ईरानी के लोकसभा में चयन की वजह से रिक्त हुई गुजरात की दो राज्यसभा सीटों होने वाले उपचुनाव के लिए आज नामांकन पत्र भरे।

Rawat Public School

इन सीटों पर जरूरत पड़ने पर एक ही तिथि पांच जुलाई को अलग अलग मतदान होने के कारण दोनो भाजपा प्रत्याशियों की जीत पक्की है। विधानसभा के उप सचिव तथा निर्वाचन अधिकारी सी बी पंडया को जब दोनो प्रत्याशियों ने नामांकन के पर्चे सौंपे तो उस समय मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जीतू वाघाणी और कई मंत्री भी उपस्थित थे।

नामांकन के बाद जयशंकर ने पत्रकारों से कहा कि वह गुजरात की प्रगति में योगदान का पूरा प्रयास करते रहेंगे। महात्मा गांधी, सरदार पटेल तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री शाह के गृह राज्य गुजरात से राज्यसभा में प्रतिनिधित्व का मौका मिलना उनके लिए गर्व की बात है। उन्हें प्रत्याशी बनाने के लिए वह पार्टी के आभारी हैं।

ज्ञातव्य है कि विदेश सचिव पद से सेवानिवृत्त होने वाले जयशंकर को मोदी ने अपनी सरकार में विदेश मंत्री बनाया है। उन्होंने कल ही विधिवत भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। दूसरी ओर उत्तर गुजरात के युवा नेता जुगल ठाकोर, जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मां हीरा बा के नाम से एक फाउंडेशन चला कर समाज सेवा से जुड़े रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पर जाति की राजनीति करने का आरोप लगाया।

ज्ञातव्य है कि आज नामांकन की अंतिम तिथि है। अलग अलग चुनाव करने के खिलाफ कांग्रेस की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर अदालत ने आज ही हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया। कांग्रेस ने अब तक अपने प्रत्याशी नहीं उतारे हैं और समझा जाता है कि चुनाव के बाद फिर से इसे चुनौती देने का मन बना चुकी पार्टी संभवत: अपनी हार पक्की जान कर उम्मीदवार नहीं उतारेगी।

ऐसा करने का समय आज दोपहर बाद तीन बजे समाप्त हो जाएगा। ज्ञातव्य है कि इन सीटों पर अलग अलग चुनाव के विरोध में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। विधानसभा के अंकगणित को देखते हुए अलग अलग चुनाव होने पर दोनो सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों की जीत निश्चित है।

उधर चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया है कि प्रत्येक सदन जिसमें राज्यसभा भी शामिल है, के प्रत्येक रिक्त सीट के लिए अलग उपचुनाव का प्रावधान है और इसी के तहत ऐसा कराया जा रहा है। ज्ञातव्य है कि अगस्त 2017 में हुए राज्यसभा चुनाव में शाह और ईरानी की जीत हुई थी। उस दौरान एक अन्य सीट पर नाटकीय घटनाक्रम और कशमकश के बीच कांग्रेस प्रत्याशी अहमद पटेल नजदीकी अंतर से जीते थे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.