पंजाब जेल में बंद ब्रितानी सिख पर प्रधानमंत्री से दखल करने का आग्रह

Samachar Jagat | Wednesday, 04 Jul 2018 02:53:39 PM
Urges British Prime Minister to intervene in  British Sikh locked in Punjab jail

लंदन। ब्रिटेन में भारतवंशी सांसदों ने ब्रिटेन की प्रधानमंत्री से पंजाब की जेल में बंद एक ब्रितानी सिख पर यातना के आरोपों पर ‘ उच्च स्तरीय ’ दखल देने का आग्रह किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ब्रिटेन में भारतवंशी सांसदों समेत कम से कम 70 सांसदों ने प्रधानमंत्री टेरीजा मे से हत्या मामले में पंजाब की जेल में बंद एक ब्रितानी सिख पर यातना के आरोपों पर दखल देने का आग्रह करते हुए कहा है कि जगतार सिंह जोहाल स्कॉटलैंड के डम्बार्टन के रहने वाले हैं।

मास्को में 11 जुलाई को मिलेंगे पुतिन और नेतन्याहू: इजरायल

भारतीय अधिकारियों ने पिछले साल नवंबर में उसे गिरफ्तार किया था। उस पर पंजाब में साम्प्रदायिक अशांति को हवा देने का आरोप है।  ब्रिटेन में सिख समूहों ने 31 वर्षीय आरोपी के लिए ‘ फ्री जग्गी ’ नामक एक अभियान शुरू किया है।

यह मुद्दा हाउस ऑफ कॉमंस में भी उठाया गया है। नए प्रयासों के तहत ऑल पार्टी पर्लियामेंट्री ग्रुप (एपीपीजी) फॉर ब्रिटिश सिख्स ने एक पत्र पर 70 से अधिक सांसदों के हस्ताक्षर लिए हैं।

इस पत्र में भारत में जोहाल को हिरासत में लिए जाने पर विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन से संसदीय बयान देने की मांग की गई है। लेबर पार्टी की सांसद एवं एपीपीजी फॉर ब्रिटिश सिख की अध्यक्ष प्रीत कौर गिल ने दो जुलाई को डाउनिंग स्ट्रीट को लिखे अपने पत्र में कहा है कि जोहाल का आरोप है कि भारतीय सुरक्षा बल के हाथों उन्हें प्रताडि़त किया जा रहा है।

पाकिस्तान में ईधन महंगा, पेट्रोल 100 रुपए, डीजल 119 रुपए प्रति लीटर

उन्हें हर दिन लगातार कई बार यातना दी जा रही है। बिजली के झटके दिए जा रहे हैं। स्कॉटलैंड में जन्में जोहाल अक्टूबर में एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए अपने परिवार के साथ जालंधर गए थे, तभी सादा वर्दी में शहर के पुलिस अधिकारियों ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

पंजाब सरकार का दावा है कि जोहाल उन चार संदिग्धों में से एक हैं जिन्हें राज्य में हिंदू नेता की हत्या के सम्बंध में गिरफ्तार किया गया।  पिछले साल जनवरी में गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू के ब्रिटेन दौरे पर भी मंत्री स्तर पर यह मुद्दा उठाया गया था।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.