उत्तराखंड: बाघों की मौत को लेकर नैनीताल उच्च न्यायालय सख्त, दिए CBI जांच के आदेश

Samachar Jagat | Thursday, 06 Sep 2018 03:33:58 PM
Uttarakhand: Nainital High Court strict on death of tigers

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल उच्च न्यायालय ने जिम कॉर्बट नेशनल पार्क में बाघों और तेंदुओं की मौत के मामले में संज्ञान लेते हुए मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, साथ ही वन अधिकारियों की संपत्ति की जांच के लिए ईडी  को आदेश दिया है।

इतना हीं नहीं अदालत ने पुलिस को भी आदेश दिया है कि वो 3 माह के अंदर शिकारियों को पकड़े। आपको बता दें कि जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में लगातार बाघों और तेंदुओं की मौत हो रही है। यहां गत ढाई वर्ष में करीब 40 बाघों और करीब 272 तेंदुओं की मौत हो चुकी है।

ऐसे में अदालत ने इसे रेरेस्ट ऑफ रेयर की कैटेगरी में बताते हुए सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। नैनीताल जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में लगातार हो रही बाघों की मौत के मामले में उच्च न्यायालय से यह बड़ा आदेश आया है। विभागीय अधिकारियों की सहायता से शिकारियों द्वारा इनका अवैध शिकार किया गया है, जिसके बाद से उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर कर इस पूरे मामले की जांच कराने की मांग की गई थी।

इस याचिका पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को नैनीताल उच्च न्यायालय ने बड़ा आदेश पारित करते हुए सीबीआई को जांच का जिम्मा सौंपा और ईडी को जांच के निर्देश जारी किए है।

वहीं, मामले में दायर उक्त याचिका में अन्य बिन्दुओं पर भी उच्च न्यायालय ने कई आदेश पारित करते हुए सख्त निर्देश जारी किए है, जिसमें भारत सरकार की अधिसूचना के तहत कॉर्बेट पार्क के ढिकाला जोन में  जिप्सी के प्रवेश पर रोक लगाते हुए, बस और टूरिस्ट कैंटर के जरिए पर्यटकों को सैर कराने का आदेश दिया है।

परस्पर सहमति से अप्राकृतिक यौन संबंध अपराध नहीं, धारा 377 समता के अधिकार का उल्लंघन : न्यायालय

अगर पाकिस्तान आतंकवाद रोकता है तो हम भी 'नीरज चोपड़ा’ की तरफ व्यवहार करेंगे: सेना प्रमुख

भारत बंद का उत्तर प्रदेश में मिलाजुला असर

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.