वाजपेयी का अंतिम संस्कार : पाकिस्तान सहित दक्षेस देशों के नेताओं ने दी विदाई

Samachar Jagat | Friday, 17 Aug 2018 08:18:18 PM
Vajpayee's funeral

नई दिल्ली। अटल बिहारी वाजपेयी ने 15 वर्ष पहले कहा था कि ''आप दोस्त बदल सकते हैं पड़ोसी नहीं’’ और पड़ोसी देशों के साथ उनकी सौहार्दता की झलक तब मिली जब पाकिस्तान समेत दक्षेस देशों के नेता उनके अंतिम संस्कार में उपस्थित हुए। भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक, पाकिस्तान के कानून मंत्री अली जाफर, नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली, बांग्लादेश के विदेश मंत्री अबुल हसन महमूद अली और श्रीलंका के कार्यवाहक विदेश मंत्री लक्ष्मण किरीला समेत कई विदेशी हस्तियों ने यहां वाजपेयी के अंतिम संस्कार के दौरान अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

कोर्ट ने कहा, दिल्ली में ठोस कचरे का मसला एक गंभीर समस्या, उपराज्यपाल से समिति गठित करने का आग्रह

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने भी वाजपेयी को मध्य दिल्ली के स्मृति स्थल पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। कई देशों के राजनयिक भी लोकप्रिय नेता के अंतिम संस्कार में शामिल हुए। वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्य ने ''अटल बिहारी अमर रहें’’ के नारों के बीच उन्हें मुखाग्नि दी। पूर्व पीएम ने हमेशा पाकिस्तान समेत पड़ोसी देशों के साथ अच्छे रिश्ते बनाने के प्रयास किए।

वाजपेयी ने 2003 में संसद के अंदर कहा था, ''आप दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं। वाजपेयी के निधन की खबर कल शाम को फैलते ही दुनिया भर से संवेदना संदेश आने लगे। पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान ने वाजपेयी के निधन पर संवेदना जताते हुए कहा कि भारत-पाक शांति के लिए उनके प्रयासों को हमेशा याद किया जाएगा।

महान शख्सियत अटल का देश सदैव रहेगा आभारी : दारूल उलूम

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भी वाजपेयी के निधन पर ''गहरा दुख’’ जताया और कहा कि वह हमारे महान मित्र थे और हमारे देश में उनका काफी सम्मान था। रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन, अमेरिका के विदेश मंत्री माइकल पॉम्पियो, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिघे, मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गयूम और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविद कुमार जगन्नाथ ने वाजपेयी के निधन पर शोक जताया।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.