वसुंधरा ने पेट्रोल, डीजल पर वैट घटाया, राजस्थान में ईंधन ढ़ाई रुपए प्रति लीटर तक सस्ता

Samachar Jagat | Monday, 10 Sep 2018 08:32:00 AM
Vasundhara reduced VAT on petrol, diesel, cheaper up to Rs 200 per liter in Rajasthan

जयपुर। राजस्थान सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित कर वैट को चार-चार प्रतिशत कम करने की घोषणा रविवार को की। इससे राज्य में पेट्रोल और डीजल ढाई रुपए प्रति लीटर तक सस्ता होगा। ये कमी रविवार को मध्यरात्रि से प्रभावी होगी।

मप्र विधानसभा चुनावी अखाड़े में उतरने के लिए तैयार हैं कंप्यूटर बाबा समेत कई संत, टिकट की भी ख्वाहिश

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपनी राजस्थान गौरव यात्रा के तहत हनुमानगढ़ के रावतसर कस्बे में एक सभा में पेट्रोलियम ईंधन सस्ता करने वाले इस निर्णय की घोषणा की। इसके तहत राज्य में वैट पेट्रोल पर 30 से घटाकर 26 प्रतिशत और डीजल पर 22 से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया है।

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि राज्य की आम जनता, किसानों व गृहिणियों को राहत देने के लिए राज्य सरकार ने यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि इससे सरकार को 2000 करोड़ रुपए के राजस्व की हानि होगी। राजे ने यह घोषणा ऐसे समय की है।

जबकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने पेट्रोल तथा डीजल के बढ़ते दाम के खिलाफ सोमवार को भारत बंद की घोषणा कर रखी है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राजे ने कहा कि कांग्रेस एक प्रभावी विपक्ष की भूमिका निभाने में विफल रही।

वहीं कांग्रेस के महासचिव तथा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री राजे का यह फैसला कांग्रेस के दबाव के चलते लेने को मजबूर हुई हैं। उनके अनुसार कांग्रेस के कल प्रस्तावित भारत बंद को मिल रहे जन समर्थन को देखते हुए राजे को दबाव में आकर पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करना पड़ा है।

उल्लेखनीय है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें रविवार को एक नए रिकॉर्ड पर पहुंच गईं। वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और रुपए में गिरावट से ईंधन की कीमतों में तेजी बनी हुई है। सरकारी ईंधन विपणन कंपनियों द्बारा जारी अधिसूचना के अनुसार रविवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 12 पैसे और डीजल की 10 पैसे प्रति लीटर बढ़ गई।

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले, कहा - भ्रष्टाचार का डूबता जहाज है कांग्रेस

दिल्ली में रविवार को पेट्रोल की कीमत 80.50 रुपए और डीजल की कीमत 72.61 रुपए प्रति लीटर हो गई। यह ईंधन की कीमत का नया उच्च स्तर है। सभी मेट्रो शहरों और अधिकतर राज्यों की राजधानी के मुकाबले दिल्ली में ईंधन की कीमत सबसे कम है।

ईंधन के दामों में उछाल की अहम वजह विभिन्न कारणों से कच्चे तेल के बाजार में लगातार तेजी और अमेरिकी डॉलर की रिकार्ड मजबूती है। इससे कुल मिला कर कच्चे तेल का आयात महंगा हुआ है। भारत को अपनी जरूरत का 80 प्रतिशत से अधिक तेल आयात करना होता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.