विश्व हिंदू कांग्रेस में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल होंगे RSS प्रमुख मोहन भागवत

Samachar Jagat | Tuesday, 04 Sep 2018 04:07:40 PM
Vishwa Hindu Congress will join RSS chief Mohan Bhagwat as chief speaker

वॉशिगटन। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत इस सप्ताह के अंत में शिकागो में आयोजित होने जा रहे विश्व हिदू कांग्रेस में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल होंगे। आयोजकों ने बताया कि इस सम्मेलन में दुनियाभर से कई हिंदू नेता शिरकत करेंगे।

7 सितंबर से 9 सितंबर तक आयोजित होने वाले विश्व हिदू कांग्रेस में 80 देशों से 2,500 से अधिक  प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। अपने संबोधन में भागवत इस सम्मेलन के थीम 'सुमनत्रिते सुविक्रांते’ (सामूहिक रूप से चिंतन करें, वीरतापूर्वक प्राप्त करें) पर जोर दे सकते हैं।

विश्व हिंदू कांग्रेस के आयोजकों में से एक और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के पूर्व छात्र स्वामी विज्ञानानंद ने एक सवाल के जवाब में पीटीआई को बताया कि आरएसएस प्रमुख दुनिया के विभिन्न हिस्सों में बसे हिदुओं के एकजुट होने और मानवता के हित में  एक ही तरह से सोचने की जरूरत पर जोर दे सकते हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि 'यह कोई धार्मिक सम्मेलन नहीं है।

विज्ञानानंद ने कहा कि विश्व हिदू कांग्रेस का मकसद हिदू समाज को एकजुट करना है और इसके साथ ही समाज के हितों का ख्याल रखना और दुनिया के अन्य वंचित, हाशिये पर रहने वाले समुदायों की मदद करना है। उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन न तो धार्मिक है और न ही दार्शनिक है।

सम्मेलन में समुदाय से जुड़े मुद्दों पर जोर दिया जाएगा। इसमें उन मुद्दों पर जोर दिया जाएगा जो आधुनिक समय में किसी भी समुदाय की प्रगति के लिए प्रासंगिक हैं। विज्ञानानंद ने कहा कि तीन दिवसीय सम्मेलन में 80 से ज्यादा देशों के 2,500 से ज्यादा प्रतिनिधि और 250 से ज्यादा वक्ता हिस्सा लेंगे।

इस सम्मेलन में आर्थिक, शैक्षणिक, मीडिया, सांगठनिक, राजनीतिक और महिलाओं एवं युवाओं से जुड़े मुद्दों पर सत्र का आयोजन होगा। इसमें वैश्विक हिंदू समुदाय के मूल्यों, रचनात्मकता एवं उद्यमी भावना को भी प्रदर्शित किया जाएगा।

विश्व हिंदू कांग्रेस के संयोजक अभय अस्थाना ने बताया कि ये सम्मेलन हिदुओं को आपस में  जोड़ने, विचारों का आदान-प्रदान करने, एक-दूसरे को प्रेरित करने का वैश्विक मंच है। अस्थाना विश्व हिदू परिषद की अमेरिका इकाई के भी अध्यक्ष हैं।

भागवत के अलावा तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा, श्री श्री रविशंकर, सूरीनाम के उप-राष्ट्रपति अश्विन अधीन, आरएसएस के संयुक्त सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले, एमआईटी के प्रोफ़ेसर एस पी कोठारी, मोहनदास पई, अनुपम खेर, राजू रेड्डी, स्वामी परमात्मानंद सरस्वती, चंद्रिका टंडन, प्रोफ़ेसर सुभाष काक भी सम्मेलन में वक्ता के तौर पर शिरकत कर सकते हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.