मैंने जब मोदी को गले लगाया तो मेरी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को यह नहीं आया पसंद: राहुल

Samachar Jagat | Thursday, 23 Aug 2018 09:06:17 AM
When I embraced Modi some members of my own party did not like it: Rahul

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि संसद में जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाया था तो उनकी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को यह पसंद नहीं आया था। जर्मनी के हैम्बर्ग में अपने संबोधन में गांधी ने यह भी कहा कि भारत में नौकरी की बड़ी समस्या है, लेकिन प्रधानमंत्री इसे नहीं देखना चाहते हैं।

राहुल ने लिंचिंग के लिए बेरोजगारी, नोटबंदी और जीएसटी को ठहराया जिम्मेदार 

उन्होंने कहा, कि समस्या का समाधान करने के लिये आपको उसे स्वीकार करना होगा। गांधी ने भारत और पिछले 70 वर्षों में उसकी प्रगति के बारे में भी बोला। संसद में पिछले महीने मोदी सरकार पर तीखे हमले करने के बाद प्रधानमंत्री को गले लगाने के वाकये का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा, जब संसद में मैंने प्रधनमंत्री मोदी को गले लगाया तो मेरी पार्टी के भीतर कुछ लोगों को यह पसंद नहीं आया।

केरल में बाढ़ राहत के लिए विदेशों से चंदा नहीं स्वीकार करेगा भारत 

गांधी ने अपने दिवंगत पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों के बारे में भी बोला। उन्होंने कहा, कि जब मैंने श्रीलंका में अपने पिता के हत्यारे को मृत पड़ा देखा तो मुझे अच्छा नहीं लगा। मैंने उसमें उसके रोते हुए बच्चों को देखा। लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) प्रमुख वी प्रभाकरण राजीव गांधी की हत्या के लिये जिम्मेदार था। उसे श्रीलंकाई सैनिकों ने 2009 में मार गिराया था।

देशभर में धार्मिक उत्साह के साथ मनाया गया कुर्बानी का त्योहार ईद उल जुहा 

वहीं इससे पहले राहुल गांधी ने दावा किया कि भारत में भीड़ द्वारा लोगों की पीट-पीटकर हत्या किए जाने की घटनाएं बेरोजगारी और सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा नोटबंदी एवं जीएसटी को 'खराब तरीके से लागू’ किए जाने से छोटे कारोबारों के 'चौपट’ हो जाने की वजह से उपजे 'गुस्से’ के कारण हो रही हैं। 

...जब वृद्धाश्रम में मिली मासूम अपनी दादी से, तो रह गई हक्की बक्की 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.