देश में बढ़ रहे यौन शोषण के मामले, सबके दिलों में एक ही बात क्या इस तरह से ही चलता रहेगा देश

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 05:01:13 PM
When will sexual harassment end in India

क्राइम डेस्क। देश में महिलाओं और नाबलिग बच्चियों के साथ यौन उत्पीडऩ के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे कई लोग समाज या फिर इस देश की आम सडक़ों में अपनी औछ़ी मानसिकता लिए घुमते रहते हैं और जैसे ही उन्हे एक मौका मिलता है वैसे ही वो अपनी इस औछी मानसिकता की भड़ास को किसी बेचारी बच्ची या फिर किसी महिला पर निकला देते हैं। वैसे कहा जाता है कि मासूम बच्चियां और महिलाए सबसे ज्यादा अपने घर में सुरक्षित रहती है, लेकिन इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं जिसमें बच्ची या फिर महिला के का यौन उत्पीडऩ करने वाला व्यक्ति या तो उसके घर का ही कोई सदस्य होता है या फिर कोई रिश्तेदार।

यौन उत्पीडऩ के लगातार बढ़ते मामलों को देखकर अक्सर मन में ये ही विचार आता है कि आखिर यौन उत्पीडऩ कब खत्म होगा, कब देश की बेटिया खुले में आजादी की सांस ले सकेंगी? लेकिन लगता है कि शायद इस सवाल का किसी के पास कोई जवाब नहीं है। क्योंकि चाहे अंधविश्वास कहों या फिर कुछ वहशियों की गंदी सोच, वो इस तरह के अपराधों को जब तक अंजाम देते रहेंगे जब तक देश में कोई ऐसा कड़ा कानून न बन जाएं जिसमें ऐसी छोटी मानसिकता वाले लोगों को कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान हो। जिसके बाद वो लोग जो इस तरह के कृत्य करने की सोचते हैं उनके मन में इस तरह का खौफ हो जाएं कि वो इस तरह के अपरान करने से न सिर्फ घबराने लगे बल्कि उनके मन में इस तरह के ख्याल तक नहीं आए। 


अभी फिल्हाल बाबाओं का अंधविश्वास लोगों के सिर पर चढ़ रहा है जिसके कारण वह इनका फायदा उठाते है और अपने ही आश्रम में आने वाली महिलाओं और बच्चियों के साथ यौन उत्पीडऩ जैसे घिनौने कृत्य को अंजाम देते हैं। चाहे आसाराम बापू की बात करें या फिर राम रहिम जिन्होंने न सिर्फ अपने अंधे भक्तों का फायदा उठाया बल्कि उनकी इज्जत के साथ भी उन्होंने कुछ ऐसा किया जिसकी सजा आज वो जेल में कैद होकर भुगत रहे हैं। अभी ताजा मामला सामने आया है शनिधाम के दाती महाराज का। दाती महाराज और उसके कुछ गुर्गों पर उसकी शिष्या ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। इसके मामले के सामने आने के बाद एक बार फिर साफ हो गया है कुछ लोग अपने गलत इरादों को पूरा करने के लिए भगवान का सहारा लेने से भी पिछे नहीं हटते। 

महिला आएएस के साथ भी हुआ यौन शोषण: अभी हाल ही में एक महिला आईएएस अधिकारी को भी यौन शोषण का शिकार होना पड़ा है। यहां उसके ही एक वरिष्ठ अधिकारी ने उसके साथ यौन शोषण किया। इस संबंध में महिला आईएएस ने वरिष्ठ अधिकारी के विरुध मामला दर्ज कराया है जिसकी जांच पुलिस कर रही है। जानकारी के अनुसार हरियाणा सरकार के पशुपालन विभाग के वरिष्ठ अफसर पर एक महिला आईएएस अधिकारी ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। गाजियाबाद में महिला अधिकारी ने मीडिया से कहा कि वरिष्ठ अफसर द्वारा छह जून को कंप्यूटर कार्य के बहाने अपने दफ्तर में बुलाया गया और फाइलों के नोटिंग आदि के बहाने करीब दो घंटे रोककर शोषण किया। हालांकि अतिरिक्त मुख्य सचिव ने महिला अधिकारी द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया है।

लेकिन फिर भी जब एक पढ़े लिखे समाज में इस तरह के मामले सामने आते हैं तो कही न कही मन में ये सोच जरूर आती है कि आखिर समाज और देश में हो क्या रहा है। जिस देश में एक मां को पूजा जाता है, जहां बेटियो को बढ़ाने के जुमले समाज के सामने रखे जाते हैं उसी देश में बेटियों और महिलाओं के साथ इस तरह की घटनाए होना न सिफ अपने लिए बल्कि पूरे देश को शर्मसार करने वाली बात है। लेकिन अब समय आ गया है कि इसके लिए हमे आवाज उठाने का और लोगों की सोच और मानसिकता को बदलने का। देश में इतने बड़े बदलाव के लिए कही न कही से तो शुरूआत करनी होगी। हालांकि सरकार द्वारा 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी को फांसी की सजा देने का प्रावधान तैयार है लेकिन फिर भी बच्चियों के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं के साथ भी होने वाली इस तरह की यौन शोषण की घटनाओं पर प्रभावी रूप से रोक लगाने के लिए देश को इससे भी बड़े और कड़े कानून की आवश्यकता है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.