ऐसे होती थी महिलाएं राम रहीम की बदनीयति का शिकार, डेरे में रह रहे साधुओं को कराना पड़ता था ये काम

Samachar Jagat | Wednesday, 09 Jan 2019 01:18:55 PM
Women were victims of Ram Rahims Bad intentions

इंटरनेट डेस्क। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह इन्साँ को 25 अगस्त 2017 को पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने रेप केस में दोषी करार दिया और 28 अगस्त 2017 को न्यायालय ने उसे 20 साल जेल व 30 लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम को उनके खिलाफ दो बलात्कार के मामलों में 20 साल की जेल की सजा दी। कुछ मामलों में जहां राम रहीम को सजा मिल चुकी है वहीं कुछ मामले लंबित हैं। राम रहीम ने जहां एक ओर धर्म का लिबाज ओढ़कर लोगों को अपने वश में कर रखा था वहीं उसका असली चेहरा कुछ और था, ये सब होता था राम रहीम के डेरे में.................

कांग्रेस सहित सभी दल ‘बड़े दिल के साथ सामान्य वर्ग के गरीबों के आरक्षण संबंधी विधेयक का समर्थन करें : जेटली

journalist massacre ram rahim will now hear judgment from video conferencing on 11 january

दुष्कर्मी बाबा से बचने के लिए ये बहाने बनाती थीं साध्वियां :-

खबरों के अनुसार, राम रहीम को लेकर एक पीड़िता साध्वी ने बताया था कि बाबा अपनी सेवा में कम से कम 200 के करीब साध्वियां रखता था और उनके आस पास किसी और को नहीं आने देता था, इसके साथ ही वह अपनी मनपसंद लड़कियों को रोज रात अपनी गुफा में बुलाता था। साध्वी का कहना था की गुफा के अंदर जाने वाली लड़कियों को डराया जाता था, साध्वी ने यह भी बताया था कि राम रहीम का शिकार होने से बचने के लिए साध्वियां अक्सर पीरियड्स का बहाना बनाती थीं।

जब मॉडल मरीना कुंवर फंसी बाबा के जाल में :-

मॉडल और अभिनेत्री मरीना कुंवर ने राम रहीम के बारे में कई चौंका देने वाले खुलासे किए। अभिनेत्री ने आरोप लगाए कि बाबा ने फिल्म का ऑफर दिया था और उन्हें गले भी लगाया था और इतना ही नहीं, वह मरीना को अपने बेडरूम तक भी ले गया था। राम रहीम के बारे में मरीना ने यहां तक कहा कि वह नशे का आदि था और कोकिन इत्यादि ड्रग्स भी लेता था। वो हमेशा बात करते हुए सिर पर हाथ फिराता था और बहुत ही गंदे तरीके से देखता था।

सामान्य वर्ग के गरीबों को आरक्षण संबंधी विधेयक को संविधान की नौवीं अनुसूची में डाला जाए: पासवान

डेरा के साधुओं को नपुंसक बनाने का आरोप :-

फ़तेहाबाद के एक व्यक्ति ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर डेरा सच्चा सौदा प्रमुख पर डेरा के 400 साधुओं को नपुंसक बनाए जाने के आरोप लगाया। जब इस मामले की सच्चाई का पता लगाया गया तो ये जानकर सभी के होश उड़ गए कि राम रहीम डेरा के साधुओं को नपुंसक बनाता था और अधिकतर साधु अपनी इच्छा से रामरहीम के इस आदेश का पालन करते थे।

सवर्ण आरक्षण: लोकसभा में मिला मोदी सरकार को समर्थन, आज होगी राज्यसभा में अग्नि परीक्षा

गौरतलब है कि साध्वियों से दुष्कर्म के मामले का खुलासा करने वाले रामचंद्र छत्रपति की 21 नवंबर, 2002 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। छत्रपति ने अपने सांध्यकालीन समाचार पत्र में अनाम साध्वी का पत्र प्रकाशित किया था और पूरे मामले का खुलासा किया था। इस मामले में 2003 में एफआइआर दर्ज हुई थी और 2006 में मामला सीबीआइ के सुपुर्द किया गया था। इन साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में ही गुरमीत राम रहीम सुनारिया जेल में 20 वर्ष कैद की सजा काट रहा है। पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड के मुख्य आरोपी राम रहीम को 11 जनवरी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया जाएगा और इस मामले में ​अंतिम फैसला सुनाया जा सकता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.