इस जगह स्नान,दर्शन करने से पितृ ऋण से विमुक्त हो जाता है इंसान

Samachar Jagat | Friday, 06 Sep 2019 03:26:30 PM
Bathing, darshan at this place frees a person from the pitiful debt

इंटरनेट डेस्क  बिहार का गया जिला विश्व प्रसिद्ध जगहों में से एक जगहों में माना जाता है।यहा पर देश-विदेश से लोग अपने पितरों को पिंडदान करने के लिए आते है और फल्गू नदी में स्नान करने के बाद भगवान विष्णु के दर्शन करते है।


loading...

 

महाभारत के अनुसार, भादो महीने के पितृपक्ष में फल्गु नदी में स्नान करके जो भी गया में भगवान विष्णु का दर्शन करता है, वह पितृ ऋण से विमुक्त हो जाता है। मान्यता के अनुसार, भगवान विष्णु यहां पर पितृ देवता के रूप में मौजूद हैं। इसी कारण इसे मोक्ष की भूमि भी कहा जाता है। गया में पिंडदान करने से पूर्वजों को मोक्ष मिल जाता है और वे स्वर्ग में निवास करने के उत्तराधिकारी हो जाते है।

 

वैसे तो हमारे देश में पितृपक्ष में पिंडदान कई जगहों पर किया जाता है लेकिन बिहार के गया में पिंडदान का अलग ही महत्व है। गया में पिंडदान करने की प्रथा कई युगों से चली आ रही है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान राम और देवी सीता ने भी राजा दशरथ की आत्मा की शांति के लिए गया में ही पिंडदान किया था।। इस बार पितृ पक्ष 13 सितंबर से शुरू हो कर 28 सितंबर  को समाप्त हो जाएगी।  



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.