गूगल ने डूडल बना नृत्यांगना मृणालिनी को किया याद

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 11:44:09 AM
Google remembered dancer Mrinalini Sarabhai by making doodle

नई दिल्ली। शास्त्रीय नृत्यांगना और पद्म भूषण से सम्मानित मृणालिनी साराभाई की 100वीं वर्षगांठ पर सर्च इंजन गूगल ने डूडल बना विश्व को एकबार फिर उनकी याद दिलाई। डूडल में मृणालिनी छतरी पकड़े और पृष्ठभूमि में कुछ नृत्यांगनाएं नृत्य करती नजर आ रही हैं। मृणालिनी का जन्म 11 मई 1948 को केरल में हुआ था।

जियो का नया पोस्टपैड प्लान, 199 रुपये में 25 जीबी डेटा

उन्होंने अपनी नृत्य कला की शुरुआत स्विट्जरलैंड से की जहां डैलक्रूज स्कूल में वह नृत्य की पश्चिमी तकनीक से वाकिफ हुईं। इसके बाद वह शिक्षा प्राप्त करने शांतिनिकेतन गईं जहां रबींद्रनाथ टैगोर की छत्रछाया में उन्होंने अपने जीवन का मतलब समझा।

हाथों की रचना की साफ तस्वीरें ले सकता है एमआरआई दस्ताना

वह थोड़े समय के लिए 'अमेरिकन एकेडमी ऑफ ड्रामैटिक आर्ट्स' भी गईं और वापस लौटने पर मीनाक्षी सुंदरम पिल्लई से दक्षिण भारतीय शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम, गुरू ठकाजी कुंजु कुरूप से कथकली और अमूबी सिंह से मणिपुरी के गुर सीखे। अपनी ऑटोबायोग्राफी 'द वायस ऑफ हार्ट' में मृणालिनी ने खुलासा किया है कि पांच साल की उम्र में ही उन्होंने अपनी मां से कह दिया था कि ''मैं एक डांसर हूं।" 

उन्होंने देश और विदेश दोनों में अपने नृत्य से लोगों का दिल जीता और उनकी इस लोकप्रियता का ही नतीजा है कि सर्च इंजन ने उन्हें डूडल बना याद किया है। मृणालिनी ने भारतीय भौतिक विज्ञानी विक्रम साराभाई से विवाह, किया जिन्हें भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का जनक माना जाता है। उनका एक बेटा काॢतकेय साराभाई और एक बेटी मलिका साराभाई है।

विकलांगों के लिए कृत्रिम समझ आधारित समाधान पर ढाई करोड़ डॉलर खर्च करेगी माइक्रोसॉफ्ट

इस चिप से मिनटों में कोकिन के सेवन का पता चल जाएगा

डेटा लीक घोटाला: फेसबुक ने प्रबंधन में किया अहम फेरबदल



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.