2563 वीं भगवान बुद्ध जयंती: आज का दिन बौद्ध धर्मावलंबियों के लिए सबसे पवित्र दिन  

Samachar Jagat | Saturday, 18 May 2019 11:52:27 AM
Lord Buddha Jayanti

गया। बिहार में भगवान बुद्ध की पावन ज्ञान भूमि बोधगया में आज 2563 वीं बुद्ध जयंती मनाई गई। अखिल भारतीय बौद्ध भिक्षु संघ के सचिव भंते प्रज्ञादीप ने यहां बताया कि बुद्ध जयंती को लेकर बोधगया स्थित भगवान बुद्ध की 80 फीट की विशाल प्रतिमा के निकट से एक भव्य शोभायात्रा निकाली गई जो बोधगया के विभिन्न मार्गो से होते हुए विश्व धरोहर महाबोधि मंदिर तक पहुंची।

Rawat Public School

शोभायात्रा में शामिल श्रद्धालुओं ने मंदिर के गर्भ गृह में विशेष पूजा-अर्चना की और पवित्र बोधिवृक्ष के नीचे ध्यान लगाया। 
प्रज्ञादीप ने बताया कि इस शोभायात्रा में विश्व के कई देशों के धर्मगुरु, लामा और स्कूली बच्चें शामिल हुए। शोभायात्रा में नेपाल, श्रीलंका, जापान, भूटान और भारत समेत विश्व के कई देशों के बौद्ध धर्म गुरु एवं श्रद्धालु शामिल हुए।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में शामिल श्रद्धालु आज भगवान बुद्ध की 2563वी त्रिविध जयंती मना रहे हैं। सचिव ने बताया कि त्रिविध जयंती का मतलब है कि आज ही के दिन भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था और आज ही के दिन उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई एवं आज ही के दिन उनका महापरिनिर्वाण अर्थात मृत्यु हुई थी। ऐसा संयोग सिर्फ केवल महापुरुषों के साथ होता है।

प्रज्ञादीप ने बताया कि भगवान बुद्ध के जीवन काल पर आधारित कई घटनाओं को आज के दिन कार्यक्रम के माध्यम से दिखाया जाएगा। इसके साथ ही धर्म गुरुओं द्बारा साधना की जाएगी। उन्होंने कहा कि आज भी भगवान बुद्ध के उपदेश प्रासंगिक है। भगवान बुद्ध ने बोधगया में ज्ञान की प्राप्ति कर पूरी दुनिया को सत्य, अहिंसा, प्रेम, करुणा , मैत्री और भाईचारा का संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि आज का दिन बौद्ध धर्मावलंबियों ने के लिए सबसे पवित्र दिन है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.