गर्मियों में पर्यटकों को सबसे ज्यादा पसंद आता है 'पहाड़ों की रानी’ शिमला

Samachar Jagat | Sunday, 19 May 2019 12:34:14 PM
Shimla likes tourists in summer

शिमला। गर्मियों के मौसम में देश-विदेश के पर्यटकों का पसंदीदा स्थल तथा हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला अब यहां आने वाले हर पर्यटक के स्वागत के लिए तैयार है। राज्य के मुख्य सचिव बी. के. अग्रवाल ने बताया कि 'पहाड़ों की रानी’ के नाम से मशहूर शिमला में स्थानीय प्रशासन ने पर्यटन क्षेत्र के पक्षधारकों के साथ मिलकर सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली हैं। उन्होंने शहर में जलापूर्ति की समीक्षा करते हुए कहा कि यहां के निवासियों को प्रतिदिन पानी की पर्याप्त आपूर्ति की जा रही है। इस वर्ष जल प्रबंधन निगम लिमिटेड (एसजेपीएनएल) शिमला के लिए प्रतिदिन 45 से 50 एमएलडी पानी उठा रहा है जो गत वर्ष मई महीने के 28 एमएलडी की तुलना में स्थानीय निवासियों और पर्यटकों की मांग को पूरा करने के लिए पर्याप्त है। 

भगवान शिव के इस मंदिर को बनने में लगा था मात्र एक रात का समय, यहां पूजा करने से डरते हैं लोग

अग्रवाल के अनुसार सप्ताहांत पर यहां पर्यटकों के ज्यादा संख्या में आने के मद्देनजर पानी की मात्रा बढ़ाकर 55 से 60 एमएलडी की जा रही है ताकि पर्यटकों को पर्याप्त पानी मिल सके। उन्होंने कहा कि जलापूर्ति में वृद्धि पुराने पम्पों को बदलकर उच्च क्षमता वाले पम्प लगाने तथा बेहतर फिल्टरेशन प्रणाली स्थापित करने के कारण ही संभव हुई है। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव(पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन) राम सुभग सिंह ने कहा कि सरकार ने इस पर्यटन सीजन के लिए पर्यटकों की सुविधार्थ कई सकारात्मक कदम उठाए हैं जिसमें पानी, पार्किंग, यातायात प्रबंधन आदि की समस्याओं से निपटने के लिए प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने बताया कि शिमला के अलावा कुफरी, मशोबरा, नालदेहरा, चायल जैसे आसपास के सैरगाह पर्यटकों के स्वागत के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

भारतीय सेना ने ट्वीट कर दिया हिममानव येती के होने का सबूत, इन तस्वीरों को देखकर आपको भी हो जाएगा यकीन

उन्होंने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए शिमला में अब 1000 से अधिक वाहनों के लिए नए पार्किंग स्थल का निर्माण किया है। इसके अलावा कार्ट रोड से मॉल रोड तक जाने वाली एचपीटीडीसी की लिफ्ट पर्यटक सीजन के दौरान रात 11:30 बजे तक कार्य करेगी। सिंह ने बताया कि पर्यटकों के आकर्षण के लिए नियमित रूप से सेना, पुलिस, होमगार्ड बैंड और निजी बैंड तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन रिज, मॉल रोड और अन्य चयनित स्थानों पर किया जाएगा। इस दौरान अतिरिक्त पुलिसकर्मी भी तैनात किए जाएंगे ताकि वे शहर में आने वाले पर्यटकों का मार्गदर्शन कर सकें। -एजेंसी

आदिम मानव का पहाड़ों पर जीवन बसर करने का पुरातन इतिहास रहा है : अध्ययन



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.