अध्ययन: स्मार्टफोन के अधिक उपयोग से बढ़ रहा है किशोरों में आत्महत्या का खतरा

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 09:21:08 AM
study use of smartphones increase suicide risk in teens

इंटरनेट डेस्क। टेक्नोलॉजी के वर्तमान युग में स्मार्टफोन हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया है। हर उम्र के लोगो में स्मार्टफोन का चलन बहुत बढ़ गया है। लेकिन हाल ही में किये गए एक नए अध्ययन से पता चला है कि जो किशोर स्मार्टफोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन पर अधिक समय बिताते हैं, वे ही अधिक उदास महसूस करने लगते है और उनमे आत्महत्या प्रयास की दर भी अधिक होती है।

सबसे प्राचीन लातिन बाइबिल 1300 साल बाद लौटेगा ब्रिटेन

इस अध्ययन के सह लेखक और यूएस में फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर थॉमस जोनेर ने कहा कि "इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की स्क्रीन के सामने बिताया गया समय अवसाद और आत्महत्या के लिए वर्तमान समय का जोखिम कारक बन गया है।

अध्ययन: चीज का सेवन करने से दिल के दौरे का खतरा हो सकता है कम

क्लिनिकल साइकोलॉजिकल साइंस की जर्नल में प्रकाशित अध्ययन में इस बात का पता चला है कि जिन लोगों ने स्मार्टफोन पर ध्यान देने के बजाय खेल और व्यायाम जैसी गैर-स्क्रीन गतिविधियों पर अधिक ध्यान दिया, अपने दोस्तों से आमने सामने बात की और होमवर्क करने में अपना समय व्यतीत किया, वे लोग अधिक खुश थे।

जॉइनर ने कहा कि "स्क्रीन के सामने बिताया गया अधिक समय और आत्महत्या, अवसाद, और आत्मघाती के प्रयास से मौत के जोखिम के बीच एक गहरा संबंध है।" जॉइनर के अनुसार ये सभी मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं बहुत गंभीर हैं और माता-पिता को इन पर ध्यान देना चाहिए।

वैज्ञानिकों का दावा - समुद्री स्पंज थे हमारे सबसे पुराने पूर्वज

इस अध्ययन के अनुसार जो किशोर एक दिन में 5 घंटे से ज्यादा स्मार्टफोन का उपयोग करते है उनमे से लगभग 48 प्रतिशत किशोरों में आत्महत्या से संबंधित व्यवहार के संकेत मिले थे।

इस अध्ययन के शोधकर्ताओ के अनुसार बच्चों से उनका स्मार्टफोन और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स लेने इस समस्या का हल नहीं है। इसके लिए माता पिता को अपने बच्चे द्वारा स्क्रीन के सामने बिताये जाने वाले समय की सीमा निर्धारित करनी होगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.