शिक्षक दिवस: डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के 10 अनमोल विचार

Samachar Jagat | Thursday, 05 Sep 2019 02:53:45 PM
Teacher's Day: 10 precious thoughts of Dr. Sarvepalli Radhakrishnan

इंटरनेट डेस्क। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती बडे़ हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है। शिक्षक दिवस पर शिष्य अपने शिक्षक का सम्मान करते है। प्रतिवर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस धूमधाम के साथ मनाया जाता है। शिक्षक दिवस के अवसर पर सांस्कृतिक और सम्मान समारोहों जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।


loading...

डाॅ. राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान दार्शनिक थे। डॉ राधाकृष्णन समूचे विश्व को एक विद्यालय मानते थे। उनका मानना था कि शिक्षा के द्वारा ही मानव मस्तिष्क का सदुपयोग किया जा सकता है। विश्व को एक ही इकाई मानकर शिक्षा का प्रबंधन करना चाहिए। उनका कहना था कि जहां कहीं से भी कुछ सीखने को मिले उसे अपने जीवन में उतार लेना चाहिए। आज के वर्तमान युग में भी राधाकृष्णन के 10 ऐसे विचारों को अपने जीवन में उतारा जा सकता है। जिससे आपको जीवन भर प्रेरणा मिलती रहें। 


सर्वपल्ली राधाकृष्णन के 10 विचार 
1. भगवान की पूजा नहीं होती बल्कि उन लोगों की पूजा होती है जो उनके नाम पर बोलने का दावा करते हैं।
2. शिक्षक वह नहीं जो छात्र के दिमाग में तथ्यों को जबरन ठूंसे, बल्कि वास्तविक शिक्षक तो वह है जो उसे आने वाले कल की चुनौतियों के लिए तैयार करें।
3. शिक्षा के द्वारा ही मानव मस्तिष्क का सदुपयोग किया जा सकता है। विश्व को एक ही इकाई मानकर शिक्षा का प्रबंधन करना चाहिए।


4. किताबें पढ़ने से हमें एकांत में विचार करने की आदत और सच्ची खुशी मिलती है.
5. कोई भी आजादी तब तक सच्ची नहीं होती है, जब तक उसे पाने वाले लोगों को विचारों को व्यक्त करने की आजादी न दी जाये।
6. पुस्तकें वह माध्यम हैं, जिनके जरिये विभिन्न संस्कृतियों के बीच पुल का निर्माण किया जा सकता है।
7. शिक्षा का परिणाम एक मुक्त रचनात्मक व्यक्ति होना चाहिए, जो ऐतिहासिक परिस्थितियों और प्राकृतिक आपदाओं के खिलाफ लड़ सके।


8. ज्ञान के माध्यम से हमें शक्ति मिलती है। प्रेम के जरिये हमें परिपूर्णता मिलती है।
9. हमें तकनीकी ज्ञान के अलावा आत्मा की महानता को प्राप्त करना भी जरूरी है।
10. शांति राजनीतिक या आर्थिक बदलाव से नहीं आ सकती बल्कि मानवीय स्वभाव में बदलाव से आ सकती है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.