देश-विदेशों से कुल्लू-मनाली आने वाले पर्यटक एक जून से कर सकेंगे रोहतांग का दीदार

Samachar Jagat | Thursday, 30 May 2019 12:32:02 PM
Tourists coming to Kullu-Manali from country and abroad will be able to show Rohtang from June

कुल्लू। देश-विदेशों से कुल्लू-मनाली आने वाले पर्यटक अब बर्फ से ढके विश्व प्रसिद्ध रोहतांग दर्रे का दीदार कर सकेंगे। यह जानकारी कुल्लू के उपायुक्त यूनुस ने दी । उन्होंने कहा कि रोहतांग दर्रे को पर्यटकों के लिए खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है। अब एक जून से पर्यटक वाहन रोहतांग तक जा सकेंगे। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के नियमों की पालना करते हुए रोहतांग दर्रे के लिए प्रतिदिन 1300 वाहनों को ही अनुमति प्रदान की जा सकती है। 

Rawat Public School

व्यापार युद्ध की वजह से पंद्रह साल में पहली बार घटी अमेरिका जाने वाले चीन के पर्यटकों की संख्या

इसके लिए उन्हें ऑन लाईन परमिट प्राप्त करने की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। रोहतांग जाने के इच्छुक पर्यटकों व अन्य लोगों से ऑनलाईन परमिट प्राप्त करने को कहा है ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। ज्ञातव्य है कि रोहतांग दर्रा भारी बर्फबारी के चलते गत दिसंबर माह में यातायात के लिए बंद हो गया था। इसे हाल ही में 19 मई को खोला गया और अब पहली जून से इसे पर्यटकों के लिए भी खोल दिया जाएगा। 

उपायुक्त ने कहा कि जिले में पर्यटन सीजन चरम पर है। बर्फ के रोमांच का आनन्द लेने के लिए हर रोज देश के सभी भागों से तथा विदेशों से हजारों की संख्या में सैलानी आ रहे हैं। स्थानीय लोगों, सैलानियों, टैक्सी यूनियनों, होटल यूनियनों से हर रोज रोहतांग पर वाहनों की आवाजाही की अनुमति के लिए आग्रह पर रोहतांग दर्रें और सड़क के दोनों ओर बर्फ की मोटी परत को हटवाकर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इसके लिए सीमा सड़क संगठन ने युद्ध स्तर पर कार्य किया है। रोहतांग पर बड़ी संख्या में वाहनों के लिए पार्किंग की उपयुक्त व्यवस्था बनाना एक बड़ी चुनौती है, क्योंकि सड़क के दोनों ओर पर्याप्त जगह नहीं है।

चमत्कारी है इस झरने का पानी, अगर प्रेमी जोड़ा इसमें स्नान कर ले तो उन्हें कोई नहीं कर सकता एक-दूसरे से अलग

यूनुस ने बताया कि ब्यास नाला व मढ़ी तक यातायात पहले ही बहाल कर दिया गया था। इससे लाखों सैलानी ब्यास नाला के आस-पास अनेक साहसिक गतिविधियां कर अपनी यात्रा को सफल मान रहे हैं। ब्यास नाला पर बहुत बड़े क्षेत्र में अभी भी बर्फ की मोटी चादर मौजूद है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहां मौसम भी बहुत सुहावना है और सैलानियों के लिए हर लिहाज से अनुकूल है। उन्होंने सैलानियों व स्थानीय लोगों से रोहतांग तथा इसके आसपास कचरा न डालने की अपील की है ।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने यातायात को सुचारू बनाने के लिए व्यापक व्यवस्था की है। लाहौल की ओर जाने वाले भारी वाहन मनाली व गुलाबा बैरियर से तड़के चार बजे से पहले ही रवाना कर दिए जाएंगे। लाहौल-पांगीवासियों के छोटे वाहन, सामग्री ले जाने वाली पिकअप गाड़ियां और सरकारी वाहन पांच से 5:30 बजे तक भेजे जाएंगे। -एजेंसी

भारतीयों का पसंदीदा डेस्टिनेशन बनता जा रहा है मकाओ, लगातार बढ़ रही है यहां जाने वाले पर्यटकों की संख्या


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.