फैमिली कोर्ट में पत्नी ने पति से मांगा तलाक 

Samachar Jagat | Saturday, 31 Aug 2019 12:11:47 PM
Wife seeks divorce from husband in family court

इंटरनेट डेस्क। मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में एक परिवार को अजीबोगरीब केस चर्चित हो रहा है। एक पत्नी ने इसलिए तलाक मांगा, क्योंकि उसका पति उसकी तरफ बिल्कुल ध्यान नहीं देता है।


loading...

उसका पति  संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी, यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) की तैयारी कर रहा है। दिनभर कमरे में बंद रहकर पढ़ाई करता रहता है। पत्नी का कहना है कि पति मेरी परवाह नहीं करता है। मैं चाहे कितना भी सज-संवर लूं, लेकिन पति मेरी ओर ध्यान नहीं देता है। उसकी दुनिया पढ़ाई ही थी तो मुझसे शादी क्यों की।

कटारा हिल्स की रहने वाली एक महिला का यह अनूठा मामला जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में काउंसिलिंग के लिए आया है। पत्नी ने कहा कि वह मुंबई की रहने वाली है, इसलिए भोपाल में उसका कोई रिश्तेदार भी नहीं है। अकेले रहने के कारण मन नहीं लगता है।

इस कारण ससुराल में दो महीने रहकर वह मायके चली गई, लेकिन पति ने एक बार भी फोन लगाकर नहीं पूछा। दो साल की शादी में मुझे कहीं भी घुमाने नहीं ले गया। अब उसे पति के साथ नहीं रहना है। इस मामले में पत्नी ने कुटुंब न्यायालय में तलाक का केस लगाया है। दोनों पक्षों की काउंसिलिंग की जा रही है, ताकि उनके रिश्ते को बचाया जा सके।


काउंसिलिंग के दौरान पति ने कहा कि उसका लक्ष्य भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस, इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस) का अधिकारी बनना है। उसने पीएचडी भी कर ली है और कोचिंग भी चलाता है। इसके बाद यूपीएससी की तैयारी कर रहा है। प्री-एग्जाम दो बार क्लियर हुए हैं, लेकिन मुख्य परीक्षा को पास नहीं कर सका। जब तक लक्ष्य पूरा नहीं होगा, तब तक मैं इन्हें पत्नी का दर्जा नहीं दे सकता। उसने कहा कि वह शादी करना नहीं चाहता था।

लेकिन माता-पिता का इकलौता बेटा हूं तो उन्होंने शादी करने के लिए काफी दबाव बनाया था। इस मामले में पति-पत्नी दोनों को समझाया जा रहा है। पत्नी को भी पति का साथ देने और पति को पत्नी की भावनाओं का सम्मान करने की समझाइश की जा रही है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.