पार्टी में जाने पर इस महिला का किया ये हाल, जानकर हो जाएंगे रोंगटे खड़े

Samachar Jagat | Thursday, 17 Nov 2016 10:07:46 AM
पार्टी में जाने पर इस महिला का किया ये हाल, जानकर हो जाएंगे रोंगटे खड़े

महिलाओं को समाज में अपना हक पाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है, ऐसे में एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसने दिखा दिया कि औरतों को लेकर आज भी समाज की सोच कितनी संकुचित है। एक औरत को सिर्फ अपने दोस्त की पार्टी में जाने के लिए ऐसी अमानवीय सजा सुनाई गयी कि सोच के भी रोंगटे खड़े हो जायें।      

इस औरत की कहानी को 'My Stealthy Freedom' नाम के एक Facebook पेज पर शेयर किया गया था. ये पेज ऐसी हिम्मती औरतों को दिखाता है, जो हिजाब पहनना छोड़ चुकी हैं।

आखिर लोग क्यों करते है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

Masih Alinejad नाम की पत्रकार इस पेज को चलाती हैं, उन्होंने इस औरत का इंटरव्यू भी #NoToLashes हैशटैग में इस पेज पर शेयर किया है। औरत ने बताया है कि उसे गिरफ्तार करने के बाद उसके साथ बहुत ही अमानवीय व्यवहार किया गया।               

रिपोर्टों के  मुताबिक, इस औरत को पार्टी करने के लिए प्राधिकारियों द्वारा बुरी तरह से मारा गया। औरत ने जुर्म ये किया था कि उसने पार्टी में शराब पी थी और उस पार्टी में मर्द भी मौजूद थे। औरत की कोड़ो से इतनी बेरहमी से पिटाई की गयी है कि उसके पूरे शरीर पर नील पड़ गए। इस 28 वर्षीय इरानी औरत को कुल 80 कोड़े मारे गए। ये सजा उसे मशहद में दो साल पहले पहले पार्टी करने के लिए ईरानी अदालत ने सुनाई थी। 

औरत की दर्दनाक चोटों की फोटो देख कर उसके दर्द का अंदाजा लगाया जा सकता है। उसके शरीर में शराब है या नहीं, ये टेस्ट करने के लिए उसे एक क्लिनिक ले जाया गया, जहां फीमेल स्टाफ ने उसे कपड़े उतारने को कहा। जब उसने विरोध किया, तो उससे कहा गया ‘मर्दों के सामने तो तुझे कपड़े उतारने में शर्म नहीं आती है।’ दो साल तक बार-बार जलील किये जाने के बाद उसे सजा सुनाई गयी और ऐसी चोजे करने के लिए कोड़े मारे गए, जो इस्लाम में 'हराम' हैं।

बॉस से बदला लेने के लिए उसकी पत्नी को ही भेजा अश्लील तश्वीर 

औरत उस पर हुए ज़ुल्म की रोंगटे खड़े कर देने वाली दास्तान सुनाती है, वो बताती है कि कोड़े मारने के दौरान उसके हाथ-पैर बेड़ियों में बांध दिए गए थे। ईरान में औरतें अपनी मर्ज़ी से कपड़े नहीं पहन सकती हैं, उनके लिए जो ड्रेस कोड निर्धारित किया गया है, उसी के अनुसार उन्हें कपड़े पहनने होते हैं। इसके साथ ही ईरान में हिजाब से अपने सिर और चेहरे को ढकना भी अनिवार्य है।

कोड़े मारने के दौरान औरत से कहा गया कि जब-जब उसे कोड़े मारे जायें, वो अल्लाह से अपने गुनाहों की माफ़ी को दोहराए। ये भयानक अनुभव औरत को केवल अपने दोस्त के जन्मदिन की पार्टी में जाने के लिए झेलना पड़ा। उसके साथ मुजरिमों जैसा बर्ताव किया गया।

ईरान की औरतों पर बिना हिजाब के तस्वीर डालने पर भी सख्त कार्रवाई की जाती है, पर औरतें अब इन बेड़ियों से खुद को आज़ाद करने के लिए संघर्ष करना शुरू कर रही हैं। ये पेज ऐसी ही औरतों की कहानी को लोगों के सामने लाता है।

ईरान में यदि कोई महिला बिना हिजाब के देखी जाये या किसी पुरुष से बात करती पकड़ी जाये, तो भी उसे सज़ा दी जाती है। औरतों को डांस करने की, अपनी मर्ज़ी से शादी करने की और खेलों में भाग लेने की आज़ादी भी ईरान में नहीं दी गयी है।

इस घटना ये पता चलता है कि आज भी दुनिया के कई हिस्सों में औरतें अपनी मर्जी से सांस तक लेने को मोहताज हैं। उम्मीद है समानता की ये लड़ाई और बदलाव की ये हवा, दुनिया के इन इलाकों में भी पहुंचे और इन औरतों को ऐसी बेतुकी पाबंदियों से आजादी दिलाये।

 

Read More:

2.7 टन वजनी ये हथिनी चलती है पैरो में 5 किलो के जूते पहन कर 

कब महिलाएं नहीं लेती सेक्स में रुचि?

किशोर का यौन उत्पीडऩ करने के आरोप में शिक्षक गिरफ्तार


 

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.