कच्चे तेल में उछाल से 75 के पार जा सकता है पेट्रोल

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Mar 2019 04:46:02 PM
Crude oil boom could cross 75;

कच्चे तेल में लगातार उछाल से पेट्रोल के दाम फिर अप्रैल-मई तक 75 रुपए लीटर के पार जाने के आसार है। डीजल भी अगले दो माह में 70 रुपए की ऊंचाई को छू सकता है। यहां यह बता दें कि पेट्रोल दो माह में करीब 4 रुपए बढ़ चुका है। इस साल 5 जनवरी को यह 68.29 रुपए प्रति लीटर था और सोमवार 4 मार्च को यह 72.17 रुपए प्रति लीटर हो चुका है। वहीं डीजल सोमवार को 67.41 रुपए प्रति लीटर रहा जो 5 जनवरी को 62.26 रुपए प्रति लीटर था। विश्लेषकों के अनुसार अमेरिकी और चीन के बीच व्यापारिक सुलह की उम्मीदों से तेल में उछाल आया। आने वाले दिनों में कोई डील होती है तो वैश्विक आर्थिक विकास के साथ उपभोग बढ़ने की संभावना के साथ कच्चा तेल बढ़ सकता है। वहीं तेल उत्पादक प्रमुख देशों के संगठन ओपेक की कटौती पूरी तरह लागू होने से भी कीमतों पर दबाव बढ़ा है और वे फिर उछाल की ओर है। 

सोमवार को कच्चा तेल 65.25 डालर प्रति बैरल तक पहुंच गया। कच्चा तेल पिछले एक डेढ़ माह में 15 फीसदी बढ़ा है। रेटिंग एजेंसी ‘फिच’ के ऊर्जा विश्लेषकों का कहना है कि कच्चा तेल 2019 के मध्य तक 73 डालर प्रति बैरल तक पहुंच सकता है। यह तेल पर निर्भर अर्थव्यवस्थाओं के लिए नुकसानदेह होगा। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक डील के बाद अमेरिका चीन के 200 अरब डालर मूल्य के उत्पादों पर से शुल्क वापस ले सकता है। इससे दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के चल रहा व्यापारिक युद्ध खत्म हो सकता है और व्यापार में सामान्यता से कच्चे तेल की खपत को भी मजबूती मिलेगी। चीन के अधिकारियों ने भी वार्ता में महत्वपूर्ण प्रगति के संकेत दिए हैं। बारक्लेस बैंक का कहना है कि सऊदी अरब की अगुवाई वाले ओपेक ने तेल आपूर्ति को फरवरी में चार साल के सबसे निचले स्तर तक पहुंचा दिया है। अमेरिकी प्रतिबंधों से ईरान और वेनेजुएला की तेल आपूर्ति में भी कमी आई है।

 
भारत ने संकेत दिया है कि वह अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट की 6 महीने की अवधि खत्म होने के बाद भी ईरान से रोजाना तीन लाख बैरल की तेल खरीद जारी रखना चाहता है। सूत्रों के मुताबिक भारत पाबंदी से छूट की समय सीमा मई से आगे बढ़ाने के लिए अमेरिका से संपर्क में है और सकारात्मक नतीजे की उम्मीद है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों को मानते हुए ईरान से तेल खरीद में कटौती की है, लेकिन वह छूट को जारी रखना चाहता है। दरअसल, ईरान से तेल खरीद पर अमेरिकी पाबंदी चार नवंबर से लागू हुई थी, लेकिन उसने भारत, चीन, जापान और दक्षिण कोरिया समेत 8 देशों को छह माह की छूट दी थी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.