उत्साह साहस और विश्वास के आगे संकट बौने हो जाते हैं

Samachar Jagat | Saturday, 08 Sep 2018 03:47:09 PM
Euphoria leads to drought and adventure ahead of courage

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

न्यूयार्क के मेयर के तौर पर अपना तीसरा कार्यकाल पूरा कर चुके माइकल ब्लूमबर्ग ने दोबारा अपनी कंपनी ब्लूमबर्ग एलपी ज्वॉइन करने की घोषणा की है, यद्यपि पहले उन्होंने इससे इंकार कर दिया था। अकाउंटेंट पिता के घर जन्में माइकल ब्लूमबर्ग ने 1964 में पढ़ाई पूरी की। इसके बाद दो साल तक नौकरी तलाशते रहे। इसी दौरान अमेरिका वियतमान युद्ध में कूद पड़ा। खाली घूम रहे ब्लूमबर्ग ऑफिसर कैंडिडेट स्कूल में भर्ती होने चले गए, लेकिन प्लैट फुट होने के कारण खारिज कर दिए गए। लेकिन वे एक उत्साही, साहसी और विश्वास से भरे युवा थे।

 उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और फिर से नौकरी ढूंढ़ने का सिलसिला शुरू कर दिया। इस बार वॉल स्ट्रीट की कंपनी सोलोमन ब्रदर्स ने उन्हें 9000 डॉलर सालाना पैकेज पर रख लिया। यहां एक छोटे से कमरे में पसीने से तर-बतर बॉन्ड और स्टॉक सर्टिफिकेट का काम देखते रहे। सप्ताह में सातों दिन, 12 घंटे काम कर वे टे्रनी से ब्रॉण्ड टे्रडर बन गए। उम्मीद से कहीं ज्यादा कंपनी का फायदा करवाया। इससे खुश होकर मैनेजमेंट ने उन्हें पार्टनरशिप देकर इक्विटी टे्रडिंग का मुखिया बना दिया।

सात साल बाद कंपनी के सीईओ जॉन गटफं्रड और बिली सोलोमन ने उन्हें सेल्स और टे्रडिंग की पावरफुल पोजीशन से हटाकर मार्केट में नए-नए आए कम्प्यूटर का काम देखने को कहा। उन्होंने इसे डिमोशन माना, लेकिन इसे नया अनुभव मानते हुए बोला कुछ भी नहीं। 1981 में कंपनी की अधिग्रहण होने पर ब्लूमबर्ग को नौकरी से निकाल दिया गया। इसके बदले उनको दस मिलियन डॉलर मिले। इसके बाद किसी ने उनको नौकरी नहीं दी।


लेकिन एक बार फिर से उनके उत्साह-साहस और विश्वास ने हार नहीं मानी। उन्होंने तय किया कि वे अब किसी के यहां आईटी कंपनी इनोवेटिंग मार्केटिंग सिस्टम खोल ली। इसमें वे ऐसा कम्प्यूटर टर्मिनल बनाना चाहते थे जो ब्रॉण्ड मार्केट के बारे में जानकारी दे सके। हर शनिवार वे कनेक्टीकट में एक इंजिनियर के साथ हार्डवेयर बनाने का काम करते और पार्ट को ठीक करवाने शिकागो जाते। तीन साल तक ऐसा करते रहे। इसके बाद टर्मिनल बेचने के लिए बॉल स्ट्रीट की कंपनी मेरिल लिंच के यहां चक्कर काटने शुरू किए। उन्होंने खुशामद से 22 टर्मिनल बेचे। बदले में फिंच ने उन्हें 30 मिलियन डॉलर दिए और उनकी कंपनी की 30 प्रतिशत भागीदारी खरीद ली। 1998 तक एक लाख टर्मिनल बाजार में आ चुके थे।

 वे प्रति टर्मिनल हर माह डेढ़ हजार डॉलर किराया लेने लगे थे। इसके बाद उन्होंने ब्लूमबर्ग बिजनेस न्यूज, टीवी रेडियो और ब्लूमबर्ग मैगजीन लॉन्च की। अब वे पोलिटिक्स में रिपब्लिकन पार्टी के टिकट पर मेयर पद के लिए प्रत्याशी बने और एक कार्यकाल ही पूरा नहीं किया बल्कि तीन कार्यकाल पूरे किए। उनके पास कई निजी विमान हैं लेकिन बतौर मेयर मेट्रो से दफ्तर आते थे।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.