सामान्य जानकारियां बहुतों बार महत्वपूर्ण सिद्ध होती हैं

Samachar Jagat | Friday, 12 Jan 2018 04:20:21 PM
General information often proves important

अक्सर यह देखने में आता है कि हर कोई छोटी-छोटी चीजों की, बातों की और जानकारियों की ओर ध्यान नहीं देता है, उनकी उपेक्षा करता है। वह यह भूल जाता है कि कोई भी जानकारी तो जानकारी ही होती है उसका क्या छोटा और क्या बड़ा? रास्ते जाते उसका छोटी सी झौंपड़ी की तरफ ध्यान नहीं जाता है और उसका बरबस किसी बड़ी बिल्डिंग की तरफ चला जाता है, उसका किसी पगडण्डी की तरफ ध्यान नहीं जाता है, एक सडक़ की तरफ बरबस ध्यान चला जाता है, छोटा सा बीज, पौधा उसकी नजर में नहीं आता है और विशाल बरगद का पेड़ अनायास उसकी आँखों में समा जाता है, वह बाल क्रिड़ाओं की उपेक्षा करता है और बड़े खिलाडि़यों की ओर अपना पूरा ध्यान लगा देता है, वह बाईक ड्राइव करता है, कार ड्राइव करता है या फिर गाड़ी ड्राइव करता है लेकिन उफसोस की बात है कि उसे स्टेयरिंग, ब्रेक, गियर और क्लीच-एक्सीलेटर के सिवाय बहुत कम जानकारी होती है और यही कारण है कि गाड़ी में थोड़ी भी खराबी आने पर वह बेबस हो जाता है और मिस्त्री की तलाश में लग जाता है चूंकि आज टेक्नोलॉजी का जमाना है, ऐसे में यह बहुत प्रासंगिक हो जाता है कि घर-ऑफिस में काम आने वाली समस्त उपकरणों, उसके लाभ-हानि, संचालित करने आदि समस्त जानकारी रखने फायदा ही होगा। 

जानकारी जुटाने के लिए कोई अतिरिक्त मेहनत, धन या समय लगाने की आवश्यकता नहीं होती है, आवश्यकता तो केवल जागरूक रहने की, गौर करने की और ध्यान देने की होती है। दुनिया ऐसे अनेकों उदाहरणों से भी पड़ी है जहां बड़ी-बड़ी डिग्रियों, पाठ्यक्रमों, प्रशिक्षणों के द्वारा पारंगत होने वाले लोगों से वे लोग बहुत अधिक जानते हैं जिन्होंने न तो कहीं से कोई डिग्री ली, न कोई पाठ्यक्रम को पास किया और न ही कोई प्रशिक्षण लिया। लेकिन वे किसी डॉक्टर के यहां रहकर, किसी टेक्नीशियन के यहां रहकर, किसी शिक्षक में यहां रहकर, किसी लेखाधिकारी के यहां रहकर, किसी उद्योगपति के यहां रहकर कार्य में दक्षता हासिल कर एक्सपर्ट बन गया, छोटी-छोटी बारीकियों को सीख लिया। यहां-तहां हर कहां घटनाऐं-दुर्घटनाऐं घटित होती रहती हैं और उस समय ऐसी छोटी-छोटी बातें हमारे सामने खड़ी हो जाती हैं, जिनको हम नहीं जानते, जिनको करने में असक्षम हो जाते हैं और बहुत बड़ा नुकसान उठा जाते हैं। एक छोटी सी जानकारी से लैपटॉप में बहुत बड़ी जानकारी मिल सकती है, एक छोटी सी जानकारी से हम किसी भी संस्था के बारे में, कम्पनी के बारे में, धंधे के बारे में पिकनिक स्पॉट के बारे में, मौसम के बारे में, व्यक्ति के बारे में पूरी चीजें जान सकते हैं।

 लेकिन आज के इस अंधी हौड़ के युग ने व्यक्ति को पैसे के पीछे भगने के लिए इतना व्यस्त और त्रस्त बना दिया है कि उसके पास न अच्छा सा और अच्छे से भोजन करने का समय है, वह खड़ा-खड़ा जूते पहने ड्रेस पहने हाथ में या पीछे कमर में बैग टांगे भोजन के ग्रास खा नहीं रहा है बल्कि बेतहाशा उन्हें जल्दी-जल्दी ठूंस रहा है। वह सुबह जल्दी भागता है और देर रात तक जागता है, ऐसे में वह चैन की नींद भी कहां सो पाता है, न परिजनों से बतिया पाता है, घर की समस्याओं पर ध्यान भी नहीं दे पाता है अर्थात् कुल मिलाकर वह इस दुनिया की चकचौंध में चधिंया जाता है, उसके लिए अति आवश्यक जो काम होते हैं, उन्हें भी वह अच्छे से नहीं कर पाता है छोटी-छोटी जानकारियों के लिए तो उसके पास टाइम ही कहां?

प्रेरणा बिन्दु:- 
वक्त-बेवक्त जानकारी, ज्ञान और अनुभव बहुत कम आता है और जानकारी या ज्ञान व्यक्ति के आत्मविश्वास का स्तर बढ़ाते हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.