बिना डिलीवरी शुल्क लिया तो जुर्माना

Samachar Jagat | Friday, 10 Aug 2018 11:43:58 AM
Penalty for No Delivery Charges

पेट्रोलियम मंत्रालय ऐसी गैस एजेंसियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है, जो उपभोक्ता के घर तक सिलेंडर पहुंचाए बिना ही डिलीवरी चार्ज वसूली करती है। मंत्रालय इन पर भारी जुर्माना लगाने के साथ ही आवंटन रद्द करने पर विचार कर रहा है। दरअसल एलपीजी सिलेंडर का आवंटन करने वाली गैस एजेंसियां आपके घर तक पहुंचाने के लिए डिलीवरी चार्ज भी लेती है। अगर कोई उपभोक्ता गोदाम पर जाकर सिलेंडर लेता है तो एजेंसी को यह चार्ज लौटाना होगा, लेकिन अधिकतर एजेंसियां ऐसा नहीं कराती है। इसके खिलाफ बढ़ती हुई शिकायतों को देखते हुए पेट्रोलियम मंत्रालय कड़ी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। 

पेट्रोलियम मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार किसी एजेंसी के खिलाफ घर तक सिलेंडर नहीं पहुंचाने के बावजूद डिलीवरी चार्ज लेने की शिकायत मिलती है तो उसका लाइसेंस तक रद्दा हो सकता है। घरेलू एलपीजी डिस्ट्रीव्यूटर कमीशन के अनुसार जो उपभोक्ता डिस्ट्रीब्यूटर के परिसर (एजेंसी या गोदाम) से सिलेंडर लेते हैं, उनसे डिलीवरी चार्ज नहीं ले सकते। अगर कोई एजेंसी चार्ज लेती है तो उस पर एलपीजी मार्केटिंग डिसिप्लिन गाइड लाइन के तहत कार्रवाई की जा सकती है। एलपीजी मार्केटिंग डिसिप्लिन गाइड लाइन के तहत अगर किसी एजेंसी के खिलाफ इस तरह की शिकायत मिलती है तो पहली बार उसके खिलाफ जुर्माना लगाया जाएगा और दूसरी बार जुर्माने की राशि और बढ़ाई जाएगी। लेकिन किसी एजेंसी के खिलाफ दो साल में ऐसी तीन शिकायतें मिली तो उसका आवंटन भी रद्द कर दिया जाएगा। गैस एजेंसी या गोदाम से सिलेंडर लेने के बावजूद डिलीवरी चार्ज वसूलने या घर तक गैस पहुंचाने पर बिल से अधिक मूल्य लेने की सबसे अधिक शिकायतें उत्तर प्रदेश से मिलती है। 

वर्ष 2015-16 में इस तरह की 42 शिकायतें मिली। 2016-17 में 18 और 2017-18 में 20 शिकायतें मिली। इसके बाद कई एजेंसियों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई। उपभोक्ताओं के लिए मौजूदा नियम के अनुसार शहरी क्षेत्र में 5 किलोमीटर तक फ्री होम डिलीवरी का नियम है। ग्रामीण क्षेत्र में 15 किलोमीटर के दायरे में करनी होती है होम डिलीवरी। नियम के अनुसार 5 किलो सिलेंडर पर 9.50 रुपए चार्ज लगता है। एजेंसियां 19.50 रुपए चार्ज वसूलती है बड़े सिलेंडर की होम डिलीवरी पर। यहां यह उल्लेखनीय है कि गैस एजेंसियों में गड़बड़ी की शिकायतों में सबसे ज्यादा इंडेन गैस के खिलाफ रही है। 

पिछले तीन साल में इंडेन गैस के खिलाफ देश भर में 3536 शिकायतें मिली, वहीं हिन्दुस्तान गैस की 1730 और भारत गैस की 989 शिकायतें मिली है। इस साल एक अप्रैल से 30 जून तक इंडेन गैस की 186, भारत की 50 और हिन्दुस्तान की 129 शिकायतें मिली है। यहां यह बता दें कि गैस सिलेंडर की कीमत में होम डिलीवरी का चार्ज पहले से शामिल होता है। लिहाजा जब गैस एजेंसी के दफ्तर से खुद जाकर सिलेंडर लेते हैं तो सिलेंडर की कुल कीमत से करीब 20 रुपए कम चुकान पड़ेंगे, लेकिन सभी एजेंसियां खुद आकर डिलीवरी लेने पर भी यह चार्ज लेती है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.