समस्याएं जीवन को सरल बनाती हैं

Samachar Jagat | Tuesday, 09 Apr 2019 04:41:06 PM
Problems make life simple

किसी शहर में एक युवा अच्छी नौकरी करता था, जिसका नाम विजय था। विजय एक मध्यम परिवार से आया था। काफी संघर्ष किया था उसके माता-पिता ने उसको यहां तक पहुंचाने में। उसके माता-पिता की माली स्थिति अच्छी नहीं थी फिर भी उन्होंने विजय को अच्छी स्कूल में पढ़ाया। अब विजय के पास सब कुछ था। अच्छा सा घर था, अच्छी नौकरी करता था, पत्नी-बच्चे और घर में सब भौतिक साधन थे। बस उसके मन में चैन नहीं था, सुख-शांति की खोज में निकला और एक फकीर के यहां पहुंचा। फकीर को उसने प्रणाम करके पूछा- महाराज, मेरे सामने नित नई समस्याएं आ खड़ी होती हैं, मेरी लाख कोशिशों के बावजूद भी बहुत सारी समस्याएं ज्यौं ही त्यौं खड़ी रहती हैं। फकीर ने कहा कि यहां से कुछ दूरी पर ग्वाला अपनी भेड़-बकरियों सहित रहता है, आज रात वह किसी काम से दूसरे गांव में गया है। जाओ वहां जब सभी भेड़-बकरी बैठ जाएं तो तुम चैन से सो जाना।

विजय वहां गया, बहुत सारे पशु बैठे हुए थे तो कुछ खड़े हुए थे। कभी खड़े हुए जो वे बैठ जाते और बैठे हुए खड़े हो जाते। वह एक मिनट भी सो नहीं सका क्योंकि उसकी लाख कोशिशों के बावजूद भी सभी भेड़-बकरियां एक साथ बैठ नहीं सकी। सुबह विजय फकीर के पास गया और उदास-दुखी होकर बोला- महाराज, मैं एक मिनट के लिए भी नहीं सो सका, क्योंकि मैं लाख कोशिशों के बावजूद सभी भेड़-बकरियों को नहीं बैठा सका। इस पर फकीर ने कहा- ये भेड़-बकरियों का बैठना, खड़े होना मनुष्य जीवन से मेल खाता है। आपने देखा होगा कि कुछ भेड़-बकरियां स्वत: ही बैठ गई होंगी, आपने उनके लिए कुछ नहीं किया, इसी प्रकार बहुत सारी समस्याएं स्वत: हल हो जाती हैं, उनके लिए कोई प्रयास नहीं करना पड़ता। 

कुछ पशु आपके प्रयास से बैठ गए होंगे। विजय बोला- हां महाराज! तो कुछ समस्याएं भी आपके प्रयास से हल हो जाती होंगी। हां महाराज कुछ समस्याओं का हल मैं कर लेता हूं। अच्छा, आपने देखा होगा कि कुछ पशु ऐसे थे जो लाख कोशिशों के बावजूद भी नहीं बैठे। इसी प्रकार कुछ समस्याएं ऐसी होती हैं जो लाख कोशिशों के बाद भी हल नहीं होती हैं- उन्हें समय पर छोड़ दो, समय उन्हें हल कर देगा। विजय ने कहा- फिर मुझे शांति का जीवन कैसे मिलेगा? फकीर ने कहा- यदि ग्वाला पशुओं के खड़े रहने के चक्कर में नहीं सोए तो क्या वह जीवित भी रह पाएगा? नहीं इसलिए समस्याएं हैं तो जीवन सरल है वरना जीवन नर्वश है। आइए, जीवन के आनंद लें, समस्याएं तो रहेंगी।

प्रेरणा बिन्दु:- 
दुख दर्द जीवन के हिस्से
इनसे तनिक नहीं मुरझाएं
फूल सदा हंसते-खिलते हैं
आओ हम हर पल मुस्कुराएं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.