अमेरिका के व्यापार युद्ध का असर भारत पर भी

Samachar Jagat | Monday, 12 Mar 2018 09:15:43 AM
The effect of America's trade war on India also

अमेरिका से चीन और यूरोपीय संघ के खिलाफ व्यापार युद्ध का असर भारत पर भी दिखने लगा है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा स्टील पर 25 प्रतिशत और एल्युमिनियम पर 10 फीसदी आयात शुल्क लगाए जाने के बाद भारतीय शेयर बाजार में भारी गिरावट आई। सेंसेक्स करीब 300 अंक गिरकर 34 हजार अंकों के नीचे चला गया और निफ्टी भी 100 अंक लुढक़ गया। धातु सेक्टर के शेयरों में करीब 3 फीसदी की गिरावट आई। सेंसेक्स 300.16 अंक या 0.88 प्रतिशत की हानि के साथ 33,746.78 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स चार सत्रों में 700 अंक गिर चुका है। बीस फरवरी के बाद सेंसेक्स का न्यूनतम स्तर है।

 निफ्टी भी 99.50 अंक या 0.95 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,358.85 अंक पर बंद हुआ। विश्लेषकों का कहना है कि अमेरिकी फैसले से धातुओं के वैश्विक व्यापार में उथल-पुथल होगी, क्योंकि अमेरिका अपनी खपत का दो तिहाई एल्युमिनियम और एक चौथाई स्टील आयात करता है। अमेरिकी उत्पादन बढ़ने से स्टील की कीमतें गिरेंगी और भारत भी प्रभावित होगा। सरकार की ओर से लगाई गई एंटी डंपिंग ड्यूटी भी बचाव में नाकापी साबित होगी। घरेलू उत्पादन में तेज इजाफे की तुलना में खपत में ज्यादा उछाल नहीं आ पा रहा है। अमेरिका के वाणिज्य मंत्री रॉस ने कहा कि दूसरे विश्व युद्ध के समाप्त होने के बाद से ही यूरोप और एशियाई देशों को रियायतें दी है, इनके जारी रहने का अब कोई तुक नहीं है, विश्व व्यापार में टकराव की आशंका से सेंसेक्स में 300 और निफ्टी में 100 अंकों की गिरावट आई।

 धातु, बैंक, तेल एवं गैस तथा वाहन कंपनियों के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई है। सेंसेक्स करीब दो सप्ताह के न्यूनतम स्तर पर आ गया। यहां यह उल्लेखनीय है कि भारत ने 2016-17 में अमेरिका को 10 हजार 600 करोड़ रुपए का लैंड और स्टील निर्यात किया। एचएसबीसी ग्लोबल रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका को भारतीय स्टील का निर्यात तो महज चार फीसदी है, लेकिन आयात शुल्क से स्टील के दाम कम होंगे और अन्य देशों को भी भारत के निर्यात पर असर पड़ेगा। दाम में एक फीसदी की कमी से स्टील कंपनियों के लाभ में दो फीसदी तक कमी होगी। भारत स्टील का चौथा सबसे बड़ा उत्पादक है। 

जहां तक एल्युमिनियम के निर्यात का सवाल है, भारत ने 2016-17 में अमेरिका को 2346 करोड़ रुपए का एल्युमिनियम और उनके उत्पाद निर्यात किए। एल्युमिनियम के वैश्विक व्यापार में चीन की 50 फीसदी हिस्सेदारी है, जबकि भारत की हिस्सेदारी 5 फीसदी है। यहां यह बता दें कि चालू वित्तीय वर्ष में अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 के बीच भारत का स्टील निर्यात 40 फीसदी बढ़ा, जिसमें 24 फीसदी हिस्सा अमेरिका को स्टील निर्यात में रहा है। इसी प्रकार वर्ष 2017 में एल्युमिनियम का निर्यात 57 फीसदी बढ़ा। केयर रेटिंग्स के अनुसार इसमें अमेरिका को निर्यात में 2 फीसदी हिस्सा रहा है। ट्रंप सरकार की ओर से स्टील पर 25 फीसदी और एल्युमिनियम पर 10 फीसदी आयात शुल्क लगाने से धातु कंपनियों के शेयर साढ़े तीन फीसदी तक गिर गए हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.