वास्तविक सम्पन्नता व्यक्ति के भीतर विद्यमान रहती है

Samachar Jagat | Friday, 15 Mar 2019 04:21:24 PM
The real happiness lies in the person

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

शंका और डर मनुष्य की प्रगति के घोर विरोधी है क्योंकि भय ग्रस्त और शंकालु व्यक्ति कभी भी समृद्ध नहीं हो सकता है क्योंकि परस्पर विरोधी विचारधारा उसकी प्रगति में बाधक होती ही है। विचारों में सम्पन्नता, विचारों में विपिन्नता, विचारों में भय और विचारों में संदेह ये सब व्यक्ति के जीवन को बहुत प्रभावित करते हैं। यदि व्यक्ति के चारों ओर दरिद्रता है, गरीबी है तो सबसे पहले उसे अपनी भीतर की दरिद्रता को मिटाना होगा, हटाना होगा। श्रीप्रभु हमारा तभी साथ देते हैं जब हम स्वयं अपना साथ देते हैं, वह हमेशा हमारे साथ रहते हैं, जिनका भी उन पर विश्वास होता है उसके यहां किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं रहेगी।


एक बहुत गरीब स्त्री जिसको हमेशा एक पिछड़े गांव में ही रहना पड़ता था, लेकिन वह किसी प्रकार से एक सम्पन्न गांव में चली गई। उसे यह देखकर आश्चर्य हुआ कि वह जिस घर में ठहरी, उसमें बिजली की रोशनी थी। इससे पहले उसने कभी बिजली नहीं देखी थी और न ही बिजली के बारे में कुछ जानती थी। कुछ दिनों के बाद उस गांव में एक व्यक्ति बिजली का बल्ब बेचते हुए आया और उससे कहने लगा कि वह उसके पुराने बल्ब के स्थान पर अपने नए बल्ब को लगाना चाहता है और दिखाना चाहता है कि दोनों में कितना अंतर है जब साठ वाट का बल्ब लगाने से महिला का कमरा पहले से भी अधिक जगमग हो गया। क्योंकि उस महिला को यह ज्ञान नहीं था कि उस असीम प्रकाश का स्त्रोत तो उसके घर में ही विद्यमान था, केवल बल्ब बदलने की बात थी। 

व्यक्तियों की भी ऐसी ही स्थिति है, वे सबके सब सुख की तलाश कहीं बाहर, बाजार में, पार्क में, होटल में और अन्य जगहों पर करते रहते हैं, इसी प्रकार भौतिक सुख की तलाश में सब कुछ घर में इक्कट्ठा करने के बावजूद भी वे कभी एक भी पल सुख-शांति से नहीं रह सकते हैं, क्योंकि ऐसे लोग अंदर से दिवालिए अर्थात् विचारों से दिवालिए बने हुए हैं। हमारे भीतर वह सारी शक्ति विद्यमान है, जो हमारे लिए है। हम हमारी अद्भुत शक्ति पर हर हाल में विश्वास करना होगा क्योंकि सब कुछ भीतर के विचारों में छिपा है, इसे ढूंढ़ना आपका काम है, समझना आपका काम है और काम में लेना आपका काम है।

प्रेरणा बिन्दु:- 
जिस प्रकार से सोने-चांदी अपने आप जमीन के बाहर नहीं आते हैं उसकी प्राकर आपके समृद्ध विचार भी आपके चाहने पर ही बाहर आएंगे और सबको समृद्ध करेंगे।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.