राजीव गांधी पर अवांछित टिप्पणी

Samachar Jagat | Thursday, 09 May 2019 04:23:02 PM
Unwanted comments on Rajiv Gandhi

प्रधामनंत्री के गरिमामय पद पर आसीन नेता को कम से कम अपनी वाणी पर संयम रखना चाहिए। यदि वे किसी का दिल दुखाने वाली बात कहेंगे तो जवाब में वैसा ही सुनने की तैयारी भी रखनी चाहिए। राफेल डील मुद्दे पर कांग्रेस का रुख आक्रामक है और राहुल गांधी अपनी सभाओं मे चौकीदार चोर है का नारा लगाते रहे हैं। इससे तिलमिलाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर राफेल मुद्दे को लेकर उनकी छवि खराब करने की कोशिश का आरोप लगाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पिता स्व. राजीव गांधी को निशाने पर लिया। मोदी ने कहा कि ‘मिस्टर क्लीन’ का जीवन काल ‘भ्रष्टाचारी नंबर वन’ के रूप में समाप्त हुआ था। लगता है मोदी ने बोफोर्स सौदे की ओर इशारा किया था। प्रधानमंत्री मोदी यह भूल गए कि जांच और अदालती कार्रवाई के बावजूद बोफोर्स मामले में भ्रष्टाचार व कमीशनखोरी के आरोप आज तक साबित नहीं हो पाए। राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी नंबर वन कहना सरासर दुर्भावना प्रेरित था। 

किसी व्यक्ति के निधन के बाद ऐसी टिप्पणी करना सर्वथा अनुचित है क्योंकि वह तो अपनी सफाई देने या प्रतिवाद करने वापस नहीं आएगा। नेहरू-गांधी परिवार के प्रति अपनी नफरत को मोदी छिपा नहीं पाते। मोदी कभी वंशवाद को लेकर तो कभी 70 वर्षों में कुछ भी न करने का आरोप लगाकर इस परिवार की आलोचना करते आए हैं। मोदी यह नहीं देखते कि वंशवाद सभी पार्टियों में है और भाजपा भी इसका अपवाद नहीं है।

राहुल ने अपने पिता पर मोदी की अवांछित टिप्पणी की संयत जवाब देते हुए कहा कि ‘पीएम मोदी लड़ाई खत्म हो चुकी है। आपके कर्म आपका इंतजार कर रहे हैं। खुद के बारे में अपनी आंतरिक सोच को मेरे पिता पर थोपना भी आपको बचा नहीं सकता। सप्रेम और बड़ी झप्पी के साथ।’ इसी तरह प्रियंका गांधी ने भी कहा कि शहीदों के नाम पर वोट मांग कर उनकी शहादत को अपमानित करने वाले पीएम ने अपनी बेलगाम सनक में एक नेक और पाक इंसान की शहादत का निरादर किया। इसका जवाब अमेठी की जनता देगी, जिनके लिए राजीव गांधी ने अपनी जान दी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.