केसीआर, राहुल ‘‘ब्रेक इन इंडिया’’ जबकि मोदी ‘‘मेक इन इंडिया’’ नीति का अनुसरण करते हैं : शाह

Samachar Jagat | Thursday, 11 Oct 2018 08:58:55 AM
Amit Shah said KCR, Rahul

करीमनगर/तेलंगाना। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने तेलंगाना में सत्ता परिवर्तन का आह्वान करते हुए बुधवार को कहा है कि ना तो सत्तारूढ़ टीआरएस और ना ही मुख्य विपक्षी कांग्रेस राज्य में विकास कर सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में अगर अगले साल लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी सत्ता में आती है तो वे यह सुनिश्चित करेंगे कि देश में एक भी घुसपैठिया नहीं छूटे। अमित शाह ने यहां एक रैली में कहा कि तेलंगाना का विकास ना तो केसीआर (कार्यवाहक मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव) परिवार और ना ही कांग्रेस प्रमुख राहुल बाबा से संभव है।

तेज गेंदबाज मोहम्मद अब्बास की घातक गेंदबाजी से पाकिस्तान जीत की और अग्रसर

वे तो ‘ब्रेक इन इंडिया’ में जुटे हैं जबकि पीएम मोदी मेक इन इंडिया की नीति को आगे बढ़ा रहे हैं। भाजपा पहली बार तेलंगाना में अकेले चुनाव लडऩे वाली है। इससे पहले वह राज्य में तेदेपा की सहयोगी थी। कई साल राजग की सहयोगी रही तेदेपा हाल में गठबंधन से अलग हो गई है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस का जनाधार घटता जा रहा है और वह टीआरएस की विकल्प बनने में अक्षम है। अमित शाह ने कहा है कि क्या कांग्रेस टीआरएस की विकल्प है? राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस राज्य में चुनाव जीतने में अक्षम है।

13 अक्टूबर को एचएएल के कर्मचारियों से मुलाकात कर सकते हैं राहुल

आज अगर आप कांग्रेस को देखना चाहते हैं तो आपके लेंस (आवर्धक लेंस) लगाकर उसे ढूंढना होगा। शाह ने केन्द्र में भाजपा के सत्ता में आने के बाद कई चुनावों में कांग्रेस की हार पर राहुल का उपहास उड़ाया। अमित शाह ने कहा कि टीआरएस ने तेलंगाना की जनता से जो वादे किए उसे पूरा करने में वह नाकाम रही। उन्होंने कहा कि केसीआर ने 2014 के विधानसभा चुनाव से पहले 150 वादे किए थे लेकिन एक भी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने वादा किया था कि वह एक दलित को मुख्यमंत्री बनाएंगे लेकिन उन्होंने इसका सम्मान नहीं किया। तेलंगाना के दलित उनकी सूची में नहीं हैं। उनके बेटे (मंत्री केटी रामाराव) या बेटी (सांसद के. कविता) को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

हर्षवर्धन ने चक्रवाती तूफान तितली से उत्पन्न हालात से निपटने के उपायों की समीक्षा की

भाजपा अध्यक्ष ने असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का मुद्दा भी उठाया और कहा कि अगर भाजपा एक बार फिर सत्ता में आई तो मोदी सरकार हर घुसपैठिये को देश से बाहर निकाल देगी। भाजपा के कटु आलोचक और हैदराबाद लोकसभा से सांसद एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि यह सिर्फ भगवा पार्टी ही थी जो उनके जैसे (ओवैसी जैसे) लोगों से लड़ सकी ना कि टीआरएस, तेदेपा या कांग्रेस। 17 सितंबर को हैदराबाद मुक्ति दिवस के रूप में नहीं मनाए जाने पर शाह ने टीआरएस प्रमुख राव की आलोचना की। उन्होंने दावा किया कि केसीआर सरकार मोदी सरकार की किफायती स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत से इसलिए नहीं जुड़ी क्योंकि उसे इससे प्रधानमंत्री की लोकप्रियता बढऩे का डर था।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.