मजबूत रणनीति के सहारे 2019 के चुनावी समर में उतरेगी बीजेपी: सरावगी

Samachar Jagat | Monday, 06 Aug 2018 04:54:48 PM
BJP will go for election campaign in 2019 with strong strategy: Sarawoga

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

झांसी। अपने परम्परागत मतदाताओं के साथ-साथ विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों का वोट पाने और मतदान से वंचित लोगों का नाम मतदाता सूची में जोडऩे की रणनीति के साथ बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में उतरने की तैयारी शुरू कर दी है।

बीजेपी के झांसी जिलाध्यक्ष(महानगर) प्रदीप सरावगी ने सोमवार को ‘यूनीवार्ता’ से बातचीत में कहा कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव भाजपा बनाम विपक्षी दल होगा। ऐसी स्थिति कमोवेश सभी राज्यों में देखने को मिलेगी और बीजेपी ने इसके लिए रणनीतिक स्तर पर तैयारी कर ली है।

इसके तहत पार्टी को संगठन के स्तर पर मजबूत करने का काम जुलाई से शुरू हो गया है जो 31 अगस्त तक चलेगा। इसके बाद एक सितम्बर से 31 अक्टूबर तक मतदाता सूची अभियान जारी रहेगा। आगामी चुनाव में पार्टी कोई कोर कसर नहीं छोडऩा चाहती है।

चुनाव से पहले लोगों तक न केवल सरकारी योजनाओं और उससे होने वाले लाभों की जानकारियां पहुंचानी ही है साथ ही संगठन को भी पूरी तरह से मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने के लिए कमोबेश सभी दलों की एकजुटता और ऐसी ही कवायदों के मद्देनजर पार्टी ने इसके तोड़ की रणनीति पहले से ही तैयार कर ली है।

हिमाचल प्रदेश में हल्की से लेकर भारी बारिश, राज्य में कुफरी सबसे ठंडा स्थान

विपक्ष की ऐसी कवायदों को धूल चटाने के लिए पार्टी ने द्विपक्षीय रणनीति तैयार की है, जिसके तहत एक ओर तो सरकार की किसी न किसी योजना का लाभ उठाने वाले लाभार्थियों का वोट बीजेपी के साथ बनाए रखना है और दूसरी ओर जो मतदाता किसी न किसी कारण से मतदान में हिस्सा नहीं ले पाते हैं उनको भी मतदान में शामिल कराना है अर्थात मतदान प्रतिशत बढाना है।

सरावगी ने बताया कि इसके लिए पहले संगठन को मजबूत करना है। इसी क्रम में बूथ से लेकर सेक्टर, मंडल और जिला स्तर पर पार्टी को संगठित करने का काम किया जा रहा है। बूथ स्तर पर घर घर जाकर लोगों से संपर्क करने का काम कार्यकर्ता करेंगे और इस स्तर पर 21 लोगों की एक समिति बनाई गई है जो सारा काम देखेगी।

सेक्टर स्तर पर सहयोजक, प्रभारी और प्रवासी नामक पदाधिकारी काम करेंगे। इस संरचना में इस बार प्रवासी पद नया जोडा गया है। प्रवासी पद पर पार्टी का कोई वरिष्ठ नेता काम करेगा। प्रवासी सहयोजक और प्रभारी के साथ बूथ समितियों से मिलकर निचले स्तर से पार्टी को मजबूत करने का काम करेगा। यह काम शहरों के साथ साथ गांवों में भी किया जायेगा।

एक बूथ पर 200 से 250 परिवार होते हैं और इन सभी से मिलकर सरकारी योजनाओं के लाभ की जानकारी तथा जो लोग इनसे लाभ ले चुके हैं उनको इसकी निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए भाजपा को वोट देेने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

सरावगी ने कहा सरकारी आंकडों के मुताबिक कल्याणकारी योजनाओं में से किसी न किसी योजना के तहत दो करोड़ लोगों ने लाभ लिया है और अब हमें इन लाभार्थियों के पास जाना है और उन्हें बताना है कि ये सभी योजनाएं हमारी सरकार ने शुरू की और आगे भी अगर आप ऐसे ही लाभ लेना चाहते हैं तो एक बार फिर भाजपा को सत्ता में लाओ।

उन्होंने कहा आंकडों के मुताबिक एक विधानसभा में कम से कम 20 हजार मतदाता विभिन्न कारणों के चलते मतदान नहीं कर पाते हैं और हमारा मानना है कि ऐसे लगभग 70 प्रतिशत वोटर बीजेपी के होते है। इन मतदाताओं का वोट डलवाना और नए मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में जुडाने के लिए पार्टी निचले स्तर से प्रयास करेगी और इसी के लिए एक सितम्बर से मतदाता सूची अभियान शुरू किया जाएगा जो 31 अक्टूबर तक चलेगा।

बिहार में बच्चों से जुड़े सुधार या कल्याण गृहों का संचालन एनजीओ नहीं करेगा : नीतीश

इस बीच पार्टी के प्रचार के लिए कई मोर्चे जैसे महिला मोर्चा, युवा मोर्चा और अल्पसंख्यक मोर्चा आदि सरकार के कार्यो प्रचार प्रसार करेगी। बीजेपी के जिलाध्यक्ष ने कहा कि पार्टी ने जिन विचारों और लक्ष्यों को लेकर 2014 में सत्ता संभाली थी उन्हीं लक्ष्यों और विचारों की 2019 में विजय होगी। देश में आजादी के बाद से जारी तुष्टिकरण की राजनीति की पराजय 2014 से शुरू हुई थी ,2019 में मोदी जी के नेतृत्व में एक बार फिर सरकार बनने के बाद इस तरह की राजनीति की पूर्ण पराजय होगी।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.