विपक्ष के दुष्प्रचार को अच्छी तरह समझते हैं किसान : राजनाथ

Samachar Jagat | Saturday, 12 Jan 2019 10:20:24 AM
Farmers well understand the propaganda of opposition: Rajnath

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने देश की आबादी में 65 से 70 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखने वाले किसानों से विपक्षी दलों के ‘अनाप-शनाप आरोपों पर ध्यान न देते हुये इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को वोट देने की अपील की है। 


गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यहाँ रामलीला मैदान में भाजपा के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन के पहले दिन शुक्रवार को कृषि संबंधी संकल्प प्रस्तुत करते हुये कहा ‘‘गाँवों की अनदेखी कर विकास गाथा नहीं लिखी जा सकती। नये भारत के निर्माण में भी किसानों की निर्णाय भूमिका होगी। यह तभी सच हो सकता है जब मोदी जी की किसान हितैषी सरकार बनी रहे।

उन्होंने विपक्षी दल कांग्रेस पर निशाना साधते हुये कहा कि वह ‘अनाप-शनाप’ आरोप लगा रहा है। वह सोचता है कि दुष्प्रचार से मोदी की छवि को धूमिल कर देंगे। काम थोड़ा कम-ज्यादा हो सकता है, लेकिन मोदी जी की नीति और नीयत पर सवाल उठाना संभव नहीं है। 

किसानों के ऋण माफी पर कांग्रेस पर हमला बोलते हुये भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उसने कर्नाटक में किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की थी, लेकिन अब वहाँ किसानों को ऋण वसूली के लिए वारंट जारी हो रहे हैं और किसानों को गिरफ्तार भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा ‘‘कांग्रेस हमेशा से किसानों की आँखों में धूल झोंकती आयी है। हमने किसानों के लिए बहुत कुछ किया है, लेकिन हम इतने से ही संतुष्ट नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि कृषि और किसान भाजपा के लिए राजनीति का नहीं राजधर्म का विषय हैं। पिछले साढ़े चार साल में किसानों में विश्वास और भरोसा जग है कि यदि मोदी प्रधानमंत्री रहे तो उनका भविष्य भी उज्ज्वल होगा। शाह ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए 14 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। वर्ष 2014 से 2018 तक कृषि क्षेत्र के लिए 2.11 लाख करोड़ रुपये का बजट दिया जबकि इससे पहले की सरकार के पाँच साल में 1.21 लाख करोड़ रुपये दिये गये थे।

उन्होंने कहा कि आपदा राहत कोष से मिलने वाली मदद बढ़ी है। दलहन की सरकारी खरीद में इजाफा हुआ है। ई-नाम के जरिये किसान देश की 575 मंडियों से जुड़े हैं। दलहन, दूध और मछली का उत्पादन बढ़ा है। बीस से ज्यादा फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लगात का डेढ़ गुणा किया गया है। 

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस को घेरते हुये कहा कि उसने संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के 10 साल के शासनकाल में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा ‘‘जब तक किसान खुशहाल नहीं होगा, देश खुशहाल नहीं हो सकता। किसानों की भागीदारी के बिना नये भारत का सपना पूरा नहीं हो सकता। सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दुगुनी करने का लक्ष्य रखा है और उसे पूरा करेगी।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक में ऋण माफी के नाम पर किसानों को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार कृषि के समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.