मेनका ने मुख्यमंत्रियों को लिखा पत्र: महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों लिए बने संयुक्त आश्रय केंद्र

Samachar Jagat | Friday, 31 Aug 2018 04:58:46 PM
Maneka wrote letters to Chief Ministers: Joint Shelter Center for Women, Elders and Children

वृंदावन। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा है कि वह अपने यहां बेसहारा महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के लिए संयुक्त आश्रय केंद्र के लिए पहल करें ताकि इनकी सही ढंग से निगरानी हो सके और मुजफ्फरपुर जैसी घटना नहीं हो।

वृंदावन में विधवा एवं बेसहारा महिलाओं के लिए आश्रय गृह 'कृष्ण कुटीर' का उद्घाटन करने के बाद मेनका ने मीडिया से कहा कि उन्होंने संयुक्त आश्रय केंद्र को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि मैंने सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि वह बेसहारा महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के लिए एक संयुक्त आश्रय स्थल के लिए जमीन दें।

मेनका ने मुख्यमंत्रियों को लिखा पत्र: महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों लिए बने संयुक्त आश्रय केंद्र

अगर एक आश्रय स्थल में सभी होंगे तो इनकी सही ढंग से निगरानी हो सकेगी। इससे मुजफ्फरपुर जैसी घटना को रोका जा सकेगा। इससे पहले मेनका और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'कृष्ण कुटीर' का उद्घाटन किया।

मंदिर की बजाय ट्रिपल तलाक की पैरवी में जुटी है मोदी सरकार: तोगड़िया

उन्होंने संयुक्त आश्रय स्थल के लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से लखनऊ और वाराणसी में जमीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया जिस पर मुख्यमंत्री ने सहमति जताई। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की 'स्वाधार गृह’ योजना के तहत वृंदावन में बनाए गए 'कृष्ण कुटीर’ में करीब एक हजार विधवाएं रह सकेंगी।

न्यायालय ने प्रिया प्रकाश वारियर, निर्देशक एवं निर्माता के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द की

इसका निर्माण एनबीसीसी के द्बारा 1.4 हेक्टेयर के क्षेत्र में किया गया है और इस पर 57 करोड़ रुपये का खर्च आया है। इस चार मंजिला इमारत को बुजुर्गों और दिव्यांगों की सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इसमें कौशल-सह-प्रशिक्षण केंद्र भी होगा।

Movie Review: कॉमेडी का डबल डोज है धर्मेन्द्र, सनी और बॉबी की फिल्म यमला पगला दिवाना फिर से

शबाना आजमी, नंदिता दास को 'भारतीय मानवता विकास पुरस्कार' से नवाजा गया



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.