नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी, काफी वक्त से थी तबियत नासाज

Samachar Jagat | Thursday, 16 Aug 2018 05:31:46 PM
Modi and Shah again arrive in AIIMS

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हमारे बीच नहीं रहे, 93 वर्ष की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली। शाम 5 बजकर 5 मिनट पर उन्होंने आखिरी सांस ली। यह जानकारी एम्स के हवाले से आई है। अटल बिहारी के निधन से पूरे देशभर में शोक की लहर है। इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत लगातार नाजुक बनी हुई है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है। इस बीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) में पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी पार्टी अध्यक्ष अमित शाह फिर से एम्स पहुंचे हैं।

कई राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं का वाजपेयी को हालचाल जाने के लिए आने का सिलसिला जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिह के साथ वाजपेयी को देखने एम्स पहुंचे। कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी वाजपेयी का हाल जानने के लिए यहां पहुंचे हैं।

एम्स ने ताजा बुलेटिन में उम्मीद की कोई किरण नहीं दिखाई दी है। एम्स की मीडिया एवं प्रोटोकाल डिवीजन की प्रमुख प्रो. आरती विज ने करीब 11 बजे दो पंक्तियों का बुलेटिन जारी किया जिसमें कहा गया कि वाजपेयी की सेहत यथावत बनी हुई है।

उनकी हालत नाजुक है और वह जीवनरक्षक प्रणाली पर बने हुए हैं। एम्स ने बुधवार रात मेडिकल बुलेटिन में कहा था, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पिछले नौ सप्ताह से एम्स में भर्ती हैं दुर्भाग्य से पिछले 24 घंटों के दौरान उनकी हालत बिगड़ी है।

उनकी हालत अति गंभीर है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है। पूरे देश की निगाहें एम्स पर लगीं हुईं हैं। उपराष्ट्रपति एम वेंकैयानायडू वाजपेयी को देखने आज सुबह अस्पताल पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  वाजपेयी के स्वास्थ्य को लेकर लगातार नजर रखे हुए हैं।

मोदी कल देर शाम वाजपेयी का हालचाल जानने एम्स गये थे और उनका उपचार कर रहे डाक्टरों से बातचीत की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा , केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, रामविलास पासवान, गिरिराज सिह हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिह सोलंकी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी उनका हाल जानने के लिए आज सुबह एम्स पहुंचे।

इसके बाद केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने भी एम्स जाकर वाजपेयी की स्वास्थ के बारे में जानकारी ली। कई अन्य नेता भी पूर्व प्रधानमंत्री का हालचाल जानने अस्पताल पहुंच रहे हैं। बड़ी संख्या में केन्द्रीय मंत्रियों , राजनीतिक दलों के नेताओं और उनके प्रशंसकों के आने के कारण यहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (दक्षिण) देवेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को एम्स के आसपास तैनात किया गया है। एम्स के बाहर और उसके अंदर वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हैं और यातायात को सामान्य बनाए रखने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उधर वाजपेयी के आवास 6 कृष्णमेनन मार्ग पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है और वहां पर अधिकारियों की हलचल बढ गई है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान एवं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के अपने अपने कार्यक्रम रद्द करके दिल्ली के लिए रवाना होने की सूचना मिली है। वाजपेयी को गत 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था।

राजे गौरव यात्रा छोड़ वाजपेयी की कुशलक्षेम जानने दिल्ली रवाना
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कुशल क्षेम जानने के लिए राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे गुरुवार को अपनी गौरव यात्रा बीच में ही छोड़कर दिल्ली रवाना हो गई हैं। मुख्यमंत्री राजे की 'राजस्थान गौरव यात्रा' का दूसरा चरण गुरुवार को सवाई माधोपुर से शुरू होना था।

आधिकारिक बयान के अनुसार वे इसे छोड़कर दिल्ली रवाना हो गई। यात्रा को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के शीघ्र स्वास्थ्य को लेकर प्रदेशभर में जगह जगह प्रार्थनाएं व हवन यज्ञ किए जा रहे हैं। अजमेर की प्रसिद्ब ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में उनकी तंदुरूस्ती के लिए दुआएं मांगी गईं।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.