मोदी की फूट डालने की कोशिश काम नहीं आयेगी : मायावती

Samachar Jagat | Monday, 06 May 2019 10:24:22 AM
Modi's split will not work : mayawati

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने कहा कि सपा- बसपा गठबन्धन को लेकर भ्रम फैलाने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कोशिश बेकार जायेंगी और जनता लोकसभा चुनाव में सांप्रदायिक और जातिवादी सरकार का अंत कर देगी। 
मायावती ने रविवार को यहां पत्रकारों से कहा ‘‘ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को प्रतापगढ़ की अपनी चुनावी जनसभा में फूट डालो व राज करो की नीति के तहत जो हमारे के लोगों में भ्रम पैदा करने की घिनौनी हरकत की है। इस सम्बन्ध में इनको हमारा यही कहना है कि जब से उत्तर प्रदेश में लोकसभा आमचुनाव के लिए यहाँ बसपा सपा और रालोद का गठबन्धन बना है तबसे भाजपा खासकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अभूतपूर्व संकट में हैं। 

Rawat Public School

उन्होने कहा  मोदी को इस गठबन्धन से पेट में जो दर्द हो रहा है उसका कोई इलाज उन्हें नहीं मिल पा रहा है और ना ही आगे कोई इसका समाधान उन्हें मिलने वाला है जबकि यह गठबन्धन वर्तमान के साथ-साथ भविष्य का भी गठबन्धन है जो आगे चलकर उत्तर प्रदेश से भी बीजेपी की संकीर्ण, जातिवादी, साम्प्रदायिक, व अहंकारी सरकार को जरूर उखाड़ फेंकेगा।


बसपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री मोदी यह भूल गये कि हमारा यह गठबन्धन व्यापक जनहित व देशहित के लिए बीजेपी की जनविरोधी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए ही बना है और इसके लिए गठबन्धन की हमारी तीनों पार्टियाँ ही यहाँ हर प्रकार की अपनी कुर्बानी देती रही हैं और आगे भी देती रहेंगी।

उन्होने कहा कि सर्वसमाज की दु:खी जनता पूरी तरह से इस गठबन्धन पर अपना आर्शीवाद बनाये हुए है और इस संकल्प के साथ काम कर रही है कि इस महीने 23 मई को बीजेपी गई और देश को एक निरंकुश व अहंकारी सरकार से मुक्ति मिली। मायावती ने कहा कि इसके अलावा, केन्द्र में अगली सरकार और अगले प्रधानमंत्री की परवाह नरेन्द्र मोदी एण्ड कम्पनी के लोग ना करें, तो यह बेहतर ही होगा। और अब अगली सरकार जरूर बनेगी और साथ ही जनहित व देशहित को मजबूत बनाने वाली यहाँ सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय की ही सरकार बनेगी।

उन्होने कहा कि हमारी पार्टी आज भी अपनी पार्टी की सोच और मूवमेन्ट के मामले में विशेषकर कांग्रेस व बीजेपी को एक ही थाली के चट्टे-बट्टे मानकर चलती है, लेकिन इसके बावजूद हमने देश व आमजनहित में बीजेपी व आर.एस.एसवादी ताकतों को कमजोर करने के लिए यहाँ उत्तर प्रदेश की अमेठी व रायबरेली लोकसभा की सीट को कांग्रेस पार्टी के लिए इसलिए छोड़ दिया था ताकि इस पार्टी के दोनों सर्वोच्च नेता जो इन दोनों सीटों से ही फिर से यहाँ लोकसभा का आमचुनाव लड़ेंगे। यदि ये अकेले ही यह चुनाव लड़ते हैं और फिर कही इसका फायदा बीजेपी उत्तर प्रदेश के बाहर ज्यादा ना उठा ले, इसे खास ध्यान में रखकर ही फिर हमारे बने इस गठबन्धन ने ये दोनों सीटे कांग्रेस पार्टी के लिए छोड़ दी थी। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.