राहुल के झूठ की कलई खुली, देश से माफी मांगें - भाजपा

Samachar Jagat | Thursday, 14 Feb 2019 01:34:51 PM
Rahul's lies open up, apologize to the country - BJP

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राफेल के मुद्दे पर नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा और मांग की कि उनके झूठ की कलई पूरी तरह से खुल चुकी है और अब उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए। 


भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार देर शाम एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि श्री राहुल गांधी का झूठ पकड़ा गया है। वह बेशर्मी से देश के सामने झूठ परोस रहे थे। झूठ की बानगी बहुत दिनों तक नहीं चलती है। उन्हें अब देश से माफी मांगनी चाहिए। कैग ने कह दिया है कि विमान की कीमत संप्रग सरकार के दौरान प्रस्तावित सौदे की कीमत से 2.8 प्रतिशत कम है और भारत के हिसाब से विशिष्टताओं को जोड़े जाने की कीमत 17.08 प्रतिशत कम है।

उन्होंने कहा कि देश में ऐसी परंपरा है कि एक बार किसी बात का सच सामने आ जाए तो लोग उसे स्वीकार कर लेते हैं। राफेल मामले में संसद में दो बार बहस हो चुकी है, प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री एवं रक्षा मंत्री पूरा पक्ष रख चुके हैं। एक दो को छोडक़र सभी रक्षा विशेषज्ञों, वायुसेना के पूर्व प्रमुखों एवं वर्तमान प्रमुख ने राफेल को देश की सुरक्षा के लिए बताया है। क्षमता, गुणवत्ता, निर्णय प्रक्रिया को लेकर दो संवैधानिक संस्थाओं -उच्चतम न्यायालय एवं कैग ने इस सौदे को उचित एवं देश की सुरक्षा के लिए जरूरी बताया है। न्यायालय ने प्रक्रिया पर संतुष्टि जाहिर की है।

उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने 14 दिसंबर 2018 को कहा था कि भारत के पास पड़ोसी देशों के पांचवीं पीढ़ी के विमानों का मुकाबला करने वाले विमान नहीं हैं। कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि 15 साल तक इस दिशा में कोई काम नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि कैग ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के कार्यकाल में विमान खरीदने के निर्णय को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था। 

प्रसाद ने आरोप लगाया कि कांग्रेस का नेतृत्व बिना कमीशन के कोई रक्षा सौदा नहीं करता है। तभी वह सीधे कंपनी से सौदा करने में लगी थी जिसमें कमीशन मिलता है, लेकिन दूसरा रास्ता दो देशों की सरकारों के बीच सौदा किया जाता है। राफेल के मामले में दो शासनाध्यक्षों के बीच सौदा हुआ है, जिसमें कोई कमीशन नहीं है। उन्होंने कहा कि गांधी ने प्रधानमंत्री को देशद्रोही कहा है। जबकि उनका पूरा खानदान लूट में शामिल रहा है। फिर भी हमने उनको देशद्रोही नहीं कहा। पर हम उनके भ्रष्टाचार का पुरजोर विरोध करते रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि गांधी विदेशी ताकतों के इशारे पर और विदेशी विमान निर्माताओं के एजेंट के रूप में काम करते हैं। 

उन्होंने कहा, ‘‘हम सोचते थे कि इसके बाद गांधी शांत हो जाएंगे। लेकिन उन्होंने जो कल कहा था, वही आज फिर दोहराया है। इंदिरा गांधी के पोते एवं राजीव गांधी के बेटे कैसे इतनी बेशर्मी से झूठ बोलते हैं। ये कल्पना करना मुश्किल है।’’ उन्होंने कहा कि गांधी का झूठ बेनकाब हो गया है। उन्होंने पूछा कि गांधी कितना कैग की रिपोर्ट को समझते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष कल एयरबस के आंतरिक ईमेल में हेलीकॉप्टर की खरीद को युद्धक विमान की खरीद की प्रक्रिया से तुलना कर रहे थे। उनके साथ बड़ी टीम काम करती है पर ना वह समझते हैं और ना शायद उन्हें कोई समझा सकता है। 

उन्होंने कहा कि कैग ने हिन्दुस्तान एयरोनॉटिकल्स लिमिटेड (एचएएल) को लेकर गांधी के झूठ को भी उजागर कर दिया है। कैग ने कहा है कि एचएएल राफेल विमान बनाने में दसॉल्ट की तुलना में 2.87 गुना अधिक समय लेगी और गुणवत्ता की गारंटी दसॉल्ट लेने को तैयार नहीं थी। इससे एचएएल की अक्षमता का पता चलता है। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.