मोदी सरकार में कम हुआ रक्षा खर्च, राष्ट्रीय सुरक्षा की स्थिति कमजोर हुई : कांग्रेस

Samachar Jagat | Wednesday, 22 Aug 2018 09:13:56 AM
Reduced defense spending in the Modi government, National security situation weakened:   Congress

नई दिल्ली। कांग्रेस ने संसद की एक समिति की रिपोर्ट का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार के शासनकाल में रक्षा खर्च में लगातार कमी हुई है और पिछले चार वर्षों में राष्ट्रीय सुरक्षा की स्थिति भी कमजोर हुई है। पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने संवाददाताओं से कहा, कि 10 अगस्त को खत्म हुए मानसून सत्र में कुछ महत्वपूर्ण संसदीय रिपोर्ट आई हैं। इसमें प्राकलन समिति (इस्टीमेट कमेटी) की रिपोर्ट भी है।

इमरान का खर्चों में कटौती पर अमल शुरू, मंत्रियों को बैठक में केवल चाय 

उन्होंने कहा, कि प्राकलन समिति के अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी हैं। 30 सदस्यों में 16 भाजपा से है। समिति चार वर्षों के बाद अपनी रिपोर्ट के साथ सामने आई है। सर्वसम्मति से रिपोर्ट तैयार हुई। इसमें रक्षा विनिर्माण और खरीद के सन्दर्भ में कुछ चिताजनक बातें की गयी हैं।

51 साल बाद कोई राजनेता बना जम्मू कश्मीर का राज्यपाल, केंद्र की रणनीति में बदलाव का संकेत? 

तिवारी ने कहा, कि समिति ने कहा है कि कुल जीडीपी के संदर्भ में रक्षा खर्च में गिरावट हुई है। 2014-15 के बाद से लगातार गिरावट आई है।इसमें देश की सुरक्षा साथ समझौते की बात की गई है। उन्होंने कहा, सरकार ने पिछले वर्ष कुल जीडीपी का 1.56 प्रतिशत अपनी सुरक्षा पर खर्चा किया। ये सरकार छाती ठोक-ठोक कर कहती है कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले पर हम बहुत ज्यादा ही मजबूत हैं और बहुत कठोर कार्यवाही करते हैं। सच्चाई यह है कि इस सरकार में राष्ट्रीय सुरक्षा की स्थिति कमजोर हुई है।

बाढ़ प्रभावित केरल में बीमा दावों के 1,000 करोड़ रुपए से ऊपर जाने की संभावना 

उन्होंने कहा, हम प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री से पूछना चाहते हैं कि रक्षा खर्च में कमी क्यों हो रही है? क्या इससे भारत मजबूत होता है? कांग्रेस नेता ने दावा किया, सरकार की गलत नीतियों की वजह से नेपाल चीन की तरफ चला गया है। मालदीव की सरकार धमकी देती है। चीन का खतरा वास्तविक है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.