युवाओं को तय करना होगा व्यक्तियों के आधार वाली पार्टी या विचार धारा वाली पार्टी-शाह

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Oct 2018 10:33:21 AM
The youth must decide whether the party or the party with the basis of the persons party-Shah

ग्वालियर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि युवाओं को आने वाले चुनावों में यह तय करना होगा कि वह व्यक्तियों के आधार वाली पार्टी को पसंद करें या फिर विचार के आधार वाली पार्टी को। 

शाह आज यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा आयोजित युवा समेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में सबसे बडी पार्टी कांग्रेस स्वयं में लोकतंत्र नहीं है, ऐसी पार्टी देश में लोकतंत्र की रक्षा कैसे कर सकती है। वह देश का विकास नहीं कर सकती है वह तो केवल अपनी कुर्सी बचाने में लगी रहती है।

उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश में आगामी चुनावों में शिवराज सरकार के 14 साल और केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के साढे चार साल का कार्यकाल पिछली सरकारों के कार्यकाल पर भारी है। इस सरकारों से देश प्रदेश में विकास की गति बढी है। गांवों में 24 घंटे बिजली, गरीबों को गैस चूल्हा, आवासहीनों को मकान देने की योजनाओं पर अमल हुआ है। इससे पूर्व की सरकारों में गैस के कूपन सांसदों को कितने दिये जाएं, कितने गांवों में बिजली पहुंचाई जाए ऐसे लक्ष्य निर्धारित किये जाते थे। 

उन्होंने कहा कि 2022 में आजादी के 75 वीं वर्षगांठ पर ऐसा कोई गरीब का घर नहीं होगा जिसमें गैस चूल्हा ना हो। हर गरीब के लिए शौचालय होगा। घुसपैठिये देश से बाहर होंगे। उन्होंने कहा कि इससे पहले घुसपैठियों को कांग्रेस से लेकर ममता की सरकारें वोट बैंक समझती थी। वहीं घुसपैठियों के आने पर संसद तक में इन सरकार के नुमांइंदों ने रोना रोया , लेकिन प्रधानमंत्री ने आसाम में एनआरसी के बाद घुसपैठियों को पहचान कर बाहर करने का रास्ता मजबूत किया है। 

उन्होंने कहा कि 2019 में भाजपा की मोदी की सरकार सत्ता में आने पर एक एक घुसपैठियों को बाहर निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्वालियर की धरती वीरांगनाओं वीरों की धरती है। यहां से आजादी की लडाई में लडी वीरांगना लक्ष्मीबाई का कर्मक्षेत्र है वहीं पंडित रामप्रसाद बिस्मिल ने भी यहां से आजादी की लडाई का सूत्रपात किया। इन लोगों ने अपने वारे में नहीं देश के बारे में सोचा और आज इतिहास में इनमा नाम अमिट है और आने वाली पीढियां भी इन्हें याद करती रहेंगी, यह लोग युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत की तरह काम करते रहेंगे। 

उन्होंने कहा कि 1975 में इंदिरा गांधी ने आपात काल लगाया उसके बाद 77 में हुए चुनाव में युवाओं ने एक बडा परिवर्तन कर लोकतंत्र को मजबूत करने का मेंडेट दिया। यदि इंदिरा जी फिर से 1975 में चुनाव जीत जातीं तो लोकतंत्र की बात सोचना भी बेमानी होती। उन्होंने कहा कि भाजपा और अन्य पार्टियों में इंतना अंतर कि भाजपा में लोकतंत्र भजदा है। अन्य पार्टियों में परिवार के सदस्य ही सर्वेसर्वा हैं। 

उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सैनिकों के कमांडरों को बुलाया और दस दिन में सर्जीकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान में घुसकर बदला लिया। राहुल बाबा इसके बारे में प्रधानमंत्री से पूछते रहे। सर्जीकल स्ट्रइक के बाद भारत का नाम भी अपने सैनिकों की मौत का बदला लेने वालों में अमेरिका इजराइल के बाद शुमार हो गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विदेशों में भी भारत का नाम ऊंचा किया है। 

इससे पूर्व युवा समेलन को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने संबोधित किया। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, भाजपा के महामंत्री संगठन रामलाल, उपाध्यक्ष एवं मप्र के प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे,उपाध्यक्ष प्रभात झा, केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेन्द्र प्रधान, अनिल जैन , मप्र के मंत्री जयभान सिंह पवैया, नरोत्तम मिश्रा  माया सिंह, नारायण सिंह कुशवाह, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे। 

शाह कार्यक्रम के पश्चात पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी के निवास स्थान पर पहुंचे। इसके साथ ही राजमाता विजयराजे सिंधिया की छतरी व विरांगना लक्ष्मीबाई की समाधि पर पहुंचकर पुष्पांजलि अर्पित की। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.