उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्नाव कांड में इंसाफ की प्रक्रिया का गला घोंटा : माकपा

Samachar Jagat | Friday, 02 Aug 2019 12:49:37 PM
Uttar Pradesh government strangle justice process in Unnao scam: CPI (M)

नई दिल्ली। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उन्नाव बलात्कार कांड में सरेआम न्याय की प्रक्रिया का गला घोंटा और इस मामले में उच्चतम न्यायालय का दखल सराहनीय है।


उच्चतम न्यायालय ने उन्नाव बलात्कार कांड में दर्ज सभी पांच मामलों को बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश की एक अदालत से दिल्ली की अदालत में स्थानांतरित करने का निर्देश दिया। शीर्ष अदालत ने राज्य सरकार को बलात्कार पीडि़ता को अंतरिम मुआवजे के तौर पर 25 लाख रूपये देने का भी निर्देश दिया।

माकपा की पोलित ब्यूरो सदस्य बृंदा करात ने कहा, ‘‘ हम उन्नाव बलात्कार कांड में उच्चतम न्यायालय के दखल का स्वागत करते हैं। सभी संबंधित मामलों को उत्तरप्रदेश से स्थांतरित करने का आदेश उत्तर प्रदेश सरकार को गुनाहगार की श्रेणी में खड़ा करता है। मुख्यमंत्री के तहत प्रशासन ने पीडि़ता के बजाय आरोपी का सहयोग कर सरेआम इंसाफ की प्रक्रिया का गला घोंटा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ अपराध के बाद उसे निकालने में भाजपा को दो साल लग गये जो उसके ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ नारे के पांखड को दर्शाता है। उस पर शर्म है।’’

देशभर में लोगों की भारी नाराजगी के बीच भाजपा ने उत्तर प्रदेश के आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर को निष्कासित कर दिया। सेंगर पर दो साल पहले उन्नाव में एक नाबालिग लडक़ी से बलात्कार करने ओर उसके परिवार के दो सदस्यों की हत्या का आरोप है। वह जेल में है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.