गणेश चतुर्थी पर गणपति को लगाएं नारियल चावल के लड्डुओं का भोग

Samachar Jagat | Wednesday, 12 Sep 2018 11:01:10 AM
Apply Ganapati to rice Coconut ladoo on Ganesh Chaturthi

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। भगवान गणेश को लड्डू बहुत पसंद हैं, इसी कारण गणेश चतुर्थी पर गणपति को लड्डुओं का भोग लगाया जाता है । आप गणेश चतुर्थी पर गणपति को नारियल चावल के लड्डुओं का भी भोग लगा सकती हैं । नारियल चावल के लड्डू बनाना बहुत ही आसान है और ये खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं । आइए जानते हैं कैसे बनाए जाते हैं नारियल चावल के लड्डू.....

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

सामग्री :-

नारियल - एक कप ( कसा हुआ )
चावल - 2 कप ( उबले हुए )
मेवे - आधा कप ( बारीक कटे हुए )
घी 
इलायची पाउडर - एक चम्मच
नारियल का चूरा
चीनी पाउडर

भगवान शिव के भी परमप्रिय सेवक हैं धन के देवता कुबेर, प्रसन्न करने के लिए करें इस मंत्र का जाप

विधि :-

नारियल चावल के लड्डू बनाने के लिए सबसे पहले आप एक कडाही में घी गरम करें । जब घी गरम हो जाए तब इसमें नारियल और उबले हुए चावल डालकर इन्हें अच्छे से भूनें ।


 
जब ये भुन जाएं तब इन्हें प्लेट में निकाल लें और जब मिश्रण ठंडा हो जाए तब इसमें कटे हुए मेवे, इलायची पाउडर और चीनी पाउडर मिलाएं, सारे मिश्रण को अच्छे से मिक्स करके थोड़ा - थोड़ा मिश्रण हाथों में लें और इसके लड्डू बना लें । 

इन लड्डुओं को नारियल के चूरे में लपेटें । आपके नारियल चावल के लड्डू बनकर तैयार हैं । अगर आप चाहें तो कच्चे चावलों को पीसकर भी इसके लड्डू बना सकती हैं । पिसे हुए नारियल के लड्डू भी खाने में बहुत स्वादिष्ट लगते हैं । 

ओप्पो ने लॉन्च किया वाटरड्रॉप नॉच डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन Oppo A7X, जानें कीमत और फीचर्स

अलीबाबा के जैक मा 54 साल की उम्र में हो जाएंगे सेवानिवृत्त, शिक्षा के क्षेत्र में लगाएंगे बाकी का समय और पैसा

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.