गणेश प्रतिमा का विसर्जन इस विधि-विधान से करे, साल भर बना रहेगा उनका आशीर्वाद

Samachar Jagat | Wednesday, 11 Sep 2019 01:35:56 PM
Immerse Ganesha idol with this method, their blessings will remain throughout the year

इंटरनेट डेस्क  भादो मास में 2 सितंबर से शुरु होने वाला गणेश चतुर्थी का त्योहार अनंत चतुर्थी तक बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। यह उत्सव 10 दिनो तक  चलता है। इन 10 दिनों में भक्त लोग पूजा- पाठ, आराधना के माध्यम से उन्हे प्रसंन कर सुख समृद्धि प्राप्त करने की कामना करते है।


loading...

 अनंत चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की प्रतिमा का विसर्जन कर उनसे विदाई लेने का समय होता है। अनंत चतुर्थी इस बार 12 सितंबर को मनाई जाऐगी। इस दिन हम लोग उनसे विदाई लेते है।

गणपति बप्पा का विसर्जन बड़ी सावधानी से विधि-विधान से करना चाहिए।

इस विधि- विधान से करे गणपति बप्पा की बिदाईः

 जिस दिन गणेश जी को विदा करना हो उस दिन भगवान गणेश जी की आरती कर उनके प्रिय भोग लगाये। उसके बाद एक स्वच्छ पाटा लेकर उसे गंगाजल से साफ कर उसपर पीला या लाल कपड़ा बिछाएं और उस पाटे पर स्वास्तिक बनाकर उसपर थोड़ा चावल रखे। पाटे के चारों कोने पर चार सुपारी भी रखें।उसके बाद मंत्रों द्वारा स्थापना वाली जगह से उठाकर पाटे पर बैठा दे। पाटे पर विराजित करने के उपरान्त फल, फूल, वस्त्र, दक्षिणा, 5 मोदक रखें। नदी, तालाब या पोखर के किनारे विसर्जन से पूर्व कपूर से बप्पा की पुनः आरती करें। श्री गणेश से खुशी-खुशी बिदाई की कामना करें और उन्हें धन, सुख, शांति, समृद्धि के साथ मनचाहें आशीर्वाद मांगें। अंत में कोई गलती होने पर बप्पा से क्षमा मांगें।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.