कोलंबियाई क्लब ने ब्राजीली क्लब को खिताब देने की पेशकश की

Samachar Jagat | Wednesday, 30 Nov 2016 11:41:16 AM
कोलंबियाई क्लब ने ब्राजीली क्लब को खिताब देने की पेशकश की

बोगोटा। कोलंबिया के फुटबॉल क्लब एटलेटिको नैसियोनल ने विमान दुर्घटना में मारे गए ब्राजीली खिलाडिय़ों को श्रद्धांजलि देते हुए हार स्वीकार करने और कोपा सूडामैरिकाना कप का खिताब ब्राजील के फुटबाल क्लब चापेकोंसे टीम को देने की पेशकश की है। 

एटलेटिको नैसियोनल की टीम ने अपने क्षेत्रीय फुटबॉल परिसंघ से ब्राजील के फुटबाल क्लब चापेकोंसे टीम को कोपा सूडामैरिकाना कप का खिताब देने का अनुरोध किया है। कोपा लिबेर्ताडोरेस के बाद कोपा सूडामैरिकाना कप दक्षिण अमेरिका का दूसरा सबसे बड़ा प्रतिष्ठित फुटबॉल टूर्नामेंट है। 

नैसियोनल की टीम ने एक बयान में कहा, विमान दुर्घटना में मारे गए ब्राजीली खिलाड़यिों को श्रद्धांजलि देते हुए हमें कोपा सूडामैरिकाना कप का खिताब उनकी क्लब चापेकोंसे टीम को देना चाहिए। ब्राजीली खिलाड़यिों के प्रति यही हमारी एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इसके अलावा ब्राजील की प्रथम श्रेणी की फुटबॉल टीमों ने अपने खिलाड़यिों को चापेकोंसे टीम को देने की पेशकश की है, ताकि टीम के अस्तित्व को बचाया जा सके। 

गौरतलब है कि ब्राजील के फुटबाल क्लब चापेकोंसे के खिलाड़यिों सहित 81 लोगों को ले जा रहा एक बीएई 146 चार्टर्ड विमान मंगलवार को कोलंबिया में मेडेलिन शहर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें खिलाड़यिों समेत 76 लोगों की मौत हो गई थी। इस दर्दनाक हादसे के बाद पूरा ब्राजील शोक में डूब गया और देश में तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा कर दी गई ।

हादसे के बाद टूर्नामेंट का फाइनल रद्द कर दिया गया है। पूरा फुटबॉल जगत इस हादसेे के बाद शोक में डूब गया। दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल महासंघ ने अपने सभी मैच और अन्य गतिविधियों को अगले नोटिस तक स्थगित कर दिया है। दुनिया भर से इस घटना के बाद शोक संदेश आ रहे हैं। यह पहली बार था जब चापेको शहर का कोई क्लब किसी दक्षिण अमेरिकी क्लब के फाइनल में पहुंचा था।             -एजेंसी

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.