पांच क्रिकेटर भाईयों के साथ पाकिस्तान में जा बसा था यह भारतीय बल्लेबाज, पाकिस्तान के लिए लगाया था पहला तिहरा शतक

Samachar Jagat | Tuesday, 03 Sep 2019 11:33:24 AM
cricketer hanif mohammad score first triple hundred for pakistan

इंटरनेट डेस्क। आपने भारत के पूर्व क्रिकेटर के बारे में तो खूब सुना ओर पढ़ा होगा। लेकिन, ऐसे क्रिकेटर के बारे में शायद ही पढ़ा होगा जो पैदा भारत में हुआ था लेकिन, आजीवन पाकिस्तान के लिए खेलता रहा। आज हम आपको ऐसे ही एक क्रिकेटर के बारे में बताने जा हरे हैं। हम बात कर रहे हैं क्रिकेटर मोहम्मद हनीफ। हनीफ का जन्म जूनागढ़ (भारत, गुजरात) में हुआ था। लेकिन,भारत पाक बंटवारे के बाद वह पाकिस्तान चले गए। नये नये अस्तित्व में आए पाकिस्तान में मोहम्मद हनीफ क्रिकेट बड़े सितारे बन गए।


loading...

हनीफ मोहम्मद को पाकिस्तान में फॉदर ऑफ पाकिस्तान क्रिकेट कहा जाने लगा। लेकिन, हनीफ मोहम्मद से जुड़ी हम आपको एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं जो आपको हैरान कर देगी। दरअसल, हनीफ मोहम्मद के पांच भाई थे। पांचों भाईयों ने पाकिस्तान के लिए क्रिकेटर खेला। यह एक ऐसा रिकॉर्ड है जो पाकिस्तान के क्रिकेट इतिहास में दर्ज हो गया। हनीफ मोहम्मद के तीन भाई तो ऐसे थे जो एक वक्त में पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम के लिए खेले। हनीफ सहित चारों भाईयों ने पाकिस्तान के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला। जबकि चार भाई पाकिस्तान की टेस्ट टीम में दिखाई दिये।

क्रिकेट इतिहासकार और रिकॉर्ड रखने वाले यह बताते हुए कभी नहीं थकते कि हनीफ मोहम्मद जो एक महान क्रिकेटर थे। उनके तीन भाई 1950, 1960 और 1970 के दशक में पाकिस्तान क्रिकेट में जाने पहचाने नाम थे और क्रिकेट टीम में उनका काफी दबदबा था। हनीफ के अलावा, सबसे बड़े, वज़ीर मोहम्मद, और छोटे, मुश्ताक मोहम्मद और सादिक मोहम्मद, क्रिकेट के शीर्ष डिवीजन  में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करते थे। सिर्फ रईस मोहम्मद, पांचवां भाई जो हनीफ से दो साल बड़ा था वह एक भी टेस्ट में शामिल नहीं था, हालांकि वह 1954-1955 में ढाका में भारत के खिलाफ खेले। यह श्रृंखला का शुरुआती टेस्ट था और रईस पाकिस्तान टीम के सदस्य थे।

हनीफ मोहम्मद 1952-53 सीजऩ और 1969-70 सीजऩ के बीच 55 टेस्ट मैचों में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के लिए खेले। उन्होंने 43.98 की औसत से बारह शतक बनाए। करियर के चरम पर रहते दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक माना जाता था, जब पाकिस्तान बहुत कम टेस्ट क्रिकेट खेलता था। हनीफ ने 17 साल के करियर में सिर्फ 55 टेस्ट मैच खेले। ईएसपीएनक्रिकइन्फो द्वारा उनके उन्हें लिटिल मास्टर के रूप में सम्मानित किया गया था। हालांकि, यह खिताब हनीफ मोहम्मद के बाद सुनील गावस्कर और अब सचिन तेंदुलकर को भी मिल चुका है। वह टेस्ट मैच में तिहरा शतक लगाने वाले पहले पाकिस्तानी थे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.