रूस को हराकर 20 साल बाद एक बार फिर सपने को साकार करना चाहेगा क्रोएशिया

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 01:46:17 PM
Croatia will want to reach Russia after 20 years in the semi-finals

सोची। क्रोएशिया 1998 के बाद पहली बार फुटबॉल विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के इरादे से कल मेजबान रूस के खिलाफ क्वार्टरफाइनल मुकाबले में उतरेगा। क्रोएशिया स्वतंत्र राष्ट्र बनने के बाद पहली बार 20 साल पहले विश्वकप के लिए क्वालीफाई करने के बाद सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था।

त्रिकोणीय टी-20 सीरीज: पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को 45 रन से दी शिकस्त

फुटबाॅल विश्वकप में इस बार आश्चर्यचकित करने वाले नतीजे मिले है लेकिन क्रोएशिया को अंतिम आठ मुकाबले में इस से अच्छा करने का मौका शायद ही मिले। टीम ने 1998 में क्वार्टर फाइनल में जर्मनी को 3-0 से हराया था। जलाटको डालिच टीम ने ग्रुप चरण में अर्जेंटीना जैसे मजबूत दावेदार पर निडर खेल के बूते 3-0 की जीत दर्ज की थी। क्रोएशिया ने नाइजीरिया और आइसलैंड को भी शिकस्त दी और अपने ग्रुप में सबसे मजबूत टीम रही।

क्रोएशिया ने नाकआउट चरण के पहले मुकाबले में डेनमार्क को पेनल्टी में हराया। जिसके बाद टीम यहां के आत्मविश्वास के साथ पहुंची है। रक्षापंक्ति के खिलाड़ी डोमागोज विदा ने कहा, हमने इस विश्व कप में दिखाया है कि हमें बड़े सपने देखने का अधिकार है। हम वास्तव में अच्छा खेल रहे हैं और हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जिन पर हमें निश्चित रूप से विश्वास करना चाहिए कि वे टीम को आखिर तक जा सकते हैं।

BCCI अधिकारी उच्चतम न्यायालय के आदेश को पलटने का प्रयास कर रहे हैं : सीओए

जिस टीम में लुका मोड्रिक जैसा शानदार खिलाड़ी हो उसे सपने देखने का पूरा अधिकार है, खासकर तब जब उन्हें इवान राकिटिक और मारियो मंडजुकिच जैसे खिलाड़ियों का साथ मिले। टीम के खिलाड़ी इवान पेरिसिच ने मोड्रिक की तारीफ करते हुए कहा , वह हमारे कप्तान है, हमारे नेतृत्व करते है हम सब उनके पीछे खड़े है। रीयाल मैड्रिड का यह खिलाड़ी शायद टूर्नामेंट के सबसे अच्छा मिडफील्डरों में से एक है लेकिन इस छोटे देश के लिए खिलाड़ियों का ऐसा कौशल उल्लेखनीय है।

 टीम के 16 खिलाड़ी यूरोप के पांच बड़े लीग टीमों में खेलते है। मोनाको के गोलकीपर दानीजेल सुबासिक डेनमार्क के खिलाफ तीन पेनल्टी का बचाव कर नायक बन कर उभरे है। कोएशिया को हालांकि रूस को कमतर आंकना भारी पड़ सकता है। रैंकिग के मामले में रूस की टीम भले ही विश्व कप में भाग ले रही टीमों में सबसे निचले पायदान पर हो लेकिन घरेलू दर्शकों के समर्थन से टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है।

ग्रुप चरण में सऊदी अरब और मिस्र को एकतरफा मुकाबले में मात देने के बाद रूस को उरूग्वे से हार का सामना करना पड़ा था। रूस ने शुरूआती दो मैचों में आठ गोल कर अपने इरादे जाहिर कर दिये थे। उन्होंने प्री - क्वार्टर फाइनल में स्पेन जैसी मजबूत दावेदार का सफर खत्म किया। मैच 1-1 से बराबरी पर छूटने के बाद रूस ने पेनल्टी कार्नर में 4-3 से मैच अपने नाम किया। क्रोएशिया को मैदान पर रूस से जूझने के अलावा स्टेडियम में मौजूद दर्शकों से भी पार पाना होगा जो घरेलू टीम के लिए 12 वें खिलाड़ी की तरह होंगे।

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.