इंग्लैंड की बल्लेबाजी कमजोर , श्रृंखला अभी भी खुली : हरभजन

Samachar Jagat | Thursday, 23 Aug 2018 01:11:28 PM
England's batting weakens, series still open: Harbhajan

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नॉटिंघम। अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि इंग्लैंड की बल्लेबाजी काफी कमजोर है और स्पिन तथा तेज गेंदबाजों दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है जिससे भारत पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला जीत सकता है। पहले दो टेस्ट हारने के बाद भारत ने तीसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 203 रन से जीत दर्ज करके श्रृंखला में वापसी की। 

हरभजन ने कहा इंग्लैंड का बल्लेबाजी क्रम समस्या से घिरा है । वे ऐसे खेल रहे हैं मानो भारत दौरे पर हैं ।ऐसा लग ही नहीं रहा कि वे अपने देश में खेल रहे हैं। उन्होंने कहा उनकी बल्लेबाजी स्पिन और तेज आक्रमण दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है। उनके कुछ स्टार बल्लेबाजों का घरेलू सॢकट में औसत 30 . 35 का रिकार्ड रहा है।

उन्होंने कहा  भारत में आपको चयन के लिये नाम पर विचार होने के लिये भी 50 से ऊपर का औसत चाहिये। उनके पास वनडे में गहराई है लेकिन टेस्ट में नहीं। हरभजन का मानना है कि भारतीय टीम को अनावश्यक आलोचना का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा इंग्लैंड में खेलना आसान नहीं होता। आप यह नहीं कह सकते कि पिछली भारतीय टीमों ने यहंा बेहतर प्रदर्शन किया। हमने 2007 के अलावा इंग्लैंड में आखिरी बार श्रृंखला कब जीती थी। हम बहुत जल्दी आलोचना करने लगते हैं। 

हरभजन ने कहा  इंग्लैंड के हालात में ढलने में समय लगता है। कितना भी अभ्यास कर लो मैच हालात अलग होते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ओवल टेस्ट में हालात भारत के पक्ष में होंगे और दो स्पिनरों को उतारा जा सकता है।

उन्होंने कहा मुझे लगता है कि भारत अगला टेस्ट जीत सकता है और ओवल में कुछ भी हो सकता है। ओवल की विकेट भारत जैसी है जिस पर दो स्पिनरों को उतारा जा सकता है। भारत के पास ऐसे में श्रृंखला जीतने का सुनहरा मौका है। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.