इंडियन फुटबॉल टीम के प्रशंसकों को इसलिए यूएई में पक्षियों के पिजरे में किया गया बंद

Samachar Jagat | Saturday, 12 Jan 2019 10:07:53 AM
Fans of Indian football team have been stopped in pigeon of birds in UAE

दुबई। एएफसी एशियाई कप में खेल रही भारतीय फुटबॉल टीम के मेजबान यूएई के खिलाफ गुरुवार को हुए मैच से पहले भारत के प्रशंसकों को पक्षियों के पिजरे में बंद कर दिया गया था जिसका वीडियो सार्वजनिक होने के बाद अधिकारियों ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है।

अबुधाबी में खेले गए इस मैच में यूएई ने भारत को 2-0 से हराया था। इस वीडियो में पक्षियों के पिजरे में कुछ मजदूर कैद है और एक आदमी हाथ में डंडा (छड़ी) लेकर बाहर बैठा है। खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक हाथ में छड़ी लेकर आदमी मजदूरों से पूछता है कि वे किसका समर्थन कर रहे हैं तो मजदूर कहते हैं भारतीय टीम का।

इस पर वह मजदूरों को कहता है कि यह सही नहीं है क्योंकि वे यूएई में रहते है और उन्हें यूएई का समर्थन करना चाहिए। वह पिजरे पर छड़ी घुमाते हुए बंधकों से दोबारा पूछता है कि वे किसका समर्थन करेंगे इस बार मजदूरों का जवाब होता है यूएई। इसके बाद वह पिजरा खाल देता है और मजदूर बाहर निकल जाते हैं। यूएई में ऐसे मामलों में छह महीने से 10 वर्ष तक की सजा और 50,000 से 20 लाख दिरहम (13,611 डालर से 5.44 लाख डालर) तक का जुर्माना हो सकता है।

यूएई के अटॉर्नी जनरल के ऑफिस ने एक बयान में कहा कि वीडियो में कथित तौर पर एक व्यक्ति को दिखाया गया है जिसने पक्षियों के पिजरे में एशियाई मूल के कई पुरुषों को कैद कर रखा है और वह कैदियों को एएफसी एशियई कप में भारत के खिलाफ मैच में यूएई की राष्ट्रीय टीम का समर्थन करने को कह रहा है।

इस बीच इस वीडियो को यूट्यूब को पर डालने वाले ने कहा कि उसने इसे बस मजाक की तरह किया था। उसने लोगों से उसकी भावना समझने की गुजारिश करते हुए कहा कि ये सभी लोग मेरे कर्मचारी हैं। एक को मैं 22 साल से जानता हूं।

मैं इस फार्म में इन लोगों के साथ रहता हूं, हम एक ही थाली में खाना खाते है। मैंने उन्हें मारा नहीं, ना ही वास्तव में किसी को कैद किया था। गल्फ न्यूज की खबर के अनुसार शारजाह पुलिस ने वीडियो सार्वजनिक होने के बाद कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.