फीफा विश्व कप : क्या पूरा हो सकेगा 52 साल बाद इंग्लैंड का विश्व कप जीत का सपना ?

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 01:23:03 PM
FIFA World Cup: 52 years later, the dream of winning England's World Cup?

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

रेपिनो।  इंग्लैंड को क्र्वाटर फाइनल में आसान चुनौती स्वीडन टीम के रूप में मिली है। जबकि स्वीडन उलटफेल में माहिर जाना जाता है। शनिवार को होने वाले मैच में इंग्लैंड को काफी सजग होकर खेलना होगा जब जीत का स्वाद चख सकेंगे।

साथ ही  पिछले 52 साल से विश्वकप जीतने का सपना पूरा हो सकेगा मिली जानकारी के अनुसार, स्वीडन की टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ पिछले आठ प्रतिस्पर्धी मुकाबलों में से सिर्फ एक गंवाया है।

मास्को में तनावपूर्ण माहौल में खेले गए अंतिम 16 के मुकाबले में कोलंबिया को पेनल्टी शूट आउट में हराने के बाद इंग्लैंड के हौसले बुलंद है। डिफेंडर जान स्टोनेस ने कहा है कि हम खिताब जीतने के इरादे से आए हैं।

नडाल, जोकोविच आगे बढ़े, जबकि सिलिच बाहर

हमने लंबा इंतजार किया है। हम अपने देशवासियों को गर्व करने का मौका देना चाहते हैं। इंग्लैंड ने 1966 में विश्व कप जीता था। चार साल पहले ब्राजील में हुए विश्व कप से टीम जल्दी बाहर हो गई थी।

यूरो 2016 में आइसलैंड से हार गई थी । जेरेथ साउथगेट की टीम की लोकप्रियता का आलम यह है कि मई में हुई शाही शादी से ज्यादा दर्शक उसके फुटबॉल मैचों को मिल रहे हैं। कोलंबिया के खिलाफ मैच दो करोड़ 36 लाख लोगों ने देखा।

त्रिकोणीय टी-20 सीरीज: पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को 45 रन से दी शिकस्त

स्टोनेस ने कहा है कि हमें खुशी है कि लोग हमारे साथ हैं। मुझे अपने दोस्तों से तस्वीरें मिल रही है कि लोग देश भर में जगह-जगह मैच देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वीडन के खिलाफ आत्ममुग्धता से बचना होगा।

क्वार्टर फाइनल उतना भी आसान नहीं होगा जितना समझा जा रहा है। यह विश्व कप है और कोई टीम खराब नहीं है। दूसरी ओर स्वीडन ने क्वालीफाइंग दौर में इटली और नीदरलैंड को हराकर विश्व कप में जगह बनाई है। जर्मनी के बाहर होने के बाद ग्रुप एफ में स्वीडन शीर्ष पर रहा था। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.