गौतम गंभीर ने दिया ये बड़ा बयान, कहा-BCCI या तो पाकिस्तान से पूरी तरह नाता तोड़े या हर स्तर पर खेले 

Samachar Jagat | Monday, 18 Mar 2019 06:33:33 PM
Gautam Gambhir said this big statement

नई दिल्ली। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने सोमवार को कहा कि बीसीसीआई या तो पाकिस्तान के साथ सारे क्रिकेट संबंध तोड़ ले या हर स्तर पर उसके साथ खेले क्योंकि सशर्त प्रतिबंध नहीं हो सकता। पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के साथ हर स्तर पर संबंध तोड़ने की मांग करने वाले गंभीर ने कहा कि भारतीय बोर्ड को तय करना है और उसके परिणाम झेलने के लिए तैयार रहना होगा।

हाल ही में पद्मश्री से नवाजे गए गंभीर ने फनगेज डाट काम के प्रचार कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से कहा कि सशर्त प्रतिबंध नहीं हो सकता । या तो पाकिस्तान के साथ पूरे क्रिकेट संबंध तोड़ लिये जायें या हर स्तर पर खेले। पुलवामा में जो हुआ, वह कतई स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत के लिए आईसीसी टूर्नामेंटों में पाकिस्तान का बहिष्कार कर पाना मुश्किल होगा लेकिन एशिया कप में हम उनसे नहीं खेलें।

गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान के साथ हर स्तर पर ताल्लुकात खत्म होने चाहिए भले ही खेल जगत इसका बहिष्कार कर दे। 
बीसीसीआई ने आईसीसी से अपील की थी कि आतंक को पनाह देने वाले देशों से ताल्लुक तोड़ लिए जाए लेकिन आईसीसी बोर्ड ने दुबई में हुई बैठक में यह अनुरोध खारिज कर दिया। 

गंभीर ने इंग्लैंड का हवाला दिया जिसने राबर्ट मुगाबे सरकार के खिलाफ विरोध के तहत जिम्बाब्वे के साथ राउंड राबिन मैच नहीं खेला था। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड ने 2003 में ऐसा किया और वे जिम्बाब्वे नहीं गए। बीसीसीआई अगर पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने का फैसला लेता है तो दो अंक गंवाने के लिए मानसिक तौर पर तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं और संभव है कि हम सेमीफाइनल में क्वालीफाई नहीं कर सके। मीडिया को भारतीय टीम को दोष नहीं देना चाहिए अगर वह पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलती है तो।

यह पूछने पर कि फाइनल में दोनों टीमों की टक्कर होने पर क्या होगा, गंभीर ने कहा कि ऐसे में भारत को फाइनल छोड़ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि दो अंक अहम नहीं है। देश अहम है। जिन 40 जवानों ने शहादत दी, वे क्रिकेट मैच से अधिक महत्वपूर्ण थे। यदि हम विश्व कप फाइनल भी छोड़ देते हैं तो देश को इसके लिए तैयार रहना चाहिए। गंभीर ने कहा कि समाज का एक तबका कहता है कि खेलों को राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिये लेकिन जवान क्रिकेट के खेल से अधिक अहम हैं।

लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट मिलने की अटकलों के बीच गंभीर ने कहा कि अभी उन्होंने इस बारे में सोचा नहीं है। उन्होंने कहा कि पूरी जिंदगी मैं क्रिकेट खेलता रहा। मैने लोगों से सुना है कि पूर्णकालिक राजनीति इंसान को बदल देती है। मेरी दो छोटी बेटियां है और मुझे उनके साथ समय बिताना है। मैंने भी अटकलें सुनी है लेकिन मैं फिलहाल आईपीएल के दौरान स्टार स्पोटर्स पर कमेंट्री कर रहा हूं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.